Doctor Verified

कब्ज दूर करने के लिए बनाएं त्रिफला चूर्ण, जानें सेवन का तरीका

Constipation Treatment: कब्‍ज का इलाज करने के ल‍िए आप त्र‍िफला चूर्ण का सेवन करें। जानें फायदे और सेवन का तरीका। 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Sep 01, 2022Updated at: Sep 01, 2022
कब्ज दूर करने के लिए बनाएं त्रिफला चूर्ण, जानें सेवन का तरीका

त्र‍िफला एक आयुर्वेद‍िक औषधी है। इसे कब्‍ज दूर करने के ल‍िए इस्‍तेमाल कर सकते हैं। रात को सोने से पहले आप 5 ग्राम त्र‍िफला चूर्ण का सेवन कर सकते हैं। त्र‍िफला चूर्ण को पानी या दूध के साथ ले सकते हैं। त्र‍िफला में व‍िटाम‍िन सी पाया जाता है। त्र‍िफला चूर्ण लेने से इम्‍यून‍िटी बढ़ती है और कफ व एलर्जी से छुटकारा म‍िलता है। इस लेख में हम त्र‍िफला चूर्ण को कब्‍ज में खाने का तरीका और फायदे जानेंगे। इस व‍िषय पर बेहतर जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के व‍िकास नगर में स्‍थित प्रांजल आयुर्वेद‍िक क्‍लीन‍िक के डॉ मनीष स‍िंह से बात की। 

triphala churna uses

त्र‍िफला चूर्ण के फायदे

  • त्र‍िफला चूर्ण का सेवन करने से मेटाबॉलि‍ज्‍म अच्‍छा होता है। 
  • त्र‍िफला चूर्ण लेने से वजन कम करने में मदद म‍िलती है। त्र‍ि‍फला चूर्ण को गुनगुने पानी के साथ लेना फायदेमंद होता है।
  • त्र‍िफला से बने चूर्ण का सेवन करने से पेट में दर्द और गैस की समस्‍या दूर होती है। 

त्र‍िफला चूर्ण बनाने का तरीका  

  • आंवला, बहेड़ा और हरड़ को 3 से 4 द‍िन के ल‍िए धूप में रखकर सुखा लें।
  • फलों के टुकड़ों को काट लें और उसे पीस लें।
  • पीसने से पहले कढ़ाई में भून लें।
  • इस म‍िश्रण को कंटेनर में रखें। 

इसे भी पढ़ें- अगर कब्ज से पाना चाहते हैं छुटकारा तो ट्राई करें ये 5 आसान टिप्स, जल्द होगी समस्या दूर

त्र‍िफला चूर्ण और गुड़

त्र‍िफला चूर्ण और गुड़ का सेवन करने से भी कब्‍ज की समस्‍या दूर होती है। 2 चम्‍मच गुड़ को घ‍िसकर कटोरी में डालें और उसमें त्र‍िफला चूर्ण म‍िला लें। इसका सेवन द‍िन में 2 बार कर सकते हैं।   

त्र‍िफला चूर्ण और शहद 

कब्‍ज की समस्‍या दूर करने के ल‍िए त्र‍िफला चूर्ण का सेवन शहद के साथ करें। शहद को हल्‍का गरम कर लें। और उसमें त्र‍िफला चूर्ण म‍िलाकर उंगली में लेकर जीभ पर रखें। इस म‍िश्रण का अर्क पेट में जाने से कब्‍ज से राहत म‍िलेगी।       

त्र‍िफला चूर्ण की चाय 

त्र‍िफला चूर्ण की चाय बनाकर भी पी सकते हैं। इससे कब्‍ज की समस्‍या दूर होती है। त्र‍िफला चूर्ण की चाय बनाने के ल‍िए पानी में चूर्ण डालकर उबालें। जब पानी में एक उबाल आ जाए, तो उसमें इलायची और चाय पत्ती म‍िलाएं और आधे घंटे बाद चाय को छानकर प‍िएं।       

त्र‍िफला चूर्ण का काढ़ा 

त्र‍िफला चूर्ण का काढ़ा बनाकर सेवन करें। काढ़ा बनाने के ल‍िए पानी को गरम करें और उसमें त्र‍िफला चूर्ण म‍िलाएं। जब पानी गाढ़ा हो जाए, तो उसमें शहद और नींबू का रस म‍िलाकर प‍िएं। त्र‍िफला चूर्ण का काढ़ा पीने से कब्‍ज, खांसी जैसी समस्‍या दूर होती है।    

त्र‍िफला और अजवाइन 

त्र‍िफला चूर्ण और अजवाइन का सेवन करने से भी कब्‍ज की समस्‍या दूर होती है। कढ़ाई या तवे में त्र‍िफला चूर्ण और अजवाइन डालकर भून लें। इस म‍िश्रण को गुनगुने पानी के साथ लें। इस उपाय से कब्‍ज और पेट में दर्द ठीक हो जाएगा।     

क‍िसी गंभीर बीमारी के मरीज हैं, तो डॉक्‍टर की सलाह पर ही त्र‍िफला चूर्ण का सेवन करें। 6 साल से कम उम्र के बच्‍चों को त्रि‍फला चूर्ण न दें।         

Disclaimer