प्रेग्नेंसी के दौरान नाभि में क्यों होती है खुजली? ऐसे करें बचाव

प्रेग्नेंसी के दौरान नाभि में खुजली कई कारणों से हो सकती है। इससे बचाव के लिए आप निम्न उपायों को अपना सकते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में-

 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: May 10, 2022Updated at: May 10, 2022
प्रेग्नेंसी के दौरान नाभि में क्यों होती है खुजली? ऐसे करें बचाव

प्रेग्नेंसी के दौरान शरीर में कई तरह के हार्मोनल बदलाव होते हैं। इन हार्मोनल बदलाव की वजह से शरीर में कई तरह के लक्षण दिख सकते हैं, जिसमें मॉर्निंग सिकनेस, टखनों में सूजन, वजन बढ़ना जैसी परेशानी शामिल है। इसके अलावा कुछ महिलाओं को प्रेग्नेंसी के दौरान पेट और नाभि में काफी ज्यादा खुजली होने लगती है। आज हम इस लेख में प्रेग्नेंसी के दौरान नाभि में खुजली क्यों होती है के बारे में विस्तार से जानेंगे। 

प्रेग्नेंसी के दौरान नाभि में खुजली के कारण

1. त्वचा में खिंचाव

प्रेग्नेंसी के दौरान स्किन में काफी ज्यादा खिंचाव उत्पन्न होता है। ऐसे में नाभि में खुजली होना काफी सामान्य है। दरअसल, इस दौरान आपके पेट की स्किन काफी ज्यादा फैलती है। ऐसे में पेट में स्ट्रेचिंग काफी ज्यादा होती है। हैवी-ड्यूटी स्ट्रेचिंग आपके बेली बटन के आसपास की पतली त्वचा को भी खींच सकती है। इसकी वजह से आपकी नाभि में खुजली की परेशानी हो सकती है। साथ ही इसके कारण नाभि में दर्द और चिड़चिड़ी भी हो सकती है। 

इसे भी पढ़ें - नाभि में ये 8 चीजें लगाने से दूर हो सकती हैं आपके सेहत की समस्याएं

2. ड्राई स्किन

ड्राई स्किन की वजह से भी स्किन में खुजली की परेशानी हो सकती है। गर्भवती महिलाओं के शरीर में हार्मोन परिवर्तन देखने को मिलते हैं, जिसकी वजह से स्किन काफी ज्यादा ड्राई होने लगती है। साथ ही इससे स्किन की इलासिटी पर भी असर पड़ता है, जिसकी वजह से नाभि में खुजली होने लगती है। 

3. प्रुरिटिक आर्टिकेरियल पेप्युल्स और प्लाक ऑफ प्रेग्नेंसी (PUPPP)

प्रुरिटिक अर्टिकेरियल पैपुल्स और प्लाक ऑफ प्रेग्नेंसी (PUPPP) में नाभि में खुजली की परेशानी हो सकती है। इसे अक्सर प्रेग्नेंसी रैश या एरिथेमा ऑफ प्रेग्नेंसी भी कहा जाता है। इसकी वजह से गर्भावस्था के कुछ महीनों बाद में आपकी त्वचा पर छोटे लाल धक्के और  पित्ती विकसित होने लगते हैं। इसकी वजह से पेट पर पैच या प्लैक बनने लगता है। ऐसे में नाभि पर भी आपको खुजली की परेशानी देखने को मिल सकती है। 

4. पेम्फिगॉइड जेस्टेशनलिस

यह गर्भावस्था से संबंधित ऑटोइम्यून डिसऑर्डर है। इसके कारण भी आपकी नाभि में खुलजी की परेशानी हो सकती है। यह समस्या गर्भावस्था के दौरान किसी भी समय शुरू हो सकती है। लेकिन प्रेग्नेंसी की दूसरी या तीसरी तिमाही में इसकी संभावना अधिक होती है। 

5. गर्भावस्था के इंट्राहेपेटिक कोलेस्टेसिस

गर्भावस्था के कोलेस्टेसिस की शुरुआत आमतौर पर हाथों और पैरों में अत्यधिक खुजली से होती है, लेकिन खुजली आपके पेट सहित आपके शरीर के अन्य हिस्सों में भी फैल सकती है। इसकी वजह से महिलाों की नाभि में खुजली की परेशानी हो सकती है। 

प्रेग्नेंसी में नाभि में खुजली से कैसे पाएं राहत?

नाभि में खुजली की परेशानी को दूर करने के लिए आप निम्न उपायों का सहारा ले सकते हैं। आइए जानते हैं इस बारे में-

मॉइस्चराइजर

रूखी त्वचा से होने वाली खुजली से राहत पाने के लिए अपने पूरे पेट और नाभि पर हैवी मॉइस्चराइजर की एक मोटी परत लगाएं। नहाने या शॉवर के ठीक बाद अपनी त्वचा में अधिक से अधिक मात्रा में लोशन लगाएं। इससे आपको खुजली की परेशानी से राहत मिल सकती है। 

गुनगुने पानी से नहाने से बचें

अगर आप नाभि में खुलजी से परेशान हैं, तो गुनगुने पाीन से नहाने से बचें। क्योंकि गर्म पानी स्किन को ड्राई कर सकता है। अगर आप गुनगुने पानी से बना रहे हैं, तो इसके बाद तुरंत मॉइस्चराइजर लगाएं।

इसे भी पढ़ें - नाभि पर दूध लगाने से दूर होती हैं शरीर की कई समस्याएं, जानें इसे लगाने के 7 तरीके और फायदे

कोल्ड कंप्रेस

पेट पर एक्जिमा की परेशानी होने पर कोल्ड कंप्रेस करें। इससे नाभि में खुजली की परेशानी को दूर किया जा सकता है। साथ ही आपको तुरंत शांति मिलती है। 

नाभि में खुजली की परेशानी को दूर करने के लिए आप इन उपायों का सहारा ले सकते हैं। साथ ही इसके कारणों के आधार पर इलाज कर सकते है।

Disclaimer