सर्दियों में जरूर खाना चाहिए बथुआ का साग, सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे

Bathua Saag Benefits in Hindi for Winters:  बथुआ साग में पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी2, बी3, बी5, विटामिन-सी, कैल्शियम, लोहा पाया जाता है।

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Dec 12, 2022 12:11 IST
सर्दियों में जरूर खाना चाहिए बथुआ का साग, सेहत को मिलते हैं ये 5 फायदे

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Health benefits of Bathua saag: सर्दियों में बथुआ का साग बहुत अधिक मात्रा में खाया जाता है। हालांकि ज्यादातर लोग बथुआ साग का सेवन सिर्फ इसके लाजवाब स्वाद के लिए करते हैं। कुछ ही लोगों को बथुआ साग के पोषक तत्व और इसके औषधीय गुणों की जानकारी होती है। सर्दियों का मौसम आ चुका है बाजार में बड़ी मात्रा में मिलने लगाता है, तो मैंने सोचा आपको इसके फायदों के बारे में भी बता ही देते हैं ताकि आप और मजे के साथ बथुआ (Bathua saag khane ke fayde) के साग का सेवन कर सकें। नियमित तौर पर बथुआ साग का सेवन करने से पाचन और पेट संबंधी समस्याएं नहीं होती है। तो आइए जानते हैं सर्दियों के मौसम में बथुआ साग खाने के फायदे।

बथुआ साग के पोषक तत्व - Nutrition of Bathua Saag

बथुआ साग में पर्याप्त मात्रा में विटामिन बी2, बी3, बी5, विटामिन-सी, कैल्शियम, लोहा, मैग्नीशियम, मैगनीज, फॉस्फोरस, पोटैशियम, सोडियम और पर्याप्त मात्रा में मिनरल्स पाए जाते हैं। सर्दियों के मौसम में बथुआ साग और लस्सी और मट्ठा में मिलाकर सेवन करने से मीट से ज्यादा प्रोटीन मिलता है।

इसे भी पढ़ेंः Fact check: क्या एयरपोड का इस्तेमाल करने की वजह से ब्रेन ट्यूमर होता है? जानें एक्सपर्ट से

- Bathua Saag Benefits in Hindi

सर्दियों में बथुआ साग खाने के फायदे - Health benefits of Bathua saag

पाचन संबंधी समस्याओं से दिलाता है राहत

बथुआ के साग में पर्याप्त मात्रा में प्रोटीन और सोडियम पाया जाता है। सर्दियों के मौसम में बथुआ साग में नमक मिलाकर खाने से पाचन संबंधी समस्याएं जैसे पेट में दर्द, कब्ज और उल्टी से राहत पाई जा सकती है। जिन लोगों के पेट में कीड़े होते हैं वो अगर बथुआ साग का सेवन करें तो पेट के कीड़ों से निदान मिल सकता है।

मूत्र संबंधी समस्याओं से मिलती है राहत

सर्दियों के मौसम में अक्सर पानी कम पीने की वजह से लोगों को मूत्र संबंधी समस्याएं होने लगती हैं। कई बार लोगों को यूरिन के दौरान जलन और दर्द जैसी समस्या भी होती है। ऐसे लोगों को बथुए में नमक, जीरा और नींबू को उबालकर सेवन करने की सलाह दी जाती है।

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में सेहत के लिए जरूरी है विटामिन सी, डाइट में शामिल करें ये 5 चीजें

चेहरे के कील-मुहांसों को करता है खत्म

बथुए के रस का नियमित तौर पर सेवन करने से स्किन प्रॉब्लम से राहत पाई जा सकती है। जिन लड़कियों के चेहरे पर कील-मुंहासे, फोड़े, दाद, खुजली जैसी समस्याएं होती हैं उन्हें सप्ताह में एक बार बथुए के रस में नमक और नींबू का रस मिलाकर पीने की सलाह दी जाती है।

खून साफ करने में मददगार

बथुआ का साग आपके शरीर में मौजूद विषाक्त पदार्थ दूर होते हैं। बथुआ में नीम की पत्तियां मिलाकर खाने से आपकी सेहत को बहुत सारे फायदे मिलते हैं। नियमित तौर पर बथुआ साग और नीम के पत्तों का सेवन करने से खून साफ होता है। साथ ही ये ब्लड सर्कुलेशन को ठीक करने में भी मदद कर सकता है।

पीरियड्स प्रॉब्लम को करता है ठीक

पीरियड्स से जुड़ी समस्याओं से राहत दिलाने में भी बथुआ का साग काफी मददगार साबित हो सकता है। पीरियड रूक-रूक होने की समस्या से निजात पाने के लिए बथुआ के जूस में काला नमक मिलाकर सेवन करें।

इसके अलावा बथुआ का साग शारीरिक और मानसिक कमजोरी को भी ठीक करने में मददगार साबित होता है। बथुआ या किसी भी साग का सेवन संतुलित मात्रा में ही करना चाहिए। किसी भी समस्या में बथुआ का औषधीय इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टर या एक्सपर्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

(Image Courtesy: Freepik.com)

 

 

 

 

Disclaimer