Doctor Verified

कोरोना का बीएफ.7 वेरिएंट बच्चों को पहुंचा सकता है नुकसान! जानें एक्सपर्ट की राय

BF.7 Variant effects on children: भारत में बच्चों को कोरोना वैक्सीनेशन नहीं हुआ है इसलिए माना जा रहा है कि नया वेरिएंट उन्हें परेशान कर सकता है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Jan 06, 2023 11:10 IST
कोरोना का बीएफ.7 वेरिएंट बच्चों को पहुंचा सकता है नुकसान! जानें एक्सपर्ट की राय

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

BF.7 Variant effects on children: चीन में कोरोना के ओमिक्रॉन के नए वेरिएंट बीएफ.7 का कहर जारी है। बीएफ.7 वेरिएंट की वजह से चीन में अब तक कई लोगों की मौत हो चुकी है। चीन में कहर बरपा रहे बीएफ.7 वेरिएंट के कुछ मामले भारत में भी मिल चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय और विशेषज्ञों का कहना है कि भारत में एक बड़ी आबादी को कोरोना वैक्सीन दी जा चुकी है, इसलिए ये नया वेरिएंट भारत में ज्यादा असर नहीं दिखा सकता है। भारत के वयस्कों को बेशक बीएफ.7 वेरिएंट अपनी चपेट में न लें, लेकिन भारत एक बच्‍चों की एक संख्या ऐसी भी है जिसे कोई कोरोना वैक्सीन नहीं लगी है। ऐसे में सवाल उठ रहे हैं कि क्या बीएफ.7 वेरिएंट भारत के बच्चों को अपनी चपेट में ले सकता है और उन्हें नुकसान पहुंचा सकता है?

इस सवाल का जवाब देते हुए गुरुग्राम स्थित मैक्स हॉस्पिटल की पीडियाट्रिक्स प्रिंसिपल कंसल्टेंट डॉ मेघा कौंसल का कहना है कि चीन में कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट का बीएफ.7 इसलिए कहर बरपा रहा है क्योंकि वहां के लोगों की इम्यूनिटी स्ट्रांग नहीं हैं। भारत के मुकाबले में चीन में कोरोना की रोकथाम के लिए लगाई गई वैक्सीन भी इतनी कारगार साबित नहीं हो पाई है।

इसे भी पढ़ेंः कोल्ड या ओमिक्रॉन BF.7 वायरस, कैसे पहचाने आपको है कौन सी बीमारी?

क्यों बच्चों को नुकसान पहुंचा सकता है कोरोना का बीएफ.7 वेरिएंट? -  Coronavirus BF. 7 Variant effect on children in Hindi

डॉ मेघा कौंसल का कहना है कि भारत में कोरोना के अब तक कई सारे वेरिएंट सामने आ चुके हैं। पहली दो लहर में भी देखा जा चुका है कि कोरोना बुजुर्ग और युवाओं को प्रभावित कर रहा है। भारत में कोरोना के किसी भी वेरिएंट से अब तक बच्चे प्रभावित बहुत ही कम हुए हैं। कोरोना के कप्‍पा, अल्‍फा वेरिएंट, डेल्टा वेरिएंट का ज्यादा असर बच्चों पर नहीं देखने को मिला है। हेल्थ एक्सपर्ट का मानना है कि कोरोना का नया वेरिएंट बच्चों को ज्यादा प्रभावित नहीं कर पाएगा, लेकिन फिर भी उन्हें संक्रमण से बचाए रखने की पूरी कोशिश की जानी चाहिए।

Corona-in-kids

बच्चों को कोरोना से कैसे बचाएं - How To Protect Children from Coronavirus

1. छोटे बच्चों को कोरोना के ओमिक्रॉन वेरिएंट का बीएफ.7 वेरिएंट संक्रमित न कर सके इसके लिए मास्क बहुत जरूरी है। बच्चों को सिखाएं कि वो पार्क में खेलते समय, किसी से बात करते समय मास्क जरूर लगाएं। 

2. कोरोना महामारी से बचाव के लिए इम्यूनिटी को स्ट्रांग होना बहुत जरूरी है। ऐसे में बच्चों की डाइट में विटामिन, प्रोटीन, मिनरल्स से पोषक तत्वों से भरपूर डाइट दें। बच्चों को मौसमी सब्जियां और फलों का सेवन ज्यादा करने की सलाह दें, ताकि उनकी इम्यूनिटी स्ट्रांग हो सके।

इसे भी पढ़ेंः कोरोना के खतरे को कम कर सकते हैं ये 5 जूस, बढ़ाते हैं इम्यूनिटी

3. बड़ों की तरह बच्चों को भी कोरोना वायरस से बचने के लिए कौन से प्रोटोकॉल फॉलो करने चाहिए इसके बारे में बताएं। बच्चों को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए कहें, हाथों को समय-समय पर सैनिटाइज करने के बारे में बताएं।

4. कोरोना या किसी भी अन्य बीमारी से बचने के लिए बच्चे की बॉडी का स्वस्थ रहना बहुत जरूरी है। बच्चा स्वस्थ रहे इसके लिए समय-समय पर बच्चों को फुल बॉडी चेकअप करवाएं। बच्चों को संक्रमण से बचाने की कोशिश करें।

 

 

 

Disclaimer

Tags