रोजाना कितनी मात्रा में करना चाहिए ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन, जानिए आपके लिए क्यों है ये जरूरी

सभी न्यूट्रीएंट्स की तरह ही ओमेगा-3फैटी एसिड का सेवन भी आपके लिए है जरूरी, जानिए रोजाना आपको कितनी मात्रा में करना चाहिए ओमेगा-3 का सेवन। 

Vishal Singh
Written by: Vishal SinghUpdated at: Jul 17, 2020 12:00 IST
रोजाना कितनी मात्रा में करना चाहिए ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन, जानिए आपके लिए क्यों है ये जरूरी

ओमेगा-3 फैटी एसिड हमारे स्वास्थ्य के लिए काफी अच्छा होता है, सभी न्यूट्रीएंट्स की तरह ओमेगा-3 फैटी एसिड की पूर्ति भी हमारी डाइट में होना जरूरी होता है। इसके लिए हर सप्ताह कम से कम दो बार वसायुक्त मछली खानी चाहिए, लेकिन अगर आप अक्सर वसायुक्त मछली नहीं खाते हैं, तो इस बारे में सोचना चाहिए और ओमेगा-3 फैटी एसिड की डाइट लेनी चाहिए। इसके साथ ही आपको यह सुनिश्चित करना जरूरी होता है कि आपके पूरक में पर्याप्त इकोसापेंटेनोइक एसिड (ईपीए) और डोकोसाहेक्सैनोइक एसिड (डीएचए) शामिल हैं या नहीं। क्योंकि ओमेगा -3 फैटी एसिड के सबसे ज्यादा उपयोगी प्रकार हैं, जो वसायुक्त मछली और शैवाल में पाए जाते हैं।

वैसे तो आपको कई बीज और नट्स से ओमेगा -3 की पूर्ति हो सकती है। जैसे फ्लैक्स सीड्स और अखरोट। आपको बता दें कि इन सभी खाद्य पदार्थों में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड (ALA) होता है, जिसका एक छोटा हिस्सा आपके शरीर में पहुंचने के बाद इकोसापेंटेनोइक एसिड (EPA) और डोकोसाहेक्सैनोइक एसिड (DHA)में बदल सकते हैं। लेकिन अक्सर लोगों को ये जानकारी नहीं होती कि हमे कितनी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड का सेवन करना चाहिए। हम आपको इस लेख में बताएंगे कि आपको एक दिन में कितनी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड लेना चाहिए और किन लोगों को इसका ज्यादा या कम सेवन करना चाहिए। 

healthy diet

स्वास्थ्य स्थितियों के लिए ओमेगा -3 (Omega-3 For Health Conditions)

हृदय रोग (Heart Disease)

अक्सर हृदय रोग से पीड़ित लोगों को अपनी डाइट और जीवनशैली का खास ध्यान रखने की जरूरत होती है। ओमेगा-3 फैटी एसिड लेने के लिए एक अध्ययन ने 11 हजार लोगों को लिया गया जिन्होंने साढ़े 3 साल तक हर दिन संयुक्त ईपीए और डीएचए की 850 मिलीग्राम की खुराक ली। इसमें दिल के दौरे पड़ने में 25 प्रतिशत की कमी और अचानक मृत्यु होने में करीब 45 प्रतिशत की कमी देखी गई। अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन कोरोनरी हृदय रोग वाले लोगों को रोजाना करीब 1,000 मिलीग्राम संयुक्त ईपीए और डीएचए लेने की सलाह देता है। 

इसे भी पढ़ें: ओमेगा 3 फैटी एसिड की कमी को दूर करते हैं ये 5 फूड, कीमत भी नहीं है ज्यादा

अवसाद और चिंता (Depression And Anxiety)

कई अध्ययन ये दिखाते हैं कि ओमेगा-3 फैटी एसिड की उच्च खुराक अवसाद और चिंता के लक्षणों को कम कर सकती है। जिसके लिए रोजाना 200 से लेकर 2,200 मिलीग्राम लेना चाहिए। वहीं, मूड और मानसिक विकारों के मामलों में डीएचए की तुलना में ईपीए की उच्च मात्रा के साथ एक पूरक इष्टतम हो सकता है।

कैंसर (Cancer)

कुछ कैंसर के इलाज के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड एक दवा का काम करता है, इसका उच्च मात्रा में सेवन करने से स्तन, प्रोस्टेट और पेट के कैंसरों के खतरों को कम किया जा सकता है। लेकिन अभी भी जरूरी है कि अध्ययनों में इस बात की पुष्टि की जाए कि ओमेगा-3 फैटी एसिड इन कैंसरों का खतरा कम करता है या नहीं।

healthy diet

इसे भी पढ़ें: हमेशा स्वस्थ रहने के लिए जरूरी है ओमेगा-3 फैटी एसिड की पूर्ति, कई बीमारियों के खतरे को करता है कम

बच्चों और गर्भवती महिलाओं के लिए (For Children And Pregnant Women)

कई अध्ययन में ये बात सामने आई है कि गर्भवती महिला के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड गर्भावस्था से पहले और गर्भावस्था के दौरान काफी जरूरी हो जाता है। सभी आधिकारिक दिशानिर्देश गर्भावस्था और स्तनपान के दौरान करीब 200 मिलीग्राम डीएचए जोड़ने की सलाह देते हैं। कई संगठनों ने बच्चों के लिए प्रतिदिन संयुक्त ईपीए और डीएचए 50 से 100 मिलीग्राम लेने की सलाह दी है। 

Read More Article On Healthy Diet in Hindi 

Disclaimer