सर्दी जुकाम में कैसा हो खानपान

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Nov 25, 2015
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • मौसम के बदलाव से हो जाता है सर्दी-जुकाम।
  • कमजोर प्रतिरोधक क्षमता में कमी मुख्य कारण।
  • खाने में डालें दालचीनी, तेजपत्ता और लौंग आदि।
  • दूध, दही, चावल आदि का सेवन ना करना भ्रांति।

सर्दी-जुकाम ज्यादातर वायरल इऩफेक्शन की वजह से होता है, जो कि हवा के जरिये फैलता है।दरअसल जब हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता वायरस को नष्ट करने के लिए संघर्षरत होती है, तभी उसके परिणामस्वरूप सर्दी-जुकाम, सिरदर्द और बु़खार जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। बदलते मौसम में ऐसी समस्या ज्यादा होती है। जुकाम होने पर अपने खानपान का विशेष ध्यान रखें। हलका और सुपाच्य भोजन करें। साथ ही वह ता़जा और गरम हो।  अपने भोजन में तरल पदार्थो की मात्रा बढ़ाएं, इससे आपको शीघ्र स्वस्थ होने में मदद मिलेगी। अगर आपको आपके घर में किसी को सर्दी-जुकाम हो तो आप अपने घर में जो भी खाना बनाएं, उसमें बड़ी इलायची, लौंग, काली मिर्च, दालचीनी, तेजपत्ता और अदरक जैसे गरम मसालों का इस्तेमाल पर्याप्त मात्रा में करें। इन मसालों में सर्दी-जुकाम ठीक करने की क्षमता होती है।

इन भ्रामक धारणाओं से बचे   

कुछ लोग ऐसा मानते हैं कि सर्दी-जुकाम में फल खाना नुकसानदेह होता है। यह धारणा बिल्कुल गलत है। सर्दी-जुकाम में आप सभी तरह के फल खाए जा सकते हैं। संतरा, नीबू और मौसमी जैसी खट्टे फल इस समस्या को दूर करने में सहायक होते हैं क्योंकि इन फलों में मौजूद विटमिन सी सर्दी-जुकाम को दूर करने में सहायक होता है। दूध, दही, चावल व ब्रेड जैसी ची़जें कफ की मात्रा बढ़ा देती हैं, यह धारणा बिल्कुल गलत है। इनका सर्दी-जुकाम से कोई संबंध नहीं होता। आप इन्हें आराम से खा सकती हैं बशर्ते कि इन्हें फ्रिज में न रखा गया हो। सर्दी-जुकाम के दौरान स्वादिष्ट और चटपटा खाने का मन करता है, लेकिन सेहतमंद आहार भी जरूरी है। इसलिए आपकी इसी जरूरत को ध्यान में रखते हुए, डाइटीशियन की सलाह पर बताई जा रही है कुछ रेसिपी़ज आपको।

हॉट एंड सॉर वेजटेबल सूप  

सामग्री:  50 ग्राम पत्तागोभी, 50 ग्राम गाजर, 50 ग्राम मशरूम, 50 ग्राम बैंबूशूट, 25 ग्राम बीन स्प्राउट, 25 ग्राम स्पि्रंग अॅनियन, 15 ग्राम सोया सॉस, 10 ग्राम विनेगर माल्ट, 10 ग्राम अजीनोमोटो, 10 ग्राम नमक,25 ग्राम कॉर्ऩफ्लोर, 2 कप वेज स्टॉक, 10 ग्राम काली मिर्च पाउडर। इसको बनाने के लिए पत्तागोभी, गाजर, मशरूम और बैंबूशूट को बारीक कतर लें। कड़ाही में स्टॉक डालकर गर्म करें और कतरी हुई सब्जियां, बीन स्प्राउट डालकर एक उबाल दें फिर सोया सॉस, नमक और काली मिर्च मिलाएं। एक कप ठंडे पानी में कॉर्ऩफ्लोर घोल कर अलग से रख लें। जब स्टॉक खौलने लगे तो सूप को गाढ़ा करने के लिए उसमें कॉर्ऩफ्लोर का घोल मिलाएं और लगातार चलाती रहें ताकि गुठली न बनने पाए। माल्ट विनेगर मिलाकर सूप को आंच से उतार लें। कतरे हुए स्पि्रंग अॅनियन से सजाकर गर्म-गर्म सर्व करें। इसमें कुल कैलरी : 284, प्रोटीन : 28, कार्बोहाइड्रेट :  21, वसा :  22.5 पायी जाती है।

 

 

मिनिस्ट्रोनी सूप

सामग्री: 8 ग्राम गाजर, 8 ग्राम बंदगोभी, 8 ग्राम लीक, 4 ग्राम सेलरी, 8 ग्राम जुकीनी, 8 ग्राम कतरा हुआ प्याज, 4 ग्राम बारीक कतरा हुआ लहसुन, 8 ग्राम बींस, 8 ग्राम हरी मटर, 3 ग्राम (एक टेबल स्पून) ऑरेगैनो या रोजमेरी, 10 ग्राम मक्खन, 15 ग्राम स्पैगेटी, 5 ग्राम बेसिल, 4 टेबल स्पून टोमैटो प्यूरी, स्वादानुसार नमक, काली मिर्च, 350 मिली. वेजटेबल स्टॉक, 2 टी स्पून ऑलिव ऑयल। इसको बनाने के लिए सभी सब्जियों को धोकर काट लें।  एक पैन में ऑलिव ऑयल डालकर गर्म करें। प्याज-लहसुन डालें और हलका गुलाबी होने तक चलाते हुए भूनें।  फिर सभी सब्जियां डालकर दो मिनट तक पकाएं। वेजटेबल स्टॉक और प्यूरी डालकर चलाएं। काली मिर्च, नमक डालें। अच्छी तरह चलाएं और आंच से उतार लें। सूप बोल में डालकर गरमागरम सर्व करें। इसमें कुल कुल कैलरी : 260, प्रोटीन : 36, कार्बोहाइड्रेट :  40.11,वसा :  27.4,स्मोक्ड फिश पायी जाती है।

 

फिश सूप

सामग्री: 2 हिलसा मछली के टुकड़े, 35 मिली. नीबू का रस, 60 ग्राम सरसों का पेस्ट, 25 ग्राम हलदी, 25 ग्राम खट्टा दही, 35 मिली. सरसों का तेल, 4-5 टुकड़े केले के पत्ते, स्वादानुसार नमक।इसको बनाने के लिए एक टेबल स्पून नमक और नीबू का रस मछली के टुकड़ों पर लगाकर पंद्रह मिनट के लिए अलग रख दें। एक स्टेनलेस स्टील के बोल में हलदी, दही, नमक, सरसों का तेल और पेस्ट मिलाकर, मेरिनेशन मिश्रण तैयार करें। केले के पत्तों को अच्छी तरह धोकर अलग रखें। फिर मेरिनेशन की सामग्री को मछली पर लगाएं। प्रत्येक टुकड़े को केले के पत्तों में लपेटकर 20 मिनट तक स्टीम दें। बाहर निकालकर ठंडा करें। अब मछली के बीचोंबीच एक लंबा चीरा लगाएं और ते़ज धार वाले चाकू से कांटा निकाल दें। एक बार दोबारा चीरा लगाकर सभी कांटों को निकालने की कोशिश करें। अब दोबारा मछली के टुकड़ों केले के पत्तों में लपेटकर 5-8 मिनट तक स्टीम करें और गरमागरम सर्व करें।

अपने खाने में लाल मिर्च का ज्यादा इस्तेमाल न करें। आइसक्रीम, कोल्डड्रिंक और फ्रिज के पानी से बचें। बहुत ज्यादा घी-तेल से बनी ची़जें न खाएं।


Image Source-Getty

Read More Article on Cold in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES35 Votes 23860 Views 1 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

टिप्पणियाँ
  • ashok21 Jun 2012

    my sister suffering from winter-conld near about 6 year,maximam treatment was faild,she is 21 year unmarried girl.what shall do.pls give advoice to home treatment.thanku

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर