क्या शाम के समय चिड़चिड़ा हो जाता है बच्चा? तो जानें बच्चे को शांत कराने के 5 उपाय

कई बार बच्चे बिना बात रोते हैं। ऐसे बच्चों को संभालना काफी मुश्किल होता है। जानें बच्चों के रोने के क्या कारण हो सकते हैं और उन्हें कैसे शांत करें।

सम्‍पादकीय विभाग
परवरिश के तरीकेWritten by: सम्‍पादकीय विभागPublished at: Jun 29, 2022Updated at: Jun 29, 2022
क्या शाम के समय चिड़चिड़ा हो जाता है बच्चा? तो जानें बच्चे को शांत कराने के 5 उपाय

कई बार बच्चे छोटी-छोटी बात पर रोने लगते हैं। शाम में बच्चे ज्यादा ऐसा करते हैं। माता-पिता के लिए ये समझना मुश्किल हो जाता है कि बच्चा रो क्यों रहा है। बच्चे को चुप कराने के लिए सबसे पहले उसकी भूख को शांत करने की कोशिश करनी चाहिए। आइए जानते हैं कि बच्चे अगर चिड़चिड़े हैं, तो किस तरह उनके मूड को ठीक किया जा सकता  है। 

बच्चों की भावनाओं को समझें

शाम को कई बार बच्चा नींद पूरी न होने की वजह से रो सकता है। अगर आपका बच्चा भी शाम के समय आंखें मलता है, तो इसका मतलब है उसे नींद आ रही है। ऐसे में आपको उसे दिन में पर्याप्त सुलाने की कोशिश करनी चाहिए। इससे बच्चा शाम को चिड़चिड़ा नहीं होगा और जल्दी रोएगा नहीं।

बच्चों को स्नैक्स खिलाएं

जिस तरह से हम सभी के लिए स्नैक्स लेना जरूरी होता है, उसी तरह बच्चों को भी स्नैक्स के रूप में कुछ न कुछ खाने को जरूर देना चाहिए। अगर आपका बच्चा शाम के समय रोता है, तो इसका एक मतलब हो सकता है कि बच्चे को भूख लगी हो। ऐसे में अगर आप उसे रेगुलर स्नैक्स देंगे, तो बच्चा शाम को भूख की वजह से नहीं रोएगा और आराम से खेलेगा। अगर बच्चा 6 महीने से छोटा है, तो उसे बीच-बीज में दूध पिलाते रहें, ताकि उसे भूख न लगे।

इसे भी पढ़ें- अच्छी सेहत के लिए अपने बच्चों को जरूर सिखाएं ये 6 आदतें, जीवनभर मिलेगा फायदा

बच्चों को लगती है अधिक गर्मी

शाम के समय बच्चा गर्मी की वजह से भी चिड़चिड़ा हो सकता है। छोटे बच्चे को जब गर्मी लगती है, तो वे अपनी परेशानी किसी को नहीं बता पाता है। ऐसे में आपको समझने की जरूरत होती है। अगर बच्चे के माथे, हाथ या पैरों पर पसीना है, तो इसका मतलब है कि बच्चे को गर्मी महसूस हो रही है। ऐसे में बच्चे को पर्याप्त कूलिंग दें। जब बच्चे को ठंडक महसूस होगी, तो वह खुश रहेगा। गर्मियों के मौसम में शाम को कई बार गर्मी थोड़ी बढ़ जाती है। ऐसे में बच्चों को शाम के समय हवा में ही रखें। ऐसे में वो कंफर्ट तो रहेंगे और चिड़चिड़े भी कम होंगे। 

बच्चों को भरपूर प्यार दें

कई बार शाम को हम डिनर बनाने में व्यस्त हो जाते है। ऐसे में हम बच्चे को खेलने के लिए खिलौने पकड़ा देते हैं। जब बच्चे को आपका पर्याप्त प्यार नहीं मिल पाता है, तो वह चिड़चिड़ा हो जाता है। ऐसे में बच्चा शाम के समय अधिक रो सकता है। इसलिए आपको अपने बच्चे को समय जरूर देना चाहिए। लगातार ऐसा करने से बच्चा चिड़चिड़ा रहने लगता है। अपनी दिनचर्या ऐसी बनाएं कि शाम को भी आप उसके साथ टाइम बिता पाएं।

इसे भी पढें- बच्चों को खिलाने-पिलाने से जुड़े ये 5 मिथक हैं भारत में पॉपुलर, एक्सपर्ट से जानें इनकी सच्चाई

बच्चों को पार्क लेकर जाएं

बच्चे पार्क में जाकर बहुत खुश रहते हैं। बच्चों को पार्क में रंग-बिरंगे फूलों और झूले देखकर काफी खुशी मिलती है। बच्चे पार्क में जाकर काफी कुछ सीख सकते हैं। अगर आपका बच्चा शाम को अकसर ही रोता रहता है, तो आप उसे पार्क ले जाकर देखिए। इससे बच्चे का रोना बंद होगा, वो काफी एक्टिव और खुश नजर आएगा।

अगर आपका बच्चा भी अकसर शाम होते ही रोने लगता है, तो सबसे पहले बच्चे के रोने कारण को जानें। अगर बच्चा लगातार लंबे समय तक रोता रहता है, आप इसके पीछे की वजह नहीं समझ पा रहे हैं, तो एक बार डॉक्टर से जरूर मिलें।

 

Disclaimer