झुर्रियों और त्वचा के ढीलेपन को दूर करने का आसान तरीका है 'थ्रेड लिफ्ट', जानें कैसे किया जाता है इसे

35-40 की उम्र के बाद चेहरे की त्वचा पर आने वाले ढीलेपन और झुर्रियों को दूर कर स्किन में कसावट लाने के लिए थ्रेड लिफ्ट एक अच्छा तरीका है।

Monika Agarwal
त्‍वचा की देखभालWritten by: Monika AgarwalPublished at: Sep 10, 2021Updated at: Sep 10, 2021
झुर्रियों और त्वचा के ढीलेपन को दूर करने का आसान तरीका है 'थ्रेड लिफ्ट', जानें कैसे किया जाता है इसे

उम्र बढ़ने (Ageing) के साथ-साथ आपके चेहरे से पहले वाला नूर जाने लगता है और चमक ढल जाती है, जिसके कारण आप परेशान होते हैं। हर कोई चाहता है उसकी त्वचा खूबसूरत और जवान दिखे। लेकिन जैसे जैसे उम्र बढ़ती जाती है हमारी स्किन से फैट लॉस (Fat Loss) भी हो जाता है। जिस के कारण स्किन आंखों, गालों और ठुड्ढी के आस पास के भागों से ढीली पड़ जाती है और आप को इन क्षेत्रों में काफी सारे एजिंग लक्षण दिखने लगते है। आज हम आपको एक ऐसी तकनीक के बारे में बताने वाले हैं जो आपकी ढीली हो चुकी स्किन को थोड़ा लिफ्ट करने में मदद करेगी। आपके चेहरे की वही चमक और वही लचीलापन वापस लाने में सहायक सिद्ध होगी। जी हां आइए जानते हैं इस तकनीक के बारे में।

thread lift process

क्या है थ्रेड लिफ्ट? (What Is Thread Lift)

कॉस्मेटिक एक्सपर्ट रोहिणी,ज्योति सिंह अरोड़ा बताती हैं कि जैसे-जैसे आपकी स्किन से फैट लॉस होता है, आपकी स्किन से नरमाहट वाला गुण भी चला जाता है। जिसके कारण वह लटकने लगती है या ढीली पड़ी जाती है। इससे आपकी स्किन बहुत कमजोर पड़ जाती है। थ्रेड लिफ्ट एक ऐसी तकनीक होती है जिसमें आपके चेहरे के उन भागों में कुछ सोख लिए जाने वाले फैट फीचर एड कर दिए जाते हैं। खासकर कि जहां से स्किन ढीली हो गई है। इसका प्रयोग आई ब्रो को लिफ्ट करने में, जबड़े की लाइन, गालों और पूरे चेहरे को लिफ्ट करने के लिए किया जाता है। ब्रेस्ट और बट्ट के लिए भी थ्रेड लिफ्ट का प्रयोग किया जा सकता है और आम तौर पर मॉडल्स आदि यह करवाती हैं।

Image Credit- Dreamstime

इसे भी पढ़ें: इन 5 कारणों से आपके चेहरे पर होती हैं झुर्रियां, एक्सपर्ट से जानें कम उम्र में झुर्रियों से बचने के 10 टिप्स

क्या होती है थ्रेड लिफ्ट की प्रक्रिया? (What Is The Procedure)

यह तकनीक नॉन सर्जिकल है और इसे लगभग आधे घंटे में पूरा किया जा सकता है। अगर आप थ्रेड लिफ्ट करवाने का निर्णय कर चुकी हैं तो इस प्रक्रिया में आपकी स्किन टिश्यू में वे धागे (थ्रेड) पिरो दिए जाते हैं, जो आपकी स्किन को लिफ्ट होने में यानी खिंचाव लाने में मदद करते हैं। यह धागे कैप्रोलैक्टोन या पीडीओ द्वारा बने होते हैं। इस तकनीक का प्रयोग आप केवल स्किन के एक भाग के लिए भी कर सकती हैं। लेकिन यह बड़े कम समय में ही आपको ऐसे नतीजे देता है मानो आपने पूरी स्किन लिफ्ट करवाई है। इससे आपकी ढीली हो गई स्किन कसावदार होने लगती है।

किन लोगों को थ्रेड लिफ्ट करवाना चाहिए? (Who Can Go Through This Technique)

एक्सपर्ट्स के मुताबिक इस तकनीक का प्रयोग कोई भी कर सकता है और इसमें किसी उम्र की पाबंदी नहीं होती है। आम तौर पर 30 से 35 साल की महिलाएं इस तकनीक का प्रयोग करना शुरू कर देती हैं। क्योंकि इस उम्र में थोड़े बहुत एजिंग के लक्षण दिखने शुरू हो जाते हैं। जो महिलाएं 40 साल से ऊपर की हो जाती हैं उनकी अधिकतर स्किन में झुर्रियां और ढीलेपन की समस्या आती है। इसलिए 40 की महिलाएं इसे करवाने में अधिक प्राथमिकता समझती हैं। लेकिन अगर आपकी उम्र 22 से 25 साल है और आपकी स्ट्रेस या लाइफस्टाइल के कारण कुछ अधिक ही ढीली स्किन हो गई है तो आप इसे करवा सकती हैं। वैसे भी इस तकनीक में कम से कम यंत्रों का प्रयोग किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: Yoga For Wrinkles: चेहरे की झुर्रियों और फाइन लाइन्‍स को दूर करने में मदद करते हैं ये 3 योगासन

थ्रेड लिफ्ट करवाने के बाद आपको क्या क्या सावधानियां बरतनी चाहिए (Precautions To Be Taken)

सूर्य की रोशनी में अधिक समय तक न जाएं और सन स्क्रीन तो अवश्य लगा कर रखें। आपको अपनी स्किन ज्यादा रगड़ना या एक्सफोलिएट भी नहीं करनी है। ऐसा दो हफ्तों तक करें। अपने मुंह को अधिक न खोलें और केवल छोटी छोटी खाने की बाइट ही लें। अच्छी डाइट रखें और शराब का सेवन न करें और डॉक्टरों द्वारा सुझाए गए तरीकों का पालन जरूर करें।

अगर आप अपनी ब्यूटी को अभी नहीं ढलने देना चाहती हैं लेकिन आपको एजिंग के लक्षण दिखने लगे हैं तो यह तकनीक आपके लिए ही है।

Main image credit: Exonmed

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer