लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स (गर्भनिरोधक गोलियां) क्या हैं? जानें इसके फायदे और नुकसान

लो-डोज वाली गर्भनिरोधक गोलियां सामान्य गर्भनिरोधक गोलियों से ज्यादा सुरक्षित मानी जाती हैं। जानें इन्हें खाने के फायदे और नुकसान क्या हैं।

 

Monika Agarwal
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 07, 2021Updated at: Aug 07, 2021
लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स (गर्भनिरोधक गोलियां) क्या हैं? जानें इसके फायदे और नुकसान

बर्थ कंट्रोल पिल्स को बर्थ कंट्रोल के तरीकों में सबसे अधिक प्रयोग किया जाता है, क्योंकि यह किसी तरह का नुकसान नहीं पहुंचाती हैं। ये पूरी तरह से सुरक्षित भी होती हैं। यह सभी महिलाओं के लिए आसानी से उपलब्ध भी होती हैं। लेकिन शायद आप जानती नही हैं कि इन पिल्स के कारण भी आपको कुछ स्वास्थ्य से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ सकता है। इन्हीं रिस्कों को कम करने के लिए मार्केट में नई बर्थ कंट्रोल पिल्स आई हैं जिन्हें लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स (Low Dose Birth Control) कह सकते हैं। इनके साथ स्वास्थ्य से जुड़े रिस्क बहुत कम मात्रा में शामिल हैं। तो आइए जानते हैं क्या होती हैं बर्थ कंट्रोल पिल्स और इनके क्या क्या लाभ हैं और क्या क्या हानियां।

क्या होती हैं लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स  (What is Low Dose Birth Control Pills)

नोएडा स्थित मदरहुड हॉस्पिटल की कंसल्टेंट ऑब्सटेट्रिक्स & गायनेकोलॉजिस्ट डॉ मनीषा रंजन बताती हैं यह एक प्रकार की गर्भ निरोधक गोलियां होती हैं जो सामान्य पिल्स के मुकाबले शरीर के हार्मोन्स को कम प्रभावित करती हैं। यह माना जाता है कि इन पिल्स के साइड इफेक्ट्स बहुत ही कम होते हैं। यह पिल्स अधिक हार्मोन वाली पिल्स के मुकाबले अधिक सुरक्षित होती है। हालांकि कुछ लो एस्ट्रोजन बर्थ कंट्रोल पिल्स में प्रोजेस्टिन भी होता है। अन्य लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स (Low Dose Birth Contro l) में लो प्रोजेस्टिन होता है। इन दोनों ही प्रकार की लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स का प्रभाव रेट 99.5% होता है।

इसे भी पढ़ें - क्या पहली सिजेरियन डिलीवरी के बाद दूसरी डिलीवरी हो सकती है नॉर्मल? डॉक्टर नीरा सिंह बता रही हैं कुछ खास बातें 

लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स के प्रकार (Types Of Low Dose Birth Control Pills)

1. कॉम्बिनेशन लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल :

इनमें 10 से 35 mcg एस्ट्रोजन होता है। हालांकि कुछ एक पिल्स में इसकी मात्रा 50 mcg भी हो सकती है।

2. प्रोजेस्टिन ओनली लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल (Projestine):

इन पिल्स में केवल प्रोजेस्टिन ही होता है। यह जरूरी होता है कि यह पिल्स रोजाना एक ही समय पर ली जाएं ताकि इनका प्रभाव भी कॉम्बिनेशन पिल्स जितना ही हो।

लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स का सेवन किन्हें करना चाहिए (Who Can Use Low Dose Birth Control Pills)

आपके डॉक्टर आम तौर पर आपको 35 से 40 एमसीजी एस्ट्रोजन वाली बर्थ कंट्रोल पिल्स का सुझाव देंगे। लेकिन अगर आपका वजन 50 किलो से कम है और आपको इन्हें खाने के बाद जी घबराने जैसे लक्षण देखने को मिलते हैं, तो आप लो एस्ट्रोजन वाली लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल का सेवन कर सकती हैं।

लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स के लाभ (Benefits of Low Dose Birth Control Pills)

  • यह प्री मेंस्ट्रुअल सिंड्रोम से जुड़े लक्षणों को कम कर सकती हैं।
  • अगर आपके पीरियड्स अनियमित हैं तो इनका प्रयोग करके आप उन्हें नियमित कर सकती हैं।
  • आपको अगर हैवी फ्लो महसूस होता है तो इनके सेवन से आपका फ्लो थोड़ा लाइट हो सकता है।
  • पेल्विक इन्फ्लेमेटरी डिजीज से आप खुद को बचा सकती है ।
  • पहले के मुकाबले आपको पीरियड्स के दौरान बहुत कम दर्द महसूस होगा।
  • आपका ओवेरियन सिस्ट होने का रिस्क भी बहुत कम हो जायेगा।

लो डोज बर्थ कंट्रोल पिल्स के कुछ दुष्प्रभाव या नुकसान (Side Effects of Low Dose Birth Control Pills)

  • आपको सिर दर्द हो सकता है।
  • आपका जी मिचला सकता है।
  • आपको कभी कभार उल्टियां आ सकती है ।
  • आपको डिप्रेशन और एंजाइटी जैसी मेंटल हेल्थ कंडीशन का सामना करना पड़ सकता है।
  • आपका वजन बढ़ या घट सकता है।
  • आपको ब्रेस्ट में दर्द महसूस हो सकता है।
  • यह आपके स्ट्रोक के रिस्क को बढ़ा सकती हैं।
  • यह ब्लड क्लॉट्स का रिस्क बढ़ा सकता है।
  • आपको मेंस्ट्रुअल साइकिल के बीच में भी स्पॉटिंग हो सकती है।

अगर आपकी उम्र 35 से कम है, और आप धूम्रपान करती हैं तो आपको इन पिल्स का सेवन नहीं करना चाहिए। अगर आप गर्भवती हैं और आपको माइग्रेन की समस्या है तो भी आपको इनका सेवन नहीं करना चाहिए।

Read more Articles on Women Health in Hindi 

 

Disclaimer