फ्लैट फुट और एड़ी के दर्द की समस्या में करें ये योग, मिलेगा फायदा

Yoga for Flat Floot : सपाट पैरों की समस्या में आप कुछ खास योगासन का अभ्यास कर सकते हैं। इससे एड़ी में दर्द की परेशानी भी नहीं होती है।

Dipti Kumari
Written by: Dipti KumariPublished at: Aug 02, 2022Updated at: Aug 02, 2022
फ्लैट फुट और एड़ी के दर्द की समस्या में करें ये योग, मिलेगा फायदा

कई लोगों के पैर के तलवे का आर्च सपाट होता है, तो इसे सपाट पैर या फ्लैट पैर कहते हैं। ये समस्या बचपन में पैरों का सही से विकास न हो पाने के कारण होता है। इसके अलावा कई बार चोट लगने या उम्र बढ़ने की बजाय से सपाट पैरों की दिक्कत हो सकती है। सपाट पैरों के कारण आपको चलने, दौड़ने और अधिक देर तक खड़े रहने में भी परेशानी हो सकती है। इससे आपके घुटनों में भी परेशानी हो सकती है। हालांकि इससे आपको कोई खास परेशानी नहीं होती है लेकिन इससे एड़ी में दर्द की परेशानी हो सकती है। सपाट पैरों की परेशानी और एड़ी के दर्द से बचने के लिए आप घर पर ही योग कर सकते हैं। इससे आपको भी काफी फायदा मिल सकता है।

सपाट पैरों के लिए योग

1. त्रिकोणासन 

इस आसन को करने से आपके शरीर का संतुलन बढ़िया रहता है। इससे आपके पैरों की मांसपेशियों में आराम मिलता है और एड़ी का दर्द भी ठीक हो सकता है। इससे आपका पाचन तंत्र भी ठीक हो सकता है और आप स्ट्रेस फ्री अनुभव करते हैं। त्रिकोणासन करने के लिए आप सबसे पहले सांस लेते हुए अपने दोनों पैरों को लगभग 3 फीट की दूरी तक ले जाएं। पीठ सीधी करें और दोनों हाथों को फैलाएं। इसके बाद दाईं तरफ झुकते जाइए जब तक दोनों हाथ एक सीध में न हो जाएं। ऐसे ही आप बाईं तरफ झुकते जाए, जब तक दोनों हाथ एक सीध में न आ जाए। 

Yoga-for-flat-foot

2. उत्कटासन

उत्कटासन करने से आपके पैरों की नसों को आराम मिलता है। शरीर का पूरा भार पैरों पर रहता है, जिससे आपको संतुलन बनाने में आसानी होती है। इसके लिए सबसे पहले आप सीधे खड़े हो जाएं। गहरी सांस लेते हुए अपने दोनों हाथों को ऊपर उठाएं। आप दोनों हाथों को सीधा भी रख सकते हैं या दोनों पंजों को मिला भी सकते हैं। सांस छोड़ते हुए घुटनों के बल पर थोड़ा झुक जाएं और शरीर से चेयर के आकार बना लें। इस आसन को आप करीब 30 सेकंड से लेकर 1 मिनट तक कर सकते हैं। सांस लेते हुए पहले घुटने सीधा करें और फिर सांस छोड़ते हुए हाथ नीचे कर लें। इससे आपको काफी आराम मिल सकता है। 

3. ताड़ासन

ताड़ासन का अभ्यास करने से आपके पैरों और जांघों में होने वाला दर्द कम हो सकता है। इससे आपकी एड़ी में दर्द और सूजन की दिक्कत नहीं होती है। घुटनों के दर्द और पोश्चर सुधारने में भी मदद मिल सकती है। ताड़ासन का अभ्यास करने के लिए पहले जमीन पर सीधे खड़े हों। दोनों पैरों को मिलाकर कर रखें और दोनों हाथों को कमर से चिपकाकर रखें। धीरे-धीरे हाथों को उठाकर सिर के ऊपर ले जाएं। पैर की एड़ी को थोड़ा सा उठकर पंजों के बल खड़े हो जाएं। हाथों की उंगलियों को मिलाकर हाथ के पंजों को ऊपर की ओर मोड़ें।

इसे भी पढे़ं- टखने में दर्द के लिए योग: एंकल के दर्द से राहत के लिए करें ये 5 योगासन, जानें अन्य फायदे

4. वीरभद्रासन 

वीरभद्रासन करने से आपके कमर, पीठ और कंधे मजबूत होते हैं। साथ ही आपके पैरों की अतिरिक्त चर्बी भी कम हो सकती है। जांघों और घुटनों की समस्या दूर हो सकती है। इसके लिए आप सांस अंदर लेते हुए दोनों पैरों को तीन फीट की दूरी पर रखें। दाएं घुटने के बल पर दाएं पैर को इतना मोड़ें की बायां पैर बिल्कुल सीधा हो जाए। दोनों हाथों को ऊपर करके पंजों को आपस मिलाएं। 

yoga-for-heel-pain

5. सुखासन

सुखासन के अभ्यास से आपको मानसिक शांति के साथ-साथ स्थिरता का भी अनुभव होता है। इससे पैरों को काफी आराम मिलता है और एड़ी का दर्द भी कम हो सकता है। सुखासन करने के लिए सबसे पहले जमीन पर सीधे खड़े हो जाएं। दोनों पैरों को एक साथ मिलाकर रखें और दोनों हाथों को कमर से चिपकाकर रखें। धीरे-धीरे हाथों को उठाकर सिर के ऊपर ले जाएं। पैर की एड़ी को थोड़ा सा उठकर पंजों के बल खड़े हो जाएं। हाथों की उंगलियों को मिलाकर हाथ के पंजों को ऊपर की ओर मोड़ें।

(All Image Credit- Freepik.com)

Disclaimer