इन लोगों को नहीं करना चाहिए सफेद मूसली का सेवन, जानें सावधानियां

White Musli Side Effects: सफेद मूसली का सेवन स्वास्थ्य के लिए हेल्दी होता है। लेकिन कुछ लोगों को इससे दूरी बनानी चाहिए। आइए जानते हैं इसके बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraUpdated at: Nov 05, 2022 13:00 IST
इन लोगों को नहीं करना चाहिए सफेद मूसली का सेवन, जानें सावधानियां

White Musli Side Effects: आयुर्वेद में सफेद मूसली का काफी महत्व है। इसका इस्तेमाल करने से शरीर की कई परेशानियों को दूर किया जा सकता है। यह कई आवश्यक पोषक तत्व जैसे- प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, अल्कलॉइड, विटामिन, स्टेरॉयड, सैपोनिन, पोटैशियम, मैग्नीशियम, कैल्शियम, म्यूसिलेज, फिनोल, रेजिन, और पॉलीसैकराइड्स इत्यादि से भरपूर होता है। नियमित रूप से सफेद मूसली का सेवन करने से आप कई  समस्याओं से दूर कर सकते हैं। खासतौर पर पुरुषों के लिए सफेद मूसली काफी हेल्दी माना जाता है, लेकिन क्या आप जानते हैं कुछ लोगों को सफेद मूसली के सेवन से परहेज करना चाहिए। आइए जानते हैं किन लोगों को सफेद मूसली से दूर रहना चाहिए? 

सफेद मूसली के नुकसान -  White Musli Side Effects in Hindi

सफेद मूसली कई समस्याओं को दूर कर सकता है। लेकिन कुछ लोगों को इससे दूरी बनाकर रखनी चाहिए। आइए जानते हैं इस बारे में-

ब्लड शुगर की दवा खाने वाले

सफेद मूसली ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में प्रभावी होता है। ऐसे में कई डायबिटीज मरीज सफेेद मूसली का सेवन करते हैं, लेकिन अगर आप पहले से ही ब्लड शुगर की दवा ले रहे हैं तो सफेद मूसली का सेवन करने से बचें। दरअसल, ब्लड शुगर की दवा के साथ आप सफेद मूसली का सेवन करते हैं तो यह ब्लड शुगर के स्तर को और अधिक कम कर सकता है। 

इसे भी पढ़ें - सफेद मूसली और अश्वगंधा का एक साथ करें सेवन, इन समस्याओं से पा सकते हैं छुटकारा

पेट की परेशानी

पेट की समस्या से जूझ रहे लोगों को भी सफेद मूसली का सेवन नहीं करना चाहिए। दरअसल, इसमें फाइबर की अधिकता होती है। ऐसे में अगर आप अधिक मात्रा में सफेद मूसली का सेवन करते हैं तो यह कब्ज, एसिडिटी और इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम का कारण बन सकता है। 

भूख को करता है कम

सफेद मूसली का सेवन करने वालों को भूख कम लगती है। अगर आपको पाचन संबंधी किसी तरह की परेशानी है  या फिर आपको भूख काफी कम लगती है तो सफेद मूसली के सेवन से बचें। इससे आपकी समस्या बढ़ सकती है। 

कफ की समस्या

सर्दी-जुकाम या फिर कफ की परेशानी होने पर भी सफेद मूसली के सेवन से दूरी बना लें। दरअसल, सफेद मूसली की तासीर ठंडी होती है। ऐसे में इसका सेवन करने से शरीर में कफ की मात्रा बढ़ सकती है, इसलिए कफ बढ़ने पर सफेद मूसली का सेलन करने से बचें। वहीं, इसका सेवन करने से पहले एक्सपर्ट से राय जरूर लें। 

गर्भावस्था एवं स्तनपान

गर्भवती या फिर स्तनपान कराने वाली महिलाओं को भी सफेद मूसली का सेवन करने से बचना चाहिए। खासतौर पर अगर आपको किसी तरह की परेशानी है तो एक्सपर्ट से सलाह लेकर ही इसका सेवन करें। यह गर्भवती महिलाओं के लिए सुरक्षित नहीं माना जाता है। 

सफेद मूसली स्वास्थ्य के लिए काफी हेल्दी माना जाता है। इससे कई तरह की परेशानियों को कम कर सकते हैं। लेकिन इससे कुछ नुकसान भी हो सकते हैँ। इसलिए सफेद मूसली का सेवन करने से पहले एक्सपर्ट से सलाह जरूर लेे। 

 

Disclaimer