मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए वरुण धवन करते हैं Wheel Pose Yoga, जानें करने तरीका और फायदे

योग करना शरीर और मन दोनों के लिए फायदेमंद है। वहीं ऊर्ध्व धनुरासन की बात करें, तो ये थोड़ा कठिन योग है पर शरीर के ग्लैंड्स के लिए अच्छा है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Jun 26, 2020Updated at: Jun 26, 2020
मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए वरुण धवन करते हैं Wheel Pose Yoga, जानें करने तरीका और फायदे

कोरोनावायरस, लॉकडाउन और अन्य चिंताजनक स्थितियों के कारण आज कल हमारे आस पास जो कुछ भी हो रहा है वो हमें मानसिक रूप से परेशान कर रहा है। इन दिनों दुनियाभर कोरोनावायरस के बाद किसी चीज पर चर्चा हो रही है, तो वो है मानसिक स्वास्थ्य। मानसिक स्वास्थ्य को समझना और इसे ठीक रखना कोई आसान बात नही हैं। ये पहेली की तरह है, जिसमें कभी आपको सब कुछ ठीक लगेगा तो कभी सब कुछ गलत। तो ऐसे में जरूरी है कि हम आज से ही अपने मानसिक स्वास्थ्य को गंभीर रूप से लें और इसे ठीक रखने के लिए कोशिश करते रहें। स्वास्थ्य को ठीक रखने से जुड़े जो टर्म सबसे प्रमुख है, पहला डाइट और दूसरा एक्सरसाइज व योग। एक्टर वरुण धवन ने हाल ही में ऊर्ध्व धनुरासन या चक्रासन करते हुए अपना स्टेटस अपडेट किया। बता दें कि ये योग मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए बहुत फायदेमंद है।

insidewheelposeyoga

वरुण द्वारा पोस्ट की गई एक इंस्टाग्राम पोस्ट में, उन्हें उरधवा धनुरासन या चक्रासन या बस व्हील पोज़ के रूप में जाना जाने वाला बैकबेंड योगा पोज़ करते देखा गया। अभिनेता योग शिक्षक मिहिर जोग के साथ प्रशिक्षण ले रहे हैं। इस योग को करने के लिए आपको शरीर में अच्छे लचीलेपन की जरूरत होगी। ऐसा इसलिए क्योंकि इसे करने में आपको पूरे शरीर को मोड़ना होगा ऐसे की आपका ब्लड सर्कुलेशन तंत्रिका तंत्र तक पहुंचेगा। तो आइए जानते हैं इस योग को करने का तरीका।

insidevarundoingyoga

इसे भी पढ़ें : तनाव भरे इस माहौल में आपके मन को शांत करेंगे ये 3 योगासन, ब्लड सर्कुलेशन होगा बेहतर और त्वचा पर आएगी चमक

उरध्व धनुरासन / चक्रासन कैसे करें

  • - अपने पैरों के साथ अपनी पीठ पर फ्लैट लेट जाएं।
  • -अपने शरीर को मोड़ते हुए पैरों को घुटनों से मोड़ें।
  • -अपनी हथेलियों को अपने कंधों के नीचे इस तरह से लाएं कि उंगलियां कंधों की ओर इशारा करें और कोहनियां कंधे की चौड़ाई से अलग हों।
  • - श्वास लें और अपनी हथेलियों को फर्श पर दबाएं। अपने कंधों और कोहनी, और अपने कूल्हों को उठाएं। पैर से फर्श पर दबाए जाएं।
  • - अपने शरीर को ऊपर उठाएं और अपनी रीढ़ को अर्ध-वृत्ताकार आर्च के समान रोल करें।
  • - जितना हो सके अपनी बाहों और पैरों को सीधा करें। प्रारंभिक स्थिति में लौटने से पहले कुछ सेकंड के लिए इस स्थिति में रहें।

उरध्व धनुरासन / चक्रासन के लाभ

यह तीव्र बैकबेंड पोज संचार, तंत्रिका और अंतःस्रावी तंत्र के लिए गति निर्धारित करता है। यह हाथ, कंधे, पैर, छाती और पेट की मांसपेशियों को फैलाता है। यह योग आसन समग्र शक्ति और लचीलेपन में सुधार करता है और ऊर्जा को बढ़ाता है। वहीं इसके कई और फायदें भी हैं जैसे कि 

बॉडी एंड माइंड दोनों को संतुलित करता है

इसे कुछ सेकंड्स प्रैक्टिस करने पर आप उर्जावान महसूस कर सकते हैं।  उर्ध्व धनुरासन का एक नियमित अभ्यास शरीर-मस्तिष्क को एक महत्वपूर्ण और आराम की स्थिति में रखते हुए हार्मोनल रिलीज को बढ़ाता है।

इसे भी पढ़ें : खुश रहने का मूल मंत्र है प्राण योग, जानें प्राण मुद्रा करने की विधि और फायदे

स्पाइन को लंबा करता है

लगातार बैठने और खराब पोस्टुरल तरीकों के कारण हमारी स्पाइन को काफी नुकसान उठाना पड़ता है। इसके अलावा, बढ़ती हुई उम्र के साथ रीढ़ को संकुचित करता है। उर्ध्व धनुरासन एक प्रभावी योगिक उपकरण है, जो रीढ़ को लंबा करता है और रीढ़ को स्वस्थ और मजबूत बनाए रखने में हमारी मदद करता है।

थायरॉयड और पिट्यूटरी को उत्तेजित करता है

जैविक रूप से, थायराइड ग्रंथियां शरीर में हार्मोन को रिलीज करती हैं, जो शरीर की कोशिकाओं के कुशल कार्य के लिए जिम्मेदार होते हैं। उर्ध्व धनुरासन एक व्यायाम है जो थायरॉयड और पिट्यूटरी ग्रंथियों को उत्तेजित करता है, जिससे उन्हें ठीक से काम करने में मदद मिलती है, जो बदले में, मानव शरीर प्रणाली की देखभाल करता है।

Read more articles on Yoga in Hindi

Disclaimer