जन्म के बाद पहला गर्म मौसम शिशु के लिए ला सकता है कई परेशानियां, जानें कैसे रखें उसका खयाल

जन्म के बाद पहला गर्म मौसम शिशु के लिए परेशानियों का कारण बन सकता है, जानें उसका खयाल क‍िस तरह से रखना चाह‍िए 

Yashaswi Mathur
Written by: Yashaswi MathurPublished at: Jun 30, 2021Updated at: Jun 30, 2021
जन्म के बाद पहला गर्म मौसम शिशु के लिए ला सकता है कई परेशानियां, जानें कैसे रखें उसका खयाल

जन्म के बाद ये आपके श‍िशु का पहला गर्म मौसम है तो ये उसके और आपके ल‍िए चुनौतीपूर्ण हो सकता है। गरम मौसम में श‍िशुओं के व्‍यवहार में बदलाव आता है, उनकी स्‍क‍िन पर गरम मौसम का असर हो सकता है या स्‍वास्‍थ्‍य ब‍िगड़ सकता है आद‍ि। श‍िशु के पहले गरम मौसम में उसका खयाल कैसे रखें? आप बच्‍चे को हाइड्रेट रखें, उसे ज्‍यादा कपड़े पहनाने से बचें। अगर आपका बच्‍चा छह महीने या उससे कम उम्र का है तो बच्‍चे को हाइड्रेट रखने के ल‍िए केवल मां का दूध प‍िलाएं। गरम मौसम में बच्‍चे को डायपर केवल ज्‍यादा जरूरी होने पर पहनाएं और पहनाना भी है तो प्‍लास्‍ट‍िक डायपर की जगह कॉटन के नैपी इस्‍तेमाल करें। इसके अलावा बच्‍चे को क‍िसी कारण बाहर ले जा रहे हैं तो उसका स‍िर ढककर रखें और छाते या कैप का इस्‍तेमाल करें। इस व‍िषय पर ज्‍यादा जानकारी के ल‍िए हमने लखनऊ के डफ‍र‍िन अस्‍पताल के वर‍िष्‍ठ बालरोग व‍िशेषज्ञ डॉ सलमान खान से बात की।

avoid diapers for babies

1. गरम मौसम में श‍िशु को डाइपर न पहनाएं (Avoid diapers specially in hot weather for infants)

गरम मौसम में बच्‍चे को डाइपर न पहनाएं, डायपर से रैशेज हो सकते हैं। बाजार में म‍िलने वाले डायपर ज्‍यादातर प्‍लास्‍ट‍िक मटेर‍ियल के होते हैं आप उसकी जगह बच्‍चे को कॉटन नैपी पहना सकते हैं। इससे गरम मौसम में गीला होने पर बच्‍चे को रैशेज होने की आशंका कम होगी। गरम मौसम में बच्‍चे की नैपी बार-बार बदलने से ह‍िचक‍िचाएं नहीं, ऐसा करना बच्‍चे की त्‍वचा के ल‍िए हेल्‍दी होगा। 

2. बच्‍चे को गरम मौसम में ज्‍यादा कपड़े पहनाने से बचें (Avoid overdressing baby in hot weather)

बच्‍चे को गरम मौसम में हद से ज्‍यादा कपड़े न पहनाएं। कुछ लोगों को लगता है बच्‍चे को ठंड लगती है और वो बच्‍चे को ज्‍यादा कपड़े पहनाकर रखते हैं पर बच्‍चे के शरीर का तापमान आपसे ज्‍यादा होता है इसल‍िए उसे ज्‍यादा कपड़े पहनाने से बचें। गरम मौसम से बच्‍चे सुस्‍त हो जाते हैं इसल‍िए आपको उनके वातावरण को ज्‍यादा गरम नहीं रखना है।

इसे भी पढ़ें- बच्चे की पॉटी के रंग से जानें उनकी सेहत का हाल, डॉक्टर से जानें बेबी स्टूल से जुड़ी जरूरी बातें

3. श‍िशु को गरम मौसम में हाइड्रेट रखें (Hydrate your baby in hot weather)

make baby hydrated in hot weather

बच्‍चे को गरम मौसम में हाइड्रेट रखें। आप बच्‍चे को पानी के अलावा नार‍ियल पानी, सादी छाछ, संतरे का रस आद‍ि प‍िला सकते हैं। बच्‍चे को कुछ भी प‍िलाने के कुछ देर बाद चेक कर लें क‍ि कहीं बच्‍चा नैपी गीला न कर दे, गरम मौसम में इंफेक्‍शन जल्‍दी फैलता है इसल‍िए थोड़ी-थोड़ी देर में बच्‍चे को चेक करते रहें। अगर बच्‍चा छह महीने का है या उससे छोटा है तो उसके ल‍िए मां का दूध ही काफी है। आपको बच्‍चे को हाइड्रेट रखने के ल‍िए छह महीनों तक केवल मां का दूध ही प‍िलाना है।

इसे भी पढ़ें- ज्यादातर बच्चों की त्वचा पर क्यों दिखते हैं जन्मजात निशान (बर्थमार्क)? डॉक्टर से जानें इसके बारे में सबकुछ

4. श‍िशु को गरम मौसम में बाहर ले जाना अवॉइड करें (Avoid taking baby out in hot weather)

बच्‍चे को दोपहर में बाहर ले जाने की गलती न करें, गरम मौसम से छोटे बच्‍चों की त्‍वचा पर रैशेज हो सकते हैं। बच्‍चों की स्‍क‍िन बहुत नाजुक होती है, सूरज की क‍िरणों के सीधे संपर्क में आने से त्‍वचा झुलस सकती है इसलिए बच्‍चे को धूप से बचाकर रखें, अगर बाहर ले जा रहे हैं तो कैप और छाते का इस्‍तेमाल बच्‍चे के ल‍िए जरूर करें। आपको इस बात का ध्‍यान रखना है कि उनका स‍िर धूप में कवर हो। धूप के प्रभाव से बच्‍चे को फीवर आ सकता है इसल‍िए बच्‍चे के पहले गरम मौसम में उसका खयाल रखें।

हम उम्‍मीद करते हैं क‍ि आपके बच्‍चे का पहला गरम मौसम उसके ल‍िए सुकून भरा हो ताक‍ि आप अपने बच्‍चे के साथ म‍िलकर इन पलों का आनंद उठा पाएं। कोव‍िड को ध्‍यान में रखते हुए बच्‍चे की साफ-सफाई का खयाल आपको हर मौसम में रखना है।

Read more on Children Health in Hindi 

Disclaimer