Alert! कोरोना वायरस से बचाव में कहीं हैंड सैनिटाइजर न पड़ जाए आप पर भारी, आप भी तो नहीं कर रहे ये गलती?

कोरोना वायरस के कहर से बचने के लिए क्‍या आप भी सैनिटाइजर का इस्‍तेमाल कर रहे हैं? तो कहीं आप भी तो नहीं कर रहे ये गलती। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Mar 31, 2020
Alert! कोरोना वायरस से बचाव में कहीं  हैंड सैनिटाइजर न पड़ जाए आप पर भारी, आप भी तो नहीं कर रहे ये गलती?

विश्‍वव्‍यापी महामारी कोरोनावायरस लोगों को इतना डरा दिया है कि लोग महामारी से बचने के लिए मास्‍क और सैनिटाइज़र को हाथ में घिसने के लिए मजबूर बना दिया है। कोरोना वायरस के चलते मास्‍क और सैनिटाइजर का उपयोग बहुत अधिक बढ़ गया है। जिसकी वजह से बाजार में भी सैनिटाइजर का स्‍टॉक खत्‍म होते दिखा और इनकी लागत भी बढ़ी, लेकिन इस बीच कुछ लोगों ने कोरोना से बचने के लिए एल्‍कोहॉल बेस्‍ड सैनिटाइजर घर पर ही बनाना शुरू किया। ऐसा इसलिए क्‍योंकि सैनिटाइजर घर में बनाना काफी आसान है, बस आपको तरीका आना चाहिए।

Hand Sainitzer Alert

जैसे कि रोग नियंत्रण और रोकथाम केंद्र (CDC) और हेल्‍थ एक्‍सपर्ट भी बताते हैं कि कोरोना से बचने के लिए आपके हैंड सैनिटाइजर में कम से कम 60-70 प्रतिशत एल्‍कोहॉल की मात्रा होनी चाहिए। क्‍योंकि शराब की उपस्थिति के साथ सैनिटाइज़र आपके हाथों पर मौजूद कीटाणुओं और जीवाणुओं को मारने में प्रभावी होता है। इस एल्‍कोहॉल बेस्‍ड सैनिटाइजर में आइसोप्रोपिल एल्‍कोहॉल (रबिंग एल्‍कोहॉल) का उपयोग होता है। 

इसे भी पढ़ें: कोरोनावायरस के कहर से बचाने में मददगार है एल्‍कोहॉल बेस्‍ड सैनिटाइजर, जानें कैसे बनाएं

कोरोना वायरस से बचाव के साथ खतरनाक भी हो सकता है हैंड सैनिटाइजर 

COVID-19 की इस जंग में दुनिया भर के डॉक्टर और स्वास्थ्य विशेषज्ञ सोशल डिस्‍टेंसिंग के साथ-साथ लोगों को हाथ की स्वच्छता बनाए रखने के लिए साबुन और सैनिटाइज़र का इस्तेमाल करने को कह रहे हैं। खैर, ये तो इसके फायदे हैं लेकिन ज्यादातर लोग जो नहीं जानते हैं कि कीटाणुओं से बचाने वाला हैंड सैनिटाइज़र के हानिकारक प्रभाव भी हैं। इसमें अल्कोहल की मौजूदगी के कारण सैनिटाइजर आग के संपर्क में आने पर घातक हो सकता है।  हैं। इसी तरह का एक मामला रेवाड़ी में सामने आया था, जिसमें एक 44 वर्षीय व्यक्ति के कपड़ों पर सैनिटाइजर की छींटे मारने की वजह से उसे 35% आग से जलने का सामना करना पड़ा, जो कि रसोई के स्टोव के साथ निकटता के कारण आग लगी। 

यही एक वजह है कि लोगों को आग और गैस या स्टोव के पास सैनिटाइज़र का उपयोग नहीं करना चाहिए क्योंकि यह आपके लिए बेहद खतरनाक हो सकता है। इसमें अत्यधिक ज्वलनशील तरल पदार्थ हैं, इसलिए आप खुद भी रसोई में सैनिटाइजर के उपयोग से बचें और बच्‍चों को भी उससे दूर रखें। 

रसोई घर और गैस से दूर रखें सैनिटाइजर 

डॉ. महेश मंगल, चेयमैन, प्लास्टिक और कॉस्मेटिक सर्जरी विभाग, सर गंगा राम अस्पताल, दिल्ली ने लोगों को आग और गैस स्टोव के पास सैनिटाइज़र का उपयोग नहीं करने की सलाह दी है। वह कहते हैं 62% एथिल एल्कोहल की उपस्थिति के साथ सैनिटाइज़र के अपने स्वास्थ्य संबंधी खतरे हैं। इस प्रकार सैनिटाइजर को सही ढंग से उपयोग के साथ उसे फायरप्लेस से दूर रखना महत्वपूर्ण है। 

इसे भी पढ़ें: क्‍वारंटाइन के दौरान कैसे रखें खुद को फिट और एक्टिव, WHO ने शेयर किए फिटनेट टिप्‍स

सैनिटाइजर के उपयोग से जुड़ी जरूरी सावधानियां 

आपको कीटाणुओं से बचाने वाला हैंड सैनिटाइजर कहीं नुकसान या खतरा न बन जाए, इसके लिए आपको अपने आप और अपने परिवार को सुरक्षित रखने के लिए कुछ जरूरी बातों को ध्‍यान में रखना चाहिए। यहां निम्नलिखित सावधानियां आप अपना सकते हैं:

Using Hand Sainitzer Carefully

  • छोटे बच्चों की पहुंच से सैनिटाइज़र को दूर रखें। 
  • सैनिटाइजर की बोतल को किचन से दूर रखें और किचन में इसके उपयोग से भी बचें।  
  • सैनिटाइज़र के बेवजह उपयोग से बचें, यदि आप घर पर हैं, तो हाथों को साफ करने के लिए सैनिटाइजर के बजाय साबुन और पानी का इस्‍तेमाल करें। 
  • जब भी हाथों पर सैनिटाइज़र लगाएं, सुनिश्चित करें कि यह पूरी तरह से सूख जाए। 
  • रसोई या गैस के पास जाने से पहले यदि सैनिटाइजर लगाया है, तो हाथ धोकर ही गैस के समीप जाएं। 
  • एक उचित बोतल में सैनिटाइजर हो यह तय करें, ऐसा न हो कि सैनिटाइजर लीक हो रहा हो। 

Read More Article On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer