विटामिन U की कमी से हो सकती हैं ये 4 तरह की समस्याएं, जानें कैसे करें इसकी पूर्ति

स्वस्थ रहने के लिए शरीर में विटामिन यू का भी पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी होता है। इसकी कमी से कई समस्याएं पैदा हो सकती हैं।

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Apr 25, 2022Updated at: Apr 25, 2022
विटामिन U की कमी से हो सकती हैं ये 4 तरह की समस्याएं, जानें कैसे करें इसकी पूर्ति

Vitamin U Deficiency Diseases in Hindi: विटामिन्स, मिनरल्स स्वस्थ शरीर के लिए बहुत जरूरी होते हैं। आपने अकसर स्वस्थ रहने के लिए विटामिन डी, विटामिन के, विटामिन सी की जरूरत के बारे में सुना होगा। लेकिन आज हम आपको विटामिन U के बारे में बताने जा रहे हैं, जो शरीर के लिए जरूरी होता है। जिन लोगों में विटामिन यू की कमी होती है, उन्हें तरह-तरह की स्वास्थ्य समस्याओं का सामना करना पड़ता है। विटामिन यू की कमी होने पर पेट से संबंधित रोग अधिक देखने को मिलते हैं। ऐसे में इसके लिए पर्याप्त डाइट लेना जरूरी होता है। चलिए आज के इस लेख में हम आपको विटामिन यू की कमी से होने वाली समस्याओं के बारे में बताने जा रहे हैं। साथ ही विटामिन यू की कमी को कौन-कौन से खाद्य पदार्थों से पूरा किया जा सकता है, इसके बारे में भी जानें

विटामिन U के लक्षण: Vitamin U ki Kami ke Kya Hota Hai: Vitamin U Deficiency Diseases

विटामिन U की कमी होने पर पाचन से जुड़ी समस्याएं अधिक देखने को मिलती हैं। इसकी कमी से शरीर में लिपिड्स की मात्रा बढ़ सकती हैं। इतना ही नहीं शरीर में विटामिन यू की कमी से अल्सर रोग भी हो सकता है। विटामिन यू की कमी होने पर कब्ज, दस्त, पेट में जलन, जी मिचलाना, उल्टी, पेट में दर्द, वजन बढ़ना या कम होना आदि लक्षण देखने को मिलते हैं। इसके अलावा विटामिन यू कई समस्याओं का भी कारण बन सकता है।

1. पेट  में अल्सर

शरीर में विटामिन यू की कमी पेट के अल्सर का कारण बन सकता है। इसलिए अल्सर से बचने के लिए शरीर में विटामिन यू का पर्याप्त मात्रा में होना जरूरी होता है। अगर किसी व्यक्ति को पेट में अल्सर है, तो उसके लिए विटामिन यू डाइट फायदेमंद होता है। इस स्थिति में पत्तागोभी का सेवन लाभकारी होता है। पत्तागोभी में विटामिन यू मौजूद होता है।

2. घाव भरने में देरी होती है

विटामिन यू शरीर के घाव, चोट या जख्म को जल्दी भरने के लिए जरूरी होता है। शरीर में विटामिन यू की कमी होने पर घाव या चोट को रिकवर होने में अधिक समय लग सकता है। विटामिन यू अंदरूनी चोट के साथ ही बाहरी चोट को भी भरने में सहायक होता है।

इसे भी पढ़ें - इन 4 तरह के लोगों में ज्यादा देखने को मिलती है विटामिन D की कमी, जानें इसे पूरी करने के 9 आसान तरीके

3. त्वचा को सूरज से नुकसान होता है

सेहत के साथ ही त्वचा के लिए भी विटामिन यू जरूरी होता है। विटामिन यू की कमी होने पर त्वचा पर सूरज की हानिकारक किरणों का प्रभाव जल्दी पड़ता है। विटामिन यू से पर्याप्त डाइट लेने से त्वचा को सूरत की हानिकारक किरणों से सुरक्षा मिलती है, त्वचा डैमेज होने से बचती है। 

4. इम्यूनिटी होती है कमजोरी

विटामिन यू की कमी होने से प्रतिरोधक क्षमता की प्रतिक्रिया प्रभावित होती है। यानी इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए विटामिन यू से भरपूर डाइट लेना भी जरूरी होता है। विटामिन यू शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाता है, बीमारियों से लड़ने में हमारी मदद करता है।

विटामिन U के सोर्स (vitamin u sources)

अन्य विटामिन्स की तरह ही विटामिन U भी सेहत के लिए जरूरी होता है। पालक, गोभी, सरसों के पत्ते, ब्रोकली, शतावरी, मूली, शलजम, सेब, केला, अंगूर और खजूर में विटामिन U काफी अच्छी मात्रा में होता है। इसलिए शरीर में विटामिन U की कमी होने पर इन सभी खाद्य पदार्थों (Source of Vitamin U in Hindi) का सेवन जरूर करना चाहिए। वयस्कों को प्रतिदिन करीब 1.5 ग्राम विटामिन U ले सकते हैं।

Disclaimer