Doctor Verified

अल्जाइमर की शुरुआत में शरीर में दिखते हैं ये 10 संकेत, समस्या बढ़ने से पहले पहचानें इन्हें

Signs And Symptoms Of Alzheimer's: अल्जाइमर की शुरुआत से पहले कई संकेत और लक्षण देखने को मिलते हैं, आइए डॉक्टर से विस्तार से जानें इसके बारे में।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Sep 20, 2022Updated at: Sep 21, 2022
अल्जाइमर की शुरुआत में शरीर में दिखते हैं ये 10 संकेत, समस्या बढ़ने से पहले पहचानें इन्हें

Early Signs And Symptoms Of Alzheimer's Disease: अल्जाइमर मानसिक स्वास्थ्य से जुड़ा एक गंभीर रोग है। यह एक ऐसी स्थिति जिसमें व्यक्ति याददाश्त कमजोर होने लगती है और वे छोटी-मोटी चीजों को करना भी भूल जाता है। इस बीमारे में व्यक्ति याददाश्त और सोचने-बूझने को नुकसान पहुंचता है और व्यक्ति धीरे-धीरे चीजों को भूलने लगता है। जिससे मेमोरी लॉस जैसी स्थितियां पैदा होती हैं। डिमेंशिया को अल्जाइमर का  सबसे आम प्रकार माना जाता है। अल्जाइमर और डिमेंशिया जैसी स्थितियों में व्यक्ति की सोच, आचरण और मन के भाव भी प्रभावित होते हैं। हालांकि यह समस्या लोगों को बुढ़ापे या ज्यादा उम्र में प्रभावित करती है।

लेकिन अच्छी बात यह है कि अल्जाइमर रोग से पहले इसके शरीर पर कई संकेत और लक्षण देखने को मिलते हैं, जिन्हें समय रहते पहचान कर आप इसके जोखिम को कम कर सकते हैं। अल्जाइमर रोग के प्रारंभिक स्टेज के संकेत और लक्षणों के बारे में जानने के लिए हमने मेडिकवर हॉस्पिटल, नवी मुंबई के कंसल्टेंट न्यूरोलॉजिस्ट डॉ. जयेंद्र यादव (Dr. Jayendra Yadav- Consultant Neurologist) से बात की। इस लेख मे हम आपको इसके बारे में विस्तार से बता रहे हैं।

Early Signs And Symptoms Of Alzheimer's Disease

अल्जाइमर के प्रारंभिक संकेत और लक्षण- Early Signs And Symptoms Of Alzheimer's Disease

अल्जाइमर की शुरुआत का सबसे आम संकेत है मेमोरी लॉस। जिसके व्यक्ति में कई लक्षण देखने को मिल सकते हैं जैसे:

  • कुछ ही समय पहले या हाल ही में हुई बातचीत या घटनाओं को भूल जाना
  • अपनी चीजें या वस्तुएं रखकर भूल जाना या उन्हें गलत जगह रख देना
  • किसी जगह, स्थानों या चीजों के नाम भूल जाना
  • किसी शब्द को याद करने या सोचने में बहुत समय लगाना या दिक्कत महसूस होना
  • सही निर्णय ले पाने में कठिनाई होना। 
  • नई चीजों को आजमाने में झिझक महसूस होने या उनके साथ सहज होने में कठिनाई
  • चिंता और तनाव जैसी स्थिति में बढ़ना, भ्रम  आदि जैसी समस्याओं से जूझना। मूड और व्यक्तित्व में बदलाव जैसे दोस्तों एवं परिवार के सदस्यों को खुद को दूर और अलग रखना।
  • छोटी-छोटी समस्याओं को हल करने में कठिनाई होना
  • बोलने, लिखने या बातचीत के दौरान संवाद और संप्रेषण में दिक्कत होना।
  • तस्वीरों या छवियों को देखने और उन्हें समझने में दिक्कत महसूस होना।

अल्जाइम बीमारे के विकास को तीन चरणों में विभाजित किया जाता है। प्रारंभिक, मध्यम और बाद के स्टेज। शुरुआती चरण में लोगों को अल्पावधि याददाश्त से जुड़ी समस्याएं होती हैं और इसके अन्य लक्षणों में अन्य लक्षणों मे फोकस में परेशानी, पहल करने की इच्छा में कमी या कोई रूचि न दिखाना। चीजों को गलत जगह पर रख देना, मूड में बार बार परिवर्तन होना भी इसके कुछ आम लक्षण हैं|

इसे भी पढें: मतली क्यों आती है? डॉक्टर से समझें इसका कारण और बचाव के उपाय

एक्सपर्ट क्या सलाह देते हैं

डॉ. जयेंद्र यादव की मानें तो अल्जाइमर या डिमेंशिया के लक्षण व्यक्ति के दोस्तों या सदस्यों को जल्दी समझ आने लगते हैं। पीड़ित व्यक्ति का ध्यान इन संकेत और लक्षणों पर ज्यादा नहीं जाता है। हालांकि याददाश्त से जुड़े ये संकेत और लक्षण अन्य कारणों या मेडिकल कंडीशन के कारण भी देखने को मिल सकते हैं। जैसे पोषण की कमी, क्रोनिक मॅनिनजायटिस, स्ट्रोक आदि।

इसे भी पढें: सांस फूलने या सांस लेने में परेशानी किस विटामिन की कमी से होती है?

अगर व्यक्ति या उसके दोस्त और पारिवारिक सदस्य इस तरह के संकेत और लक्षणों को नोटिस करते हैं, तो ऐसे में उन्हें तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। किसी भी तरह की लापरवाही या उपचार में देरी से समस्या बढ़ सकती है और इसके गंभीर परिणाम देखने को मिल सकते हैं। डॉक्टर के पास जाएं और परेशानी से सही कारणों का पता लगाएं और उपचार लें।

(With Inputs: Dr. Jayendra Yadav Consultant Neurologist , Medicover Hospitals, Navi Mumbai)

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer