क्‍या आपका दिन भी टीवी के आगे गुजरता है? आलस छोड़ फिटनेस की ओर बढ़ने में मदद करेंगे ये 7 स्‍टेप्‍स

क्या आप भी बहुत आलसी हैं? तो आपके लिए आलस को दूर और जिम जाने के बिना फिटनेस फ्रीक बनने के कुछ सरल उपाय यहां दिए गए हैं।

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Jan 31, 2020
क्‍या आपका दिन भी टीवी के आगे गुजरता है? आलस छोड़ फिटनेस की ओर बढ़ने में मदद करेंगे ये 7 स्‍टेप्‍स

आलसी लोगों को देखकर शायद आपको गुस्‍सा आता होगा, लेकिन आलस्य का अपना ही आनंद है। सुबह देर तक सोना या फिर पूरे दिन सोफे पर लेटकर या बैठकर इधर-उधर अपने पसंदीदा शो देखना और कुछ स्‍नैक्‍स खाना, यह एक ऐसी थेरेपी है, जिसमें आपको मानसिक शांति लाने की जरूरत होती है। लेकिन हमेशा नहीं, अस्थायी निष्क्रियता ठीक है लेकिन सोफे का आलसी बने बैठे रहना सबसे बुरी बात है। यह न केवल आपके शारीरिक स्वास्थ्य के लिए बुरा है, बल्कि यह आपकी विचार प्रक्रिया और अनुभूति को भी सीमित करता है। आलस न केवल आपको आगे बढ़ने से रोकता है, बल्कि आपको फिट और सक्रिय रहने से भी पीछे खींचता है, जो कि स्वास्थ्य और दीर्घायु के लिए महत्वपूर्ण है। अगर आप अपने 60 के दशक में युवा और ऊर्जावान रहने की इच्छा रखते हैं, तो फिर सोफे से उठें और इन 7 स्‍टेप्‍स का पालन करें। 

1.गेट अप एंड एक्टिव

सबसे पहले और जरूरी है कि आप खुद को सोफे से उठने और फिटनेस गेम शुरू करने के लिए प्रेरित करें। इसके लिए आप अपने खाली समय में, टीवी देखने और पॉपकॉर्न खाने की बजाय, थोड़ी देर के लिए बाहर जाएं। ऐसा नियमित रूप से करें और आप देखें, आप अपनी सोफे की आदतों से धीरे-धीरे लेकिन निश्चित रूप से छुटकारा पा लेंगे। 

Morning Walk

2. वॉकिंग करना शुरू करें 

फिटनेस का मतलब सिर्फ जिमिंग नहीं है, बल्कि इसका मतलब है कि आप सक्रिय रहने के लिए कुछ न कुछ शारीरिक गतिविध करें। अगर आप जिम नहीं जाना चाहते हैं, तो रोजाना पैदल चलना शुरू करें। कोशिश करें कि अपने लिए एक गोल फिक्‍स करें और धीरे-धीरे लक्ष्य बढ़ाएं और आप खुद के रिकॉर्ड को तोड़ने में खुश और गर्व महसूस करेंगे। यह आपको और अधिक प्रेरित करेगा, ऐसी आदत आपको ट्रेडमिल से टकराने के बिना ही आपके सबसे अच्छे आकार में ला सकती है।

3. अपने खानपान को सुधारें 

सिर्फ आपका सक्रिय रहना आपकी फिटनेस के लिए काफी नहीं होता है, आपका भोजन फिटनेस में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। एक सोफे पर आराम करते समय, आप जो कुछ भी खा रहे हैं, उसका स्वाद बहुत अच्छा होता है लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि यह स्वस्थ है या नहीं? कुछ भी खाने से पहले, बस अपने आप से पूछें कि क्या यह खाना आपके लिए स्वस्थ है? यदि हाँ, तो खाएं। यदि नहीं, नहीं।

Eat Healthy

4. सामाजिक बनें 

अगर आप खुद को सामाजिक बनने की ओर धकेलेंगे, तो स्‍वत: आप आलसीपने से बाहर निकल जाएंगे। क्‍योंकि जैसे-जैसे आप लोगों से मिलना शुरू करेंगे, आप अक्सर बाहर निकलना चाहेंगे। यह आपको अपने सोफे या बैड को भूलने और आपको फिट करने में मदद करता है। ऐसे दोस्त बनाएं, जो खुद को फिट रखने की कोशिश करते हों, उनसे आपको भी प्रेरणा मिलेगी। 

इसे भी पढें: इन 4 तरीकों से आपके वर्कआउट को प्रभावित कर सकता है तनाव

5. रविवार हो या सोमवार हर दिन एक्‍सरसाइज जरूरी 

यदि आपने फिटनेस के नजरिए से हर दिन को देखना शुरू कर दिया, तो वो दिन दूर नहीं, जब आप दूसरों के लिए प्रेरणास्‍त्रोत बन जाओगे। अक्‍सर छुट्छी वाले दिन आप एक्‍सरसाइज से भी ब्रेक लेने का सोचते हैं, जो कि आपके पूरे रूटीन को प्रभावित करता है। वहीं अगर आप सोमवार को सफलतापूर्वक व्यायाम करना शुरू करते हैं, तो यह आपको बाकी दिन के लिए भी प्रेरित करता है। ऐसा करने से कुछ भी आप फिटनेस उत्साही बनने से पीछे नहीं हो सकते। 

6. योग

योग व्यायाम का एक प्राचीन रूप है, जो समग्र कल्याण के लिए अच्छा है। जैसा कि आप ध्यान के दौरान ध्यान केंद्रित करते हैं, तो योग आपके दिमाग से नकारात्मक विचारों को निकाल फेंकने में मदद करता है। वहीं इसके अलावा, यह आपके तनाव को कम करने के साथ, आपके शारीरिक और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य दोनों को स्‍वस्‍थ रखता है। 

Doing Exercise

इसे भी पढें: एक्‍सरसाइज के दौरान योगा मैट पर फिसलन से लग सकती है चोट, आजमाएं ये आसान हैक्‍स फिसलन होगी

7. घर की दिनचर्या को बदलें 

हालांकि जो लोग जिम जाना मुश्किल समझते हैं, तो इसका मतलब ये नहीं कि वह घर पर रहकर फिट नहीं रह सकते। इसके लिए आपको बस अपने घर में काम काजों की दिनचर्या को बदलना होगा और एक होम एक्सरसाइज रूटीन फिक्‍स करना होगा। आप डम्बल खरीकर घर पर अभ्‍यास कर सकते हैं, इसके अलावा पुशअप्स, प्लैंक, लेग राइज आदि कर सकते हैं।

Read More Article On Exercise and Fitness In Hindi  

Disclaimer