जोड़ों के दर्द का कारण हो सकता है गठिया, जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

बुढ़ापे की बीमारी कही जाने वाली अर्थराइटिस अब जवानी में ही लोगों को होने लगी है। अर्थराइटिस फाउंडेशन ऑफ इंडिया की लखनऊ शाखा के आंकड़ों के मुताबिक यह ब

Vishal Singh
Written by: Vishal SinghUpdated at: May 20, 2020 12:04 IST
जोड़ों के दर्द का कारण हो सकता है गठिया, जानें इसके लक्षण और बचाव के तरीके

आजकल बदलती जीवनशैली और अनियमित खानपान के कारण गठिया एक आम समस्या बन गई है, बुजुर्ग ही नहीं बल्कि जवान भी इसकी चपेट में आ रहे हैं। पुरुषों की तुलना में महिलाओं में और अधिक वजन वाले लोगों में गठिया अधिक आम है। यह कई जोड़ों को प्रभावित कर सकता है। गठिया के लक्षण आमतौर पर समय के साथ विकसित होते हैं, लेकिन अगर आप सोचते हैं कि गठिया यानी अर्थराइटिस के लक्षण अचानक भी दिखाई दे सकते हैं। इसको आप पहले तभी पहचान सकते हैं जब आपको इसके लक्षण और इसके बारे में पूरी जानकारी होगी।

pain

आर्थराइटिस के कारण (Causes Of Arthritis) 

कार्टिलेज जोड़ों में एक फर्म है लेकिन लचीला संयोजी टिश्यू है। जब आप चलते हैं तो दबाव और झटके को संभाले रखकर जोड़ों की रक्षा करते हैं और उन पर तनाव डालते हैं। अगर टिश्यू की सामान्य मात्रा मौजूद नहीं है या कम हो गई है, तो व्यक्ति के किसी भी प्रकार के गठिया होने का खतरा ज्यादा होता है। महिलाओं में इसकी समस्या शरीर में एस्ट्रोजन की कमी और थाइराइड का कारण है।

आर्थराइटिस के लक्षण (Symptoms Of Arthritis)

  • जोड़ों का दर्द।
  • जकड़न और सूजन।
  • प्रभाविित हिस्से के आसपास की त्वचा की लालिमा होना।
  • अचानक घुटने या अन्य जोड़ में दर्द होना।
  • गर्दन और कमर के नीचे दर्द बना रहना। 

इसे भी पढ़ें: कमर में दर्द रहने की वजह है कमजोर रीढ़ की हड्डी, जानें क्‍या है कमजोरी का कारण

गठिया के प्रकार (Types Of Arthritis)

ऑस्टियोआर्थराइटिस: वैसे तो उम्र के साथ कई तरह के अर्थराइटिस के प्रकार देखने को मिल सकते हैं लेकिन यह गठिया का सबसे आम प्रकार है जो काफी जल्दी किसी को भी अपना शिकार बना सकता है। 

इन्फेक्शस आर्थराइटिस: ये एक अलग प्रकार का इंफेक्शस अर्थराइटिस है जो एक हिस्से से दूसरे हिस्से में फैलने में सक्षम रहता है। 

जुवेनाइल अर्थराइटिस: जुवेनाइल आर्थराइटिस गठिया का वो प्रकार है जो बच्चों को अपनी चपेट में लेता है। ये प्रकार सिर्फ बच्चों में देखा जाता है, इसका इलाज काफी आसान है और जल्द स्वस्थ होने में मदद मिलती है।

गाउट: जब शरीर के अंदर यूरिक एसिड का एक अतिरिक्त निर्माण होता है, तो यह गाउट की ओर जाता है। यह आमतौर पर पैर की उंगलियों में होती है। आर्थराइटिस को ठीक नहीं किया जा सकता है लेकिन कई उपचार उपलब्ध हैं जो दर्द को आसानी से दूर कर सकते हैं।

गठिया का निदान कैसे किया जाता है (How Is Arthritis Diagnosed)

अगर आपको इससे जुड़े सभी लक्षण नजर आ रहे हैं तो आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क कर इससे संबंधित जांच करानी चाहिए। आपकी जांच के दौरान ये पता चल सकेगा कि आपको किस तरह का गठिया है जिससे कि डॉक्टर आपका इलाज आसान तरीके और जल्द से जल्द कर सके। डॉक्टर आमतौर पर आपकी हड्डियों और उपास्थि की एक छवि बनाने के लिए एक्स-रे, एमआरआई और सीटी स्कैन जैसे इमेजिंग स्कैन का इस्तेमाल करते हैं। ऐसा इसलिए है कि वे आपके लक्षणों के अन्य कारणों, जैसे कि हड्डी के स्पर्स, पर काम कर सके। 

इसे भी पढ़ें: लगातार होने वाले जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए 'हरसिंगार' है फायदेमंद, जानें इसका इस्तेमाल करने का तरीका

बचाव (Prevention)

  • नियमित रूप से एक्सरसाइज करनी चाहिए। 
  • अपने आपको हमेशा एक एक्टिव लाइफ्टाइल।
  • भरपूर मात्रा में सभी पोषक तत्वों वाली डाइट का सेवन करें। 
  • अपना वजन ज्यादा न बढ़ने दे।  
Read more articles on Home-Remedies in Hindi
Disclaimer