प्रेग्नेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क्स (Stretch Marks) को दूर करेंगे ये 5 योगासन, एक्सपर्ट से जानें तरीका

प्रेग्नेंसी के बाद पेट व शरीर पर रह जाते हैं स्ट्रेच मार्क्स, योगा एक्सपर्ट से जानें योग कर इसे कैसे हटाएं व कम किया जाए। आसनों के बारे में जानें।

Satish Singh
Written by: Satish SinghUpdated at: Aug 16, 2021 13:59 IST
प्रेग्नेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क्स (Stretch Marks) को दूर करेंगे ये 5 योगासन, एक्सपर्ट से जानें तरीका

प्रेग्नेंसी के समय और प्रेग्नेंसी के बाद स्ट्रेच मार्क रह जाते हैं। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि मां की कोख में शिशु जैसे-जैसे विकसित होते जाता है, उसी प्रकार महिलाओं के पेट के निचला हिस्सा भी फैलते जाता है। स्किन फैलने की वजह से ही महिलाओं को स्ट्रेच मार्क होता है। जो शिशु के जन्म लेने के बाद रह जाता है। यह स्ट्रेच मार्क देखने में अच्छे नहीं लगते हैं। इस कारण महिलाएं  कई ड्रेस चाहकर भी नहीं पहन पाती। तो आइए इस आर्टिकल में हम इसी स्ट्रेच मार्क को योगासन की मदद से हटाने व कम करने की बात करते हैं। द योगा इंस्टीट्यूट ऑफ जमशेदपुर की डॉ. एच योगेंद्र से बात कर चार योगासनों के बारे में जानेंगे, जिसे कर स्ट्रेच मार्क से छुटकारा पाया जा सकता है। 

स्ट्रेच मार्क्स नुकसानदेह हैं या नहीं 

योगा एक्सपर्ट डॉ. एच योगेंद्र बताते हैं कि स्ट्रेच मार्क नुकसानदेह नहीं होते हैं। शिशु के जन्म के बाद महिलाओं में काफी परिवर्तन दिखता है। कुछ महिलाएं मोटापे की शिकार होती हैं तो कुछ कमजोर हो जाती हैं वहीं कुछ में स्ट्रेच मार्क जैसी समस्याएं आती हैं। स्ट्रेच मार्क के होने से लुक प्रभावित होता है। पेट के नीचे की चर्बी झूल जाती है। कई महिलाएं हैं जो इन्हीं स्ट्रेच मार्क को लेकर काफी चिंतित होती हैं। होना भी चाहिए। वो चाहतीं हैं कि इस समस्या का समाधान हो। इन स्ट्रेच मार्क को योग के द्वारा आसानी से लाइट करने के साथ कम किया जा सकता है। 

योग आसन कर पाएं स्ट्रेच मार्क से मुक्ति

डॉ. एच योगेंद्र बताते हैं कि वैसे तो कई महिलाएं स्ट्रेच मार्क हटाने के लिए तेल या फिर क्रीम आदि का इस्तेमाल करतीं हैं। लेकिन मेरा सुझाव यही है कि प्राकृतिक तत्वों का इस्तेमाल करके ही स्ट्रेच मार्क हटाना चाहिए। इसके अलावा महिलाएं योग आसन की मदद से स्ट्रेच मार्क हो हटा सकती हैं। क्योंकि योग से शरीर का ब्लड सर्कुलेशन अच्छा होता है। इससे शरीर प्राकृतिक तरीके से ठीक होता है। प्रभावित जगह पर जितना ज्यादा ब्लड की सप्लाई होती उतना ही अधिक समस्या का समाधान होगा। 

Vipritkarni

विपरित करनी (Vipritkarni) आसन को करें

यदि आपके पेट के निचले हिस्से में स्ट्रेच मार्क हैं तो योगा एक्सपर्ट बताते हैं कि वैसे योग को करना चाहिए जिससे एब्डॉमिन (पेट के निचले) हिस्से में ज्यादा से ज्यादा ब्लड सर्कुलेशन हो। इससे समस्या का समाधान होता है। इसके लिए विपरित करनी आसन करना चाहिए। 

इसे भी पढ़ें : क्रोंचासन योग का अभ्यास करने से शरीर को मिलते हैं ये 5 फायदे, जानें करने का तरीका

इस आसन को करने की विधि

  • इस आसन को करने के लिए सबसे पहले जमीन पर योगा मैट बिछाकर लेट जाएं
  • फिर अपने पैरों व हाथों को साधा रखें
  • अब दोनों पैरों को, नितंब को ऊपर की ओर धीरे-धीरे उठाएं
  • दोनों हाथों को जमीन पर टेक लगाकर कमर को सपोर्ट दें
  • इस दौरान सांस लेते रहें
  • जिनती देर हो पाए उतना करें फिर धीरे-धीरे घुटनों को मोड़े, हाथों को हटाएं व आराम मुद्रा में आ जाएं
  • योगासन करने के बाद एक मिनट तक आराम करें
  • आप चाहें तो इसे दो से तीन मिनटों तक कर सकते हैं

जांघ के स्ट्रेच मार्क को कम करने के लिए उत्कटासन (Utkatasana)

एक्सपर्ट बताते हैं कि शिशु के जन्म के बाद महिलाओं के जांघ के आसपास भी स्ट्रेच मार्क हो जाते हैं। इसे भी योग के सहारे कम किया जा सकता है। इसके लिए उत्कटासन करना चाहिए। इसके अलावा महिलाओं को हस्त पादांगुशष्ठासन (Hastapadangushtasana) की सलाह दी जाती है। 

जानें कैसे करें उत्कटासन

  • उत्कटासन करने के लिए अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा फासला बनाकर खड़ें हो जाएं
  • हाथों को सामने की ओर ले जाते हुए हथेली को जमीन की ओर रखें, कुहनियों को सीधा रखें
  • फिर घुटने को मोड़ते हुए नीचे की ओर ले जाएं व माने कि किसी कुर्सी पर बैठे हों व हवा में बैठें
  • कोशिश करें कि जितना संभव हो इस आसन में बने रहें व हाथों को जमीन के समानांतर ही रखें
  • ध्यान रखें कि रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें
  • आसन समाप्त करने के लिए धीरे-धीरे कर सुखासन की मुद्रा में बैठ जाएं अगर आप चाहें तो पीठ के बल भी लेट सकते हैं। इसके बाद आपको आराम करना चाहिए

हस्त पादांगुशष्ठासन करने की विधि

  • इसे करने के लिए जमीन पर लेट जाएं
  • एक तरफ करवट लेकर दोनों हाथों को ऊपर की ओर ले जाएं
  • यदि आपने दाएं तरफ करवट ली है तो बाएं हाथ व बाएं पैर को धीरे-धीरे उठाएं
  • दोनों को ऊपर उठाने के बाद हाथ से पैर की अंगुलियों को छुएं
  • फिर वापस उसी मुद्रा में आ जाएं
  • ठीक ऐसा ही दूसरी ओर करवट लेकर करें
Sarawangasana

सर्वांगासन (Saravangasana) कर शरीर के ऊपरी हिस्से के मार्क को हटाएं

योगा एक्सपर्ट बताते हैं कि ऐसा नहीं है कि शिशु के जन्म होने के बाद शरीर के सिर्फ निचले हिस्से में ही स्ट्रेच मार्क आते हैं। बल्कि शरीर के ऊपरी हिस्सों में भी स्ट्रेच मार्क आ सकते हैं। इसके लिए सर्वांगासन करना चाहिए। एक्सपर्ट बताते हैं कि इस आसन को हाई ब्लड प्रेशर, ग्लूकोमा, थायरायड और गर्दन व कंधे में जिनको चोट लगी होती है उन लोगों को इस आसन को करने की सलाह नहीं दी जाती है। 

इसे भी पढ़ें : वर्किंग लोग रोज सुबह 20 मिनट निकालकर घर पर करें ये 4 योगासन, माइंड-बॉडी दोनों रहेंगे दुरुस्त

जानें इस आसन को कैसे करें

  • सबसे पहले अपने पीठ की बल लेट जाएं
  • धीरे-धीरे कर पीठ, कमर, कूल्हे को ऊपर की ओर उठाएं, सारा भार अपने कंधों पर ले जाएं, फिर अपनी पीठ को हाथों से सहारा दें
  • हाथों को पीठ के साथ रखें व कंधों को सपोर्ट करें। अब अपनी कमर व पैरों को सीधा करें, अब पूरा शरीर आपके कंधों व हाथों के ऊपरी हिस्से पर होगा
  • अब आपरे पैर ऊपर की ओर होंगे व पैरों की अंगुलियों को नाक की सीध में ले जाएं व ध्यान रहे कि गर्दन पर वजन न पड़े, अपनी गर्दन को मजबूत रखें व उसकी मांसपेशियों को सिकोड़ लें
  • अपनी छाती को ठोड़ी से लगा लें, इस मुद्गा में यदि आपको तनाव महसूस हो रहा हो तो बाहर आ जाएं
  • इस आसन में रहने के लिए 30 सेकेंड तक रहें
  • आसन से बाहर आने के लिए घुटनों को धीरे से माथे के पास ले जाएं व हाथों को जमीन पर रखें व बिना सिर उठाए धीरे-धीरे कमर को नीचे कर लें। पैरों पर जमीन पर रख एक मिनट तक आराम करें

इन योगासन को करने के पहले योग प्रशिक्षक से लें ट्रेंनिंग

इन तमाम योगासन को करके आप शरीर के प्रभावित अंगों में ब्लड सर्कुलेशन का प्रवाह कर सकते हैं। लेकिन इसके हले जरूरी है कि योग प्रशिक्षक से ट्रेनिंग ले लिया जाए। क्योंकि हर व्यक्ति का शरीर अलग होता है, कई लोगों को बीमारी होती है तो कई निरोग रहते हैं। आप अच्छे से योग करें इसके लिए पहले एक्सपर्ट के निर्देशन में योग करना सही रहता है। ताकि जहां भी आप गलती कर रहे हों योग प्रशिक्षक आपकी गलतियों को सुधारें।

Read More Articles On Diet And Fitness In Yoga

Disclaimer