तनाव (स्ट्रेस) दूर करने के लिए रोज करें त्रिकोणासन, जानें इसके फायदे और करने का तरीका

त्रिकोणासन शरीर को बहुत से लाभ देता है। यदि आप तनाव मुक्त रहना चाहते हैं तो यह आसन आपके लिए बेस्ट हो सकता है।

Monika Agarwal
योगाWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 28, 2022Updated at: May 30, 2022
तनाव (स्ट्रेस) दूर करने के लिए रोज करें त्रिकोणासन, जानें इसके फायदे और करने का तरीका

आजकल हम व्यक्ति किसी-न-किसी वजह से तनाव से जूझ रहता है। लंबे समय तक तनाव में रहना एंग्जाइटी, डिप्रेशन का कारण बन सकता है। ऐसे में समय रहने तनाव को दूर करना जरूरी होता है। अगर आप तनावमुक्त रहना चाहते हैं, अपने मन और दिमाग की एकाग्रता को भी बढ़ाना चाहते हैं त योग का सहारा ले सकते हैं। आज हम एक ऐसे योगासन के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसे करके आप अपने स्ट्रेस लेवल को काफी हद तक कम कर सकते हैं। यह है त्रिकोणासन।

त्रिकोणासन को ट्राइएंगल पोज के नाम से भी जाना जाता है। एक ऐसा आसन है, जिसमें शरीर एक त्रिकोण के समान नजर आता है। यह आसन एक स्टैंडिंग पोज है, जो मांसपेशियों और हेमस्ट्रिंग, हिप को काफी मजबूत बनाता है। इससे कंधे भी खुलते है और पिंडली, पैर टोन होते हैं। 

चलिए विस्तार से जानते हैं त्रिकोणासन करने के तरीका और फायदे- 

stress

त्रिकोणासन करने का तरीका

  • त्रिकोणासन करने के लिए सबसे पहले ताड़ासन की अवस्था में आ जाएं। 
  • इस दौरान अपने पैरों के बीच दूरी बनाकर रखें। 
  • अब अपनी बाजुओं को खोल दें, अपनी हथेलियों को जमीन की तरफ रखें। 
  • अगर दाईं तरफ से शुरू कर रहे हैं, तो आपका दायां पैर मैट के कोने पर 90 डिग्री के एंगल पर होना चाहिए।
  • इसके बाद साइड में झुकें।
  • एक लंबी सांस लें और जैसे ही आप शरीर को हिप ज्वाइंट की ओर झुकाते हैं तो सांस छोड़ दें। 
  • अब दाएं पैर को दाईं तरफ खोलें। 
  • अपनी दाईं बाजू को दाएं पैर की ओर लेकर जाएं और दाईं एड़ी को पकड़ने की कोशिश करें। 
  • इसके बाद बाएं बाजू को शरीर के ऊपर खोल लें।  
  • इस समय आपके हाथ से एक सीधी रेखा बननी चाहिए।
  • इसी अवस्था में कुछ देर रुकें और फिर बाएं पैर के साथ ऐसा करें। आप इस प्रक्रिया को 3-5 बार दोहरा सकते हैं। 

त्रिकोणासन से मिलने वाले फायदे 

स्ट्रेस कम करे

इस आसन को करने से निचले शरीर अधिक लाभ मिलता है। इसे करने से स्ट्रेस कम होता है और चिंता दूर होती है। इस आसान को करने से मानसिक सेहत में भी सुधार होता है।

स्टेबिलिटी बढ़ाए 

यह आसन आपकी कोर मसल्स को एक्टिवेट करता है, जिससे आपका शरीर अच्छे से संतुलन में आ पाता है। इस आसन को करने से आपका शरीर स्टेबल और स्थिर भी बनता है। इस योगासन को रोजाना करने से बॉडी की स्टेबिलिटी बढ़ती है।

इसे भी पढ़ें- शरीर में कोलेस्ट्रॉल का लेवल कम करने के लिए करें इन 4 योगासनों का अभ्यास, जानें तरीका

stress

रीढ़ को स्ट्रेच करे

इस आसन को करने से रीढ़ की हड्डी से अकड़न खत्म हो जाती है और कमर दर्द में भी राहत मिलती है। यह कमर को स्ट्रेच करता है जिससे कमर फ्लेक्सिबल बनती है।

हिप्स और कंधों के लिए फायदेमंद 

यह आसन हिप्स और कंधों को पूरी तरह से खुलने में और लचक बढ़ाने में मदद करता है। इस आसन को दोनों साइड से करें ताकि राइट और लेफ्ट दोनों हिप्स और कंधों को एक समान लाभ मिल पाए।

ऑर्गन को स्टिमुलेट करे 

यह आसन कोर मसल को एक्टिवेट करता है। इससे ऊपरी शरीर भी एक्टिवेट होता है जिससे पाचन अंग ठीक होते हैं। इस आसन को करने से आपका पाचन तंत्र भी बढ़िया रूप से काम करता है।

इन टिप्स को करें फॉलो 

त्रिकोणासन के दौरान सावधानियां

यदि आप हाई ब्लड प्रेशर के मरीज हैं या स्लिप डिस्क की परेशानी है तो इस आसन को करने से बचें। इसके अलावा पीठ दर्द, कमर दर्द और वर्टिगो की समस्या होने पर भी इस आसन को करने से बचना चाहिए।

यह आसन आपके शरीर की लचक और स्थिरता के लिए काफी लाभदायक होता है। इस आसन को रोजाना करने से आपकी मानसिक सेहत भी सही रहती है और आप चिंता और स्ट्रेस से भी इसे करने से मुक्ति पा सकते हैं। इसे 10 से 15 मिनट के लिए रोजाना ट्राई कर सकते हैं। लेकिन किसी भी प्रकार की कसरत या आसन को करने से पहले एक बार एक्सपर्ट की सलाह जरूर लेनी चाहिए।

Disclaimer