नवरात्रि व्रत में आपको दिनभर तरोताजा रखेंगी ये 4 रेसिपी

By  , ओन्‍ली माई हैल्‍थ सम्पादकीय विभाग
Mar 23, 2017
Comment

हेल्‍थ संबंधी जानकारी के लिए सब्‍सक्राइब करें

Like onlymyhealth on Facebook!

Quick Bites

  • ये व्रत की रेसिपीज बनाने में आसान और पोषक तत्वों से भरपूर होती हैं।
  • फ्राई आलू बनाने में आसान होने के कारण कई घरों में बनाया जाता है।
  • फलों का रायता नवरात्रि के दौरान सबसे ज्यादा खाया जाने वाला भोजन है।

चाहे युवा पीढ़ी हो या बड़े लोग, नवरात्रि की श्रद्धा आपको हर वर्ग के लोगों में देखने को मिल जाएगी। नवरात्रि का व्रत भी दोनों पीढ़ी के लोग पूरी श्रद्धा के साथ करते हैं। इससे स्वास्थ्य भी अच्छा रहता है और बाहर की कुछ भी चीजें खाने की आदत पर भी कुछ दिनों में ब्रेक लग जाता है। लेकिन इन व्रतों को ऐसे ही नहीं रख लिया जाता। व्रत रखने के दौरान कई सारी हिदायतों का पालन करना होता है। व्रत के दौरान केवल शुद्ध भोजन ही ग्रहण करना चाहिए। ऐेसे में मार्केट में मिल रहे व्रत के खाने पर बड़े लोगों को जल्दी विश्वास नहीं होता। जिस कारण आपके लिए ये 4 महत्वपूर्ण व्रत की रेसिपीज काफी लाभदायक सिद्ध हो सकती हैं। इन्हें बनाना भी आसान है। ये स्वाद में भी स्वादिष्ट होती हैं और स्वास्थ्य की दृष्टि से पौष्टिक भी।

पोटैटो

फ्राई आलू

व्रत के दौरान फ्राई आलू सबसे ज्यादा पसंद किया जाने वाला व्यंजन है। इसे बनाना भी आसान है और ये ऊर्जा का महत्वपूर्ण स्रोत भी है। 4-5 आलू उबाल लीजिए और उसके छिलके उतारने के बाद उन्हें 4-6 टुकड़ों में काट लीजिए। एक कढ़ाई में थोड़ा सा तेल गर्म कर जीरा डालिए। जीरा तड़कने के बाद आलू, नमक और आधा छोटी चम्मच काली मिर्च डालकर आलू 2-3 मिनट तक भूनिये, गैस बन्द कर दीजिये, हरा धनिया और एक नींबू का रस डाल कर मिलाइये। व्रत के आलू तैयार हैं। माता को भोग लगाकर परिवारजनों के साथ खाइए।

इसे भी पढ़ें : नवरात्र के आहार में संयम जरूरी

कट्टू के आटे का चीला

व्रत के दरान कई घरों में कट्टू के आटे का इस्तेमाल भोजन के लिए किया जाता है। कूटू के आटे से व्रत के लिये तरह-तरह के व्यंजन बनाये जाते हैं। इन व्यंजनों में कूट्टू के आटे का चीला बहुत से लोगों द्वारा पसंद किया जाता है। इसे घर में बनाने के लिए 100 ग्राम (आधा कप) कूट्टू का आटा छान कर किसी बर्तन में निकाल लीजिये। 200 - ग्राम  अरबी धोकर उबाल लीजिये।  अरबी को छील कर, कद्दूकस करके, मैस कर लीजिये।  कूट्टू के आटे में मिलाइये, थोड़ा-थोड़ा पानी डालकर, आटे को घोलते जाइये, गुठलियां नहीं पड़नी चाहिये। घोल को अधिक गाढ़ा और अधिक पतला मत कीजिये। घोल को 15  मिनट के लिये ढककर रख दीजिये।

घोल में 1 छोटा चम्मच नमक, आधा छोटा चम्मच काली मिर्च और एक टेबल स्पून कतरा हुआ हरा धनिया मिला लीजिये। तवा गैस पर रखिये, गरम कीजिये, एक बड़ा चमचा घोल तवे पर डालिये और चमचे से गोल गोल चलाते हुये पतला चीला फैलाइये। चीले की नीचली सतह ब्राउन होने तक सेक कर पलट दीजिये। दूसरी तरफ भी ब्राउन होने तक सेकिये।  चीला तवे से उतारकर प्लेट में रखी कटोरी के ऊपर रखिये। सारे चीले इसी तरह बनाकर तैयार कर लीजिये। कूट्टू के चीले तैयार हैं इन्हैं आप गरम गरम फ्राई आलू या दही के साथ खाइये।


fruit and yougurt

फलों का रायता

अगर व्रत के दौरान आप फलों का रायता खाते हैं तो आपको और कोई पौष्टिक खाने की जरूरत नहीं होगी। क्योंकि न तो इसे बनाने में तेल का इस्तेमाल किया जाता है और न ही गैस खर्च होती है। इसे बनाना भी बहुत आसान है। यह आपको पूरे दिन तरोताजा रखता है और आपके पाचन शक्ति को कमजोर भी नहीं होने देगा। 1 केले के मोटे-मोटे गोल टुकड़े काट लीजिये। 1 सेब को छोटे-छोटे टुकड़े काट लीजिए। 40-50 अंगूर लें और खरबूज के छोटे-छोटे टुकड़े लें। 400 ग्राम (2 कप) दही को 100 ग्राम मलाई और 2 -3 टेबल स्पून चीनी मिला कर फेंट लीजिये। सारे तैयार फल दही में मिलाइये। 2 इलायची छील कर बारीक कूट लीजिये और रायते में मिला दीजिये। रायते को ठंडा होने के लिये फ्रिज में रख दीजिये। फलों का रायता तैयार है, ठंडा खुशबू दार रायता परोसिये और खाइये। फलों का रायता बनाने के लिये आप अपने मन पसन्द कोई भी फल ले सकते हैं और कोई भी हटा सकते हैं।


इसे भी पढ़ें : स्‍वास्‍थ्‍य के लिए व्रत का आहार

कुट्टू की पकौड़ी

इसी तरह कुट्टू की पकौड़ी व्रत के दौरान कुछ चटकदार खाने का मन करने के समय खाई जाती है। इसे बनाने के लिए 150 ग्राम कुट्टू का आटा, 100 ग्राम कच्चा कद्दू, 2 आलू, 1 चम्मच हरीमिर्च-अदरक का पेस्ट, सेंधा नमक और काली मिर्च पाउडर स्वादानुसार, तलने के लिये घी। कद्दू और आलू को छीलकर कस लें। कुट्टू के आटे में पानी डालकर पकौड़ी के घोल की तरह गाढ़ा घोल लें, इस घोल में अदरक-हरी मिर्च का पेस्ट और नमक मिलाएं। साथ ही कसा हुआ आलू और कद्दू भी डाल दें। कड़ाही में घी गर्म करें, जब घी गर्म हो जाये तो उसमें इस घोल की छोटी-छोटी पकौड़ियां डालकर तल लें। फिर इसे हरे धनिये की चटनी के साथ परोसें।

ये चार रेसिपीज व्रत के दौरान आप बना कर खा सकते हैं। ये बनाने में आसान होते हैं और इन्हें खाने से आपको जल्दी भूख भी नहीं लगेगी।

इस लेख से संबंधित किसी प्रकार के सवाल या सुझाव के लिए आप यहां पोस्‍ट/कॉमेंट कर सकते हैं।

ऐसे अन्य स्टोरीज के लिए डाउनलोड करें: ओनलीमायहेल्थ ऐप
Read More Articles on Healthy Eating in Hindi

Write a Review Feedback
Is it Helpful Article?YES80 Votes 13213 Views 0 Comment
प्रतिक्रिया दें
disclaimer

इस जानकारी की सटिकता, समयबद्धता और वास्‍तविकता सुनिश्‍चित करने का हर सम्‍भव प्रयास किया गया है । इसकी नैतिक जि़म्‍मेदारी ओन्‍लीमाईहैल्‍थ की नहीं है । डिस्‍क्‍लेमर:ओन्‍लीमाईहैल्‍थ पर उपलब्‍ध सभी साम्रगी केवल पाठकों की जानकारी और ज्ञानवर्धन के लिए दी गई है। हमारा आपसे विनम्र निवेदन है कि किसी भी उपाय को आजमाने से पहले अपने चिकित्‍सक से अवश्‍य संपर्क करें। हमारा उद्देश्‍य आपको रोचक और ज्ञानवर्धक जानकारी मुहैया कराना मात्र है। आपका चिकित्‍सक आपकी सेहत के बारे में बेहतर जानता है और उसकी सलाह का कोई विकल्‍प नहीं है।

संबंधित जानकारी
  • सभी
  • लेख
  • स्लाइडशो
  • वीडियो
  • प्रश्नोत्तर