Doctor Verified

इन वजहों से आ सकता है स्ट्रोक, एक्सपर्ट से जानें बचाव का तरीका

Brain Stroke: विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनियाभर में हर साल लगभग 15 मिलियन से ज्यादा लोग ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आते हैं। 

Ashu Kumar Das
Written by: Ashu Kumar DasUpdated at: Jan 23, 2023 11:41 IST
इन वजहों से आ सकता है स्ट्रोक, एक्सपर्ट से जानें बचाव का तरीका

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Brain Stroke: देशभर में इन दिनों ब्रेन स्ट्रोक के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। दिमाग में होने वाला स्ट्रोक बहुत ही गंभीर बीमारी है। एक बार ब्रेन स्ट्रोक का स्वास्थ्य पर प्रभाव लंबे समय तक बना रहता है और कई बार ये बहुत सारी बीमारियों का भी कारण बन सकता है। ब्रेन स्ट्रोक के दौरान हमारे दिमाग के कुछ हिस्से क्षतिग्रस्त हो जाते हैं। कई बार ये विकलांगता और मौत का कारण भी बन सकता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक दुनियाभर में हर साल लगभग 15 मिलियन से ज्यादा लोग ब्रेन स्ट्रोक की चपेट में आते हैं। इस खतरनाक बीमारी से हर साल 5 मिलियन से ज्यादा मरीजों की मौत हो जाती है। ब्रेन स्ट्रोक किन कारणों से होता है और इससे कैसे बचाव किया जा सकता है इसके बारे में दिल्ली स्थित एम्स की न्यूरोलॉजी विभाग की डीएम डॉ. प्रियंका सहरावत ने जानकारी दी है।

डॉ. प्रियंका सहरावत, MD Med, DM न्यूरोलॉजी (एम्स दिल्ली) का कहना है कि स्ट्रोक हमारे देश में उभरती हुई सबसे बड़ी हेल्थ इमरजेंसी कंडीशन है। डॉक्टर का कहना है कि जागरूकता में कमी के कारण भारत में ब्रेन स्ट्रोक के मामलों में बढ़ती जा रही है। उनका कहना है कि वक्त रहते ब्रेन स्ट्रोक के लक्षणों को ध्यान में रखा जाए तो  इससे बचाव किया जा सकता है। 

 

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में क्यों होती है बार-बार फूड क्रेविंग, जानें इसके नुकसान

Brain Stroke Symptoms

ब्रेन स्ट्रोक के लक्षण - Brain Stroke Symptoms

 ब्रेन स्ट्रोक से पहले किसी व्यक्ति में निम्नलिखित लक्षण दिखाई देते हैंः

 1. अचानक हाथ और पैर का सुन्न पड़ना या कमजोरी महसूस होना।

 2.अचानक भ्रम, समझने या बोलने में परेशानी। 

 3. दोनों या एक आंख में देखने में अचानक परेशानी होना। 

 4. बिना किसी कारण सिर में दर्द या आंखों के ऊपरी वाले हिस्से पर दर्द महसूस होना।

इन कारणों से हो सकता है ब्रेन स्ट्रोक

ब्लड शुगर का लेवल हाई होना

डॉक्टर प्रियंका का कहना है कि शरीर का ब्लड शुगर लेवल बढ़ने से ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कई गुणा बढ़ जाता है। दरअसल खून में शुगर ज्यादा बढ़ने से धमनियां डैमेज हो जाती हैं और दिमाग की नसों को प्रभावित करती हैं।

मोटापा

शरीर में एक्सट्रा फैट जमा होना न सिर्फ एक्टिविटी को प्रभावित करता है बल्कि ये खून की नसों को भी सिकुड़ देता है। मोटापे की वजह से खून की नसे सिकुड़ने के कारण भी ब्रेन स्ट्रोक का खतरा कई गुणा बढ़ जाता है।

इसे भी पढ़ेंः सर्दियों में अक्सर रहती है कब्ज की समस्या? इन घरेलू उपायों से पाएं छुटकारा

कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ना

शरीर में बैड कोलेस्ट्रॉल लेवल बढ़ने के कारण हार्ट अटैक और स्ट्रोक का खतरा कई गुना तक बढ़ जाता है। दरअसल बैड कोलेस्ट्रॉल खून की नली को ब्लॉक कर देता है, जिसका सीधा असर दिमाग पर पड़ता है। 

उम्र

बढ़ती उम्र के साथ स्ट्रोक की संभावना ज्यादा होती जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक हर साल 10 में से 1 ब्रेन स्ट्रोक का केस उम्र के ज्यादा होने की वजह से होता है।

स्ट्रोक से बचाव कैसे करें

स्ट्रोक या किसी भी खतरनाक बीमारी से बचने का सबसे अच्छा उपाय लाइफस्टाइल में बदलाव माना जाता है। संतुलित भोजन और एक्सरसाइज करके आप स्ट्रोक से बचाव करने में मदद कर सकते हैं। 

With Inputs Dr. Priyanka Sehrawat, MD Med, DM Neurology, AIIMS Delhi

Pic Credit: Freepik.com

 
Disclaimer