फ्लू क्या है और क्यों होता है? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

फ्लू एक संक्रामक वायरस है। फ्लू एक इंफेक्शन है जो रेस्पिरेटरी सिस्टम (Respiratory System) को प्रभावित करता है। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Dec 13, 2022 15:01 IST
फ्लू क्या है और क्यों होता है? जानें इसके लक्षण और बचाव के उपाय

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

What is Flu in Hindi Symptoms Remedies: सर्दियों का मौसम आते ही ज्यादातर घरों में बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक को सर्दी, खांसी, जुकाम और बुखार जैसी समस्या हो जाती है। इस तरह की मौसम की बीमारियों को लेकर जब हम डॉक्टर के पास जाते हैं तो वो अक्सर एक शब्द कहते हैं ये फ्लू है। आखिरकार फ्लू क्या है, फ्लू के मूल लक्षण क्या हैं और फ्लू के लक्षण दिखाई देने पर आपको कब डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए इन सभी सवालों के जवाब आज हम आपको इस लेख में देने जा रहे हैं।

फ्लू (Flu) क्या है ? -What is flu

फ्लू एक संक्रामक वायरस है। फ्लू एक इंफेक्शन है जो रेस्पिरेटरी सिस्टम (Respiratory System) को प्रभावित करता है। 10 में से 9 मामलों में फ्लू फेफड़ों को प्रभावित करता है। अमूमन फ्लू 6 महीने के बच्चे से लेकर 65 साल के बुजुर्गों तक को प्रभावित करता है। हेल्थ एक्सपर्ट का कहना है कि फ्लू उन लोगों को ज्यादा प्रभावित करता है, जिनका इम्यून सिस्टम कमजोर होता है।

What are the symptoms of Flu?

फ्लू (Flu) के लक्षण क्या हैं? - What are the symptoms of Flu?

फ्लू के लक्षणों में निम्नलिखित शामिल हैंः

  • तेज बुखार आना
  • कंपकंपी के साथ ठंड लगना और बुखार आना
  • पसीना आना
  • सिर में दर्द रहना या होना
  • गले में खराश रहना
  • बंद या बहती नाक
  • पीठ, पैरों और शरीर की मांसपेशियों में दर्द होना
  • छींक आना और सूखी खांसी होना
  • मतली, उल्टी और दस्त (आमतौर पर बच्चों में अधिक होते हैं)

फ्लू होने पर डॉक्टर को कब दिखाना चाहिए?

यदि किसी व्यक्ति में फ्लू के लक्षण दिखाई देते हैं और ये 2 से 3 दिनों तक लगातार रहते हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। कई बार फ्लू होने पर सांस संबंधी समस्याएं बढ़ सकती हैं, इसलिए बिना किसी डॉक्टरी सलाह के दवाओं का सेवन न करें। 

फ्लू (flu) से बचाव के उपाय

फ्लू एक ऐसी संक्रामक बीमारी है जो एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति तक में पहुंचती है इसलिए इससे बचाव के उपायों को बहुत सावधानी के साथ फॉलो करने की जरूरत होती है। फ्लू से बचाव के लिए आप निम्नलिखित उपाय अपना सकते हैंः

खांसते और छींकते समय अपने मुंह और नाक को रूमाल या टिशु से ढकें।

खांसने और छींकने के बाद हाथों को साबुन और पानी से अच्छी तरह से क्लीन करें। 

सर्दियों के मौसम में घर से बाहर निकलते वक्त कान और नाक को ढककर रखें। 

अक्सर स्पर्श की जाने वाली सतहों जैसे कि विशेष रूप से दरवाजे के हैंडल और नल को नियमित रूप से साफ करें। 

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में जरूर खाना चाहिए बथुआ का साग, सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे

फ्लू से ठीक होने के घरेलू उपचार

घर पर फ्लू का इलाज करने के लिए आप नीचे दिए गए कुछ घरेलू उपायों को भी फॉलो कर सकते हैंः

शहद और दालचीनी का पाउडर

फ्लू जैसी बीमारी से निजात पाने के लिए एक कटोरी में पानी लेकर दालचीनी को अच्छे से उबालें। उबले हुए दालचीनी के पानी में शहद मिलाकर सेवन करें। दालचीनी और शहद का पानी पीने से फ्लू से जल्द राहत मिल सकती है। 

प्याज और शहद

प्याज और शहद के पोषक तत्व शरीर को अंदर से गर्माहट प्रदान करते हैं, जिससे फ्लू के लक्षणों से राहत पाई जा सकती है। इसके लिए 2 चम्मच प्याज के रस में शहद मिलाकर सेवन करें। 

Disclaimer