Doctor Verified

क्या कोरोना की नई लहर से बचने के लिए पडे़गी एक और बूस्टर डोज की जरूरत, जानें एक्सपर्ट से

चीन में कोरोना के नए वेरिएंट बीएफ.7 ने कहर मचाया हुआ है। ऐसे में वैक्सीन की बूस्टर डोज को लेकर कई तरह के सवाल उठ रहे हैं।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Jan 04, 2023 16:41 IST
क्या कोरोना की नई लहर से बचने के लिए पडे़गी एक और बूस्टर डोज की जरूरत, जानें एक्सपर्ट से

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Will Covid Booster Shot Prevent Another Wave: चीन में कोरोना वायरस के नए वेरिएंट बीएफ.7 ने कोहराम मचा रखा है। भारत में भी कोरोना के इस वेरिएंट के मामले सामने आ चुके हैं। कोरोना वायरस के नए वेरिएंट बीएफ.7 (Corona Variant BF. 7) के मामले सामने आने के बाद केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने राज्य सरकारों को अलर्ट जारी कर दिया है। हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि कोरोना का ये नया वेरिएंट भारत में ज्यादा कहर नहीं मचा पाएगा, क्योंकि देश के ज्यादातर व्यस्कों को कोरोना की वैक्सीन (Corona Vaccination) लग चुकी है। 

कोरोना का नया वेरिएंट बीएफ.7 सामने आने के बाद सवाल उठ रहे हैं कि क्या इससे बचाव के लिए एक वैक्सीन के बूस्टर डोज की जरूरत पड़ेगी? लोग सर्च इंजन साइट गूगल पर सर्च कर रहे हैं कि क्या कोरोना के नए वेरिएंट बीएफ.7 से बचाव के लिए वैक्सीन की एक और बूस्टर डोज की जरूरत पड़ेगी? इस सवाल का जवाब जानने के लिए हमने दिल्ली के शालीमार बाग स्थित मैक्स अस्पताल के डॉक्टर चंद्रशेखर से बातचीत की।

इसे भी पढ़ेंः कोरोना का बीएफ.7 वेरिएंट बच्चों को पहुंचा सकता है नुकसान! जानें एक्सपर्ट की राय

Corona-BF.7

क्या कोरोना की नई लहर से बचने के लिए पडे़गी एक और बूस्टर डोज की जरूरत? -  Will Covid Booster Shot Prevent Another Wave 

डॉक्टर चंद्रशेखर का कहना है कि भारत में कोरोना की अब तक कई लहर आ चुकी हैं। कोरोना जैसी खतरनाक महामारी से बचाव के लिए लोगों को स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा पहले ही कोरोना वैक्सीन की 2 डोज दी जा चुकी है। इसके साथ ही 60 साल से ऊपर के बुजुर्गों को वैक्सीन की बूस्टर डोज भी दी जा चुकी हैं। डॉक्टर का कहना है जिन लोगों ने कोरोना वैक्सीन की दो डोज ले ली है उन्हें नए वेरिएंट से घबराने की जरूरत नहीं है। 

इसे भी पढ़ेंः क्या कोरोना वैक्सीन की वजह से लोगों को आ रहे हैं हार्ट अटैक? जानें क्या कहते हैं एक्सपर्ट

डॉक्टर चंद्रशेखर ने बताया कि कोरोना का नया वेरिएंट बीएफ.7 कितना खतरनाक है और किस तरह से लोगों को प्रभावित कर रहा है इस पर रिसर्च की जा रही है। उन्होंने बताया कि बीएफ.7 चीन में जितनी तबाही मचा रहा है, भारत में इसका इतना असर नहीं देखने को मिलेगा। क्योंकि चीन के लोगों की इम्यूनिटी भारतीय के मुकाबले काफी कमजोर है। हेल्थ एक्सपर्ट का भी मानना है कि कोरोना वैक्सीन कि दोनों डोज लगवा चुके लोगों को नए वेरिएंट से घबराने की जरूरत नहीं हैं। 

बचाव के लिए सतर्कता जरूरी

नीति आयोग के सदस्य डॉ. वीके पॉल का कहना है कि कोरोना की नई लहर से बचने के लिए लोगों को पहले की ही तरह सतर्कता बरतनी होगी। उन्होंने कहा, "लोगों को भीड़-भाड़ वाले इलाकों में मास्क पहनना चाहिए। जो लोग अन्य बीमारियों से पीड़ित हैं और अधिक आयु के हैं, उन्हें विशेष रूप से इसका पालन करना चाहिए।" केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने विश्व स्तर पर, विशेष रूप से चीन में कोविड के मामलों में वृद्धि के बीच एक समीक्षा बैठक की। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने ट्वीट किया, "कुछ देशों में कोविड-19 के मामलों में वृद्धि के मद्देनजर आज विशेषज्ञों और अधिकारियों के साथ स्थिति की समीक्षा की। कोविड अभी खत्म नहीं हुआ है। मैंने सभी संबंधित लोगों को सजग रहने और निगरानी बढ़ाने के लिये कहा है। हम किसी भी स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं।"

Pic Credit: Freepik.com

Disclaimer