Doctor Verified

World Alzheimer's Day: चीजें भूलना और कमजोर याददाश्त है अल्जाइमर रोग का संकेत, डॉक्टर से जानें इसका इलाज

Alzheimer's Disease Treatment: अल्जाइमर रोग में लोगों की याददाश्त कमजोर होने लगती है और वे चीजें भूलने लगते हैं, जानें अल्जाइमर का इलाज।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Sep 21, 2022Updated at: Sep 21, 2022
World Alzheimer's Day: चीजें भूलना और कमजोर याददाश्त है अल्जाइमर रोग का संकेत, डॉक्टर से जानें इसका इलाज

Alzheimer's Disease Treatment In Hindi: बहुत बार ऐसा होता है कि लोग हाल ही में हुई बातचीत, गतिविधियों या चीजों को रखकर भूल जाते हैं, या चिड़चिड़ापन महसूस करते हैं। आमतौर पर इसका कारण शरीर में पोषण की कमी होती है। लेकिन अगर बढ़ती उम्र के साथ अगर आप इस तरह की समस्याओं अक्सर सामना करते हैं, तो यह अल्जाइमर रोग का संकेत हो सकता है। अल्जाइमर एक गंभीर मानसिक रोग है, जिसमें व्यक्ति की याददाश्त कमजोर होने लगती है और भूलने या मेमोरी लॉस जैसी समस्याएं होती हैं। जिससे कारण लोग छोटी-छोटी चीजें करना भी भूल जाते हैं, या उन्हें याद नहीं रहता है। साथ ही इस स्थिति में व्यक्ति की सोचने-बूझने की क्षमता भी कमजोर होने लगती है। डिमेंशिया भी अल्जाइमर का ही एक प्रकार है। इन दोनों ही स्थितियों व्यक्ति की सोच से लेकर उनका आचरण और मन के भाव तक प्रभावित हो सकते हैं। लेकिन यह रोग लोगों को बढ़ती उम्र के साथ या बुढ़ापे में होता है। युवावस्था में यह शरीर में पोषण की कमी से हो सकता है।

बहुत से लोग अक्सर पूछते हैं कि अल्जाइमर रोग का इलाज क्या है? इस विषय पर अधिक जानकारी के लिए हमने मेडिकवर हॉस्पिटल, नवी मुंबई के कंसल्टेंट न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. जयेंद्र यादव (Dr. Jayendra Yadav- Consultant Neurologist) से बात की। आइए जानते हैं भूलने की बीमारी या अल्जाइमर का इलाज (alzheimer ka ilaj) क्या है।

Alzheimer's Disease Treatment In Hindi

अल्जाइमर रोग के संकेत और लक्षण- Signs And Symptoms of Alzheimer's Disease in Hindi

  • हाल की चीजों को भूल जाना और याददाश्त कमजोर होना
  • छोटी-छोटी या आम समस्याओं को सुलझाने में कठिनाई होना और कोई निर्णय लेने में कठिनाई 
  • बोलने, लिखने या संवाद करने में दिक्कत का सामना करना
  • टाइम या स्थानों को याद रखने में दिक्कत या उनको लेकर भ्रमित होना
  • धीरे-धीरे व्यक्तिगत स्वच्छता में कमी का अनुभव  
  • मूड और व्यक्तित्व में परिवर्तन महसूस होना 
  • अपने परिवार के सदस्यों या दोस्तों और समाज से दूरी बनाना और अकेले रहना पसंद करना

उपरोक्त संकेत और लक्षणों को पहचानकर आप डॉक्टर से संपर्क कर सकते हैं, जिसके बाद वह अल्जाइमर का निदान करके आपको इलाज की प्रक्रिया शुरू कर सकता है।

इसे भी पढें: अल्जाइमर की शुरुआत में शरीर में दिखते हैं ये 10 संकेत, समस्या बढ़ने से पहले पहचानें इन्हें

अल्जाइमर रोग का निदान कैसे किया जाता है- Diagnosing Alzheimer’s disease in Hindi

अल्जाइमर रोग के निदान के लिए डॉक्टर कुछ मेडिकल टेस्ट, पारीवारिक और चिकित्सा इतिहास के आधार पर अल्जाइमर को निदान करते हैं।  इसके अलावा दवाओं का इतिहास, आहार, खानपान और जीवनशैली का आकलन किया जाता है। टेस्ट की बात करें तो डॉक्टर आपको मानसिक, शारीरिक, तंत्रिका विज्ञान और इमेजिंग परीक्षण करवाने को कह सकते हैं। साथ ही कुछ फिजिकल टेस्ट जैसे हाई बीपी, हार्ट बीट और शरीर के तापमान आदि चेक कर सकते हैं। कुछ मामलों में, डॉक्टर मूत्र या रक्त के नमूने का टेस्ट, एमआरआई, सीटी स्कैन और पीईटी स्कैन जैसे टेस्ट की मदद से भी अल्जाइमर का निदान करते हैं।

अल्जाइमर का इलाज क्या है- Alzheimer's Disease Treatment In Hindi

वैज्ञानिकों और स्वास्थ्य विशेषज्ञों की मानें तो अल्जाइमर का कोई इलाज फिलहाल नहीं है। हालांकि कुछ दवाओं और जीवनशैली बदलावों के साथ मानसिक स्वास्थ्य और याददाश्त को मजबूत बनाया जा सकता है।

अल्जाइमर का निदान होने पर डॉक्टर आपको FDA द्वारा अप्रूव्ड कुछ दवाएं जैसे डोनेपेजिल, रीवास्टिग्मीन और एक्सेलॉन पैच, गैलेंटामाइन आदि का सुझाव दे सकता है। इसके अलावा डॉक्टर आपको कुछ ब्रेन सप्लीमेंट्स का सुझाव दे सकते हैं। अल्जाइमर रोग के इलाज में पोषण, खानपान और जीवनशैली आदतों में बदलाव पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जाता है। पोषक तत्वों से आहार, नियमित शारीरिक और मस्तिष्क की एक्सरसाइज आदि सुझाव दिया जाता है।

इसे भी पढें: सांस फूलने या सांस लेने में परेशानी किस विटामिन की कमी से होती है?

इसके अलावा अल्जाइमर के जोखिम कारकों जैसे हाई बीपी, हाई कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, स्मोकिंग और शरीर के अधिक वजन आदि को कंट्रोल रखने की सलाह दी जाती है। अल्कोहल और स्मोकिंग से सख्त परहेज की सलाह दी जाती है। अल्जाइमर रोगी के आहार में ज्यादा फल और सब्जियों को जोड़ा जाता है।

(With Inputs: Dr. Jayendra Yadav Consultant Neurologist , Medicover Hospitals, Navi Mumbai)

All Image Source: Freepik

Disclaimer