Workout Tips: वर्कआउट के दौरान जी मिचलाने और चक्‍कर आने से बचना है, तो कभी न करें ये 5 काम

वर्कआउट के दौरान जी मिचलाने से बचना है, तो आप इन जरूरी बातों का ध्‍यान रखें। ताकि आपको चक्‍कर, उल्‍ठी और अन्‍य स्‍वास्‍थ्‍य समस्‍याओं से न जूझना पड़े।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Jan 13, 2020
Workout Tips: वर्कआउट के दौरान जी मिचलाने और चक्‍कर आने से बचना है, तो कभी न करें ये 5 काम

इस बात से इनकार नहीं किया जा सकता कि व्यायाम करने से आपको शारीरिक, मानसिक और भावनात्मक रूप से लाभ मिलता है। लेकिन सभी वर्कआउट हर बॉडी टाइप पर शूट नहीं होते हैं और यह शरीर को ऐसे संकेत भेजता रहता है, जिन्हें नजरअंदाज नहीं किया जाना चाहिए। ऐसा एक संकेत वर्कआउट के बाद उल्‍टी, जी मिचलाना या मतली महसूस करना भी है, जो बहुत आम है। यह अधिकतर हैवी एक्‍सरसाइज के दुष्प्रभावों में से एक है। यह उन लोगों में अधिक आम है, जो नियमित रूप से व्यायाम नहीं करते हैं या अचानक शुरुआत करते हैं। आइए हम यहां आपको बताते हैं कि वर्कआउट के बाद मतली न हो, उसके लिए क्‍या करें और क्‍या नहीं। 

Nausea

एक्‍सरसाइज अचानक शुरू मत करो

जब भी आप एक्‍सरसाइज करते हैं, तो उससे पहले वार्म-अप और स्ट्रेचिंग दो सबसे महत्वपूर्ण गतिविधियाँ हैं, जिन्हें एक ट्रेडमिल या वेट लिफ्टिंग से पहले करना चाहिए। क्योंकि यह चोट से बचने के लिए आपके हार्ट रेट को लक्ष्य क्षेत्र से बाहर निकाल देता है। आपको अपनी एक्‍सरसाइज को बीच में अचानक शुरू करने या रोकने से भी बचने की जरूरत है क्योंकि इससे आपको चक्‍कर और जी मिचलाना जैसी समस्‍याएं हो सकती हैं।

वर्कआउट के दौरान खाना-पीना

आमतौर पर फिटनेस ट्रेनर यही सलाह देते हैं कि वर्कआउट से पहले या वर्कआउट के दौरान खाना या पानी पीना छोड़ दें। जब आप वर्कआउट कर रहे होते हैं, तो हमारे जीआई ट्रैक्ट और पेट में रक्त बह जाता है। यदि आप वर्कआउट करने के तुरंत खा लेते हैं, तो जीआई ट्रैक में प्रवाह की कमी डिहाइड्रेशन का कारण बनता है। इससे मतली या चक्कर आ सकते हैं और आप वास्तव में बीमार पड़ सकते हैं। इसीलिए खाना खाने के बाद एक्‍सरसाइज न करने की सलाह दी जाती है। इसके अलावा, आप एक्‍सरसाइज करने से कम से कम 2 घंटे पहले भोजन करना चाहिए और जिम जाने से पहले हाइड्रेटेड रहना चाहिए।

Don't Eat During Workout

इसे भी पढें: शरीर के लचीलेपन और मसल्‍स स्‍ट्रेस को कम करने मे मददगार है स्‍ट्रेचिंग, जानें कब और कितना करना है सही

एक्‍सरसाइज का प्रकार

HIT या जंपिंग वर्कआउट जैसे कि रनिंग या ज़ुम्बा आसानी से मिचली का कारण बन सकते हैं। इसलिए यह सलाह दी जाती है कि यदि कोई व्यक्ति लगातार असुविधा महसूस करता है, तो उसे अपने एक्‍सरसाइज के पैर्टन में थोड़ा सा बदलाव लाना ही बेहतर परिणाम दिखा सकता है।

गर्मी में व्यायाम करना

यह आपके पसीने को बाहर निकालने के लिए अच्छा है, लेकिन बेहद गर्म मौसम में वर्कआउट करना आपको डिहाइड्रेट कर सकता है। ऐसे में यदि आप ज्‍यादा गर्मी में वर्कआउट कर रहे हैं, तो पानी ले जाना सुनिश्चित करें और अपने पूरे कसरत में छोटे घूंट के साथ खुद को हाइड्रेट रखें। इसके अलावा, यदि आप हॉट योगा जैसी कसरत कर रहे हैं, तो ध्‍यान रखें यदि आप असहज महसूस कर रहे हैं, तो उसे करना बंद कर दें। 

Heavy Workout

इसे भी पढें: पीठ दर्द से लेकर सही पोश्‍चर के लिए जरूरी है कोर फिटनेस, जानें इसके 5 फायदे

कठिन और हैवी एक्‍सरसाइज 

जब आप एक्‍सरसाइज को पहली बार कर रहे होते हैं या अपने शरीर को तैयार नहीं करते हैं, तो आप खुद को बहुत मुश्किल महसूस कर सकते हैं। चाहे आप सिर्फ शुरुआत कर रहे हों या पूरे हफ्ते वर्कआउट कर रहे हों। आप हमेशा अपनी गति से करें। इसका मतलब यह नहीं है कि आप अपने आप को एक नए स्तर तक पहुंचने के लिए पुश न करें। लेकिन इसे ध्यान से करें। एक्‍सपर्ट की सलाह के साथ हैवी एक्‍सरसाइज करें। क्‍योंकि कई बार कठिन एक्‍सरसाइज आपकी मतली ही का ही नहीं, बल्कि चोट और तनावपूर्ण मांसपेशियों के साथ जोड़ों सहित कई समस्‍याओं को पैदा कर सकता है। 

Read More Article On Exercise and Fitness In Hindi 

Disclaimer