आलू और कोकोबटर से पाएं कील-मुंहासों के दाग से छुटकारा, जानें किन कारणों से होते हैं चेहरे पर दाग-धब्बे

कील-मुंहासे के दाग-धब्बे काफी परेशानी करने वाले होते हैं। इन दाग-धब्बों से राहत पाने के लिए आप घरेलू उपायों का सहारा ले सकते हैं। 

Kishori Mishra
Written by: Kishori MishraPublished at: Apr 06, 2021Updated at: Apr 06, 2021
आलू और कोकोबटर से पाएं कील-मुंहासों के दाग से छुटकारा, जानें किन कारणों से होते हैं चेहरे पर दाग-धब्बे

महिला हो या फिर पुरुष, कील-मुंहासों से परेशानी हर किसी को होती है। हम में से कोई भी नहीं चाहता है कि हमारे चेहरे पर पिंपल्स या फिर दाग-धब्बो हों। इसलिए इन पिंपल्स से छुटकारा पाने के लिए हम कई तरह की चीजों का इस्तेमाल करते हैं। एक्सपर्ट के अनुसार, अगर पिंपल्स के दाग को अगर आप सही समय पर नहीं हटाते हैं, तो यह आपके चेहरे पर हमेशा के लिए बना रह जाता है। इसलिए कोशिश करें कि पिंपल्स के साथ-साथ उसके दाग को भी हटाएं। पिंपल्स की परेशानी किसी भी टाइप की स्किन वाले लोगों को हो सकती है। लेकिन तेलीय स्किन वालों की पिंपल्स ज्यादा होता है। आज हम आपको इस लेख के जरिए कुछ ऐसे उपाय बताएंगे, जिससे आप कील-मुंहासों के साथ-साथ इसके दाग से भी छुटकारा पा सकते हैं।

किन कारणों से होते हैं कील-मुंहासों के दाग (Causes of Acne Scars)

स्किन पर मुंहासे दो तरह के होते हैं, नॉन-इंफ्लेमेटरी और इंफ्लेमेटरी। ब्लैकहेड्स और वाइटहेड्स नॉन-इंफ्लेमेटरी मुंहासे हैं। वहीं, पस्ट्यूल, पैप्युल्स, नोड्यूल और सिस्ट जैसे मुंहासे इंफ्लेमेटरी होते हैं। इंफ्लेमेटरी वाले मुंहासों से दाग होने का डर अधिक रहता है। स्किन पर इंफ्लेमेटरी (सूजन वाले मुंहासे) तब होते हैं, जब आपकी स्किन के रो छिद्र में काफी ज्यादा तेल, गंदगी और मृत कोशिकाओं एकत्रित होकर बंद हो जाती हैं। इसके कारण स्किन के उस हिस्से की रोम छिद्र सूजने लगती है। इस तरह के मुंहासों से स्किन पर दाग होने की संभावना काफी ज्यादा हो जाती है। आइए जानते हैं इन कील-मुंहासों के दाग से छुटकारा पाने के उपाय क्या हैं?

इसे भी पढ़ें- स्ट्रॉबेरी और शहद स्क्रब के इस्तेमाल से ब्लैकहेड्स की समस्या से पाएं छुटकारा, जानिएं इस्तेमाल करने का तरीका

कोको-बटर से कील-मुंहासे के दाग करें दूर

आवश्यक सामाग्री

  • कोको बटर

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सोने से पहले कोटो बटर को अपने पूरे चेहरे पर लगाएं।
  • आप चाहें, तो सिर्फ दाग पर ही इस बटर को लगा सकते हैं। 
  • रातभर कोकोबटर को चेहरे पर लगा हुआ छोड़ दें।
  • इसके बाद सुबह नॉर्मल पानी से अपने चेहरे को साफ कर लें। 
  • आप चाहें, तो नियमित रूप से कोकोबटर को अपने चेहरे पर लगा सकते हैं।

कोकोबटर के फायदे? 

कोको बटर त्वचा को मॉश्चराइजिंग प्रदान करता है और दाग वाले टिशू को मुलायम या हल्का कर सकता है (14)। यह आपकी त्वचा की रंगत को भी निखारता है और दाग-धब्बों को कम भी करता है।

कील-मुंहासों के लिए आलू का करें इस्तेमाल

आवश्यक सामाग्री

  • आलू- कुचला हुआ
  • रुई

इस्तेमाल करने का तरीका

  • सबसे पहले आलू को अच्छी तरह से कुचलकर उसका रस निकाल लें।
  • इसके बाद इस रस को रुई में डुबोकर अपने पूरे चेहरे पर लगाएं।
  • अगर आप चाहें, तो सिर्फ पिंपल्स के दाग पर ही इस रस का इस्तेमाल कर सकते हैं।
  • इसके बाद करीब 20 मिनट के लिए इसे लगा हुआ छोड़ दें।
  • 20 मिनट बाद अपने चेहरो को पानी से साफ कर लें।
  • आप चाहें, तो हर रोज इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। इससे कील-मुंहासों के दाग से जल्द राहत मिलेगा।

आलू का रस कैसे है फायदेमंद?

चेहरे की रंगत को निखारने में आलू का रस काफी फायदेमंद हो सकता है। आलू में मौजूद खारेपन की वजह से इसके इस्तेमाल से कील-मुंहासों के दाग-धब्बे दूर हो सकते हैं।

Read More Articles on Skin Care in Hindi

Disclaimer