Sage Tea: औषधीय गुणों से भरपूर है ये आयुर्वेदिक चाय, शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के साथ मन को रखती है शांत

सेज एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी है, जिसके असंख्य स्वास्थ्य लाभ हैं। आप सेज की चाय पीकर इसके आयुर्वेदिक फायदे प्राप्त कर सकते हैं। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Jul 03, 2020
Sage Tea: औषधीय गुणों से भरपूर है ये आयुर्वेदिक चाय, शरीर को स्‍वस्‍थ रखने के साथ मन को रखती है शांत

सेज एक ऐसी जड़ी-बूटी है, जिसे आमतौर पर तुलसी और पुदीने के रूप में नहीं सुना जाता है। लेकिन यह आयुर्वेद में महत्वपूर्ण स्थान रखती है। दशकों से, सेज जड़ी बूटी का उपयोग औषधीय और चिकित्सा प्रयोजनों के लिए किया जा रहा है। आम तौर पर सेज का उपयोग विदेशी व्यंजनों को स्वादिष्ट बनाने में एक पाक जड़ी बूटी के रूप में किया जाता है। यदि आपने कभी सेज को सूंघा है, तो आपको पता होगा कि यह कैसे फिर से आपको जीवंत कर देती है। सेज चाय के चिकित्सीय गुणों के साथ आप इसकी एक हर्बल चाय बनाकर सेवन कर सकते हैं। सेज की चाय न केवल प्रभावी रूप से सर्दी, खांसी और गले में खराश को राहत दे सकती है, बल्कि मानसिक स्वास्थ्य को भी बढ़ावा देती है। यह चाय आपके स्वास्थ्य के लिए चमत्कार समान हो सकती है। आइए इस लेख में जानें कैसे?

सेज चाय में पोषक तत्‍व 

Sage Tea Benefits

सेज टी को एकाग्रता को बढ़ावा देने और मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य में सुधार करने के लिए अच्‍छा माना जाता है। इस चाय को 'थिंकर की चाय' भी कहा जाता है। इस चाय को ताजे सेज की पत्तियों से तैयार किया जाता है। यह चाय सभी पोषक तत्वों से भरपूर है और आपके स्‍वास्‍थ्‍य को सही रखने के लिए जादू समान है। इस चाय का सेवन प्रतिरक्षा बढ़ाने और वायरस से बचने के लिए किया जा सकता है। यह इम्‍युनिटी बूस्‍टर सबसे अच्छी जड़ी-बूटियों में से एक है। यहां सेज चाय में मौजूद पोषक तत्व प्रोफ़ाइल है, जिसमें शामिल हैं:

इसे भी पढ़ें: हाई ब्‍लड प्रेशर को कम करने में मददगार हैं ये 5 आयुर्वेदिक हर्ब्‍स

  • विटामिन सी
  • विटामिन ई
  • विटामिन के 
  • बी विटामिन
  • कैल्शियम
  • फोलेट
  • कॉपर 
  • आयरन 
  • मैगनीशियम

इसके आलावा, सेज चाय में ल्यूटोलिन, डिस्सिटोसिन और एपिगेनिन जैसे फेनोलिक फ्लेवोनॉइड भी होते हैं, जो शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और एंटी-इंफ्लेमेटरी एजेंट होते हैं। सेज को विभिन्न स्वास्थ्य मुद्दों को रोकने के लिए एक एंटीमाइक्रोबियल और कार्सिनोजेनिक गुण रखने के लिए भी माना जाता है। इस चाय के साथ एकमात्र समस्या ये है कि इसका कड़वा स्वाद है, जो इसका कमजोर बिन्‍दु है। इसलिए, सेज चाय को अक्सर अन्य हर्बल चाय और स्वादों के मुकाबले कम अच्‍छा माना जाता है। इसी कढ़वे स्‍वाद के कारण इसका उपयोग लोकप्रिय नहीं है। 

Ayurvedic Sage Tea

कैसे बनाएं सेज चाय?

यहां हम आपको एक सेज चाय बनाने के आसान तरीके के बारे में बता रहे हैं।

सामग्री: 

  • ताजे या सूखे सेज के पत्ते
  • नींबू
  • शहद
  • पानी
  • अन्य हर्बल टी बैग (वैकल्पिक)

सेज चाय बनाने का तरीका:

  • एक पैन में, पानी डालें और उबाल लें।
  • आंच को बंद करें और सेज की पत्तियों को (ताजा या सूखाकर) पानी में जोड़ें।
  • ढक्कन को पैन पर रखें और इसे 3-5 मिनट के लिए एक अलग रख लें। 
  • अब आप पत्तियों को एक और समय के लिए पुन: उपयोग कर सकते हैं।
  • इसके बाद आप इसमें स्‍वादानुसार नींबू का रस और शहद मिलाएं।
  • यदि आप फ्यूजन चाय बनाना चाहते हैं, तो कप में हर्बल टी बैग (अपनी पसंद का) डालें। 
  • आपकी आयुर्वेदिक सेज टी तैयार है। अब एक-एक घूंट करके इस चाय का आनंद लें। 

सेज चाय के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ 

आमतौर पर, सेज का उपयोग मौसमी फ्लू, खांसी, सर्दी और गले में खराश के इलाज के लिए किया जाता है। सेज चाय के कई अन्य लाभ और उपयोग हैं, जो आपको इस चाय के नियमित सेवन के लिए मजबूर कर देंगे। यहां इस आयुर्वेदिक चाय के कुछ फायदे हैं: 

  • ये चाय आपके शरीर को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करती है। जिससे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहर निकालने में मदद मिलती है क्‍योंकि सेज में मूत्रवर्धक गुण होते हैं।
  • सेज आपके लिवर और किडनी के स्वास्थ्य को बढ़ावा देने में मददगार है ।
  • इस चाय के सेवन से पीरियड के दर्द और ऐंठन को कम करने में मदद मिलती है। 
  • सेज चाय में मन को शांत करने और सुखदायक प्रभाव वाले गुण हैं, जो  तनाव, चिंता और घबराहट को शांत करने में सहायक हैं। 
  • सेज चाय एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सिडेंट गुणों से भरपूर होती है, जो गैस्ट्रोइंटेस्टाइनल गतिविधियों को नियंत्रित करने में मदद करती है। 
  • इस चाय के नियति सेवन से डायबिटीज रोगियों को अपने ब्‍लड शुगर को कंट्रोल रखने में मदद मिल सकती है। 

Read More Article On Ayurveda In Hindi 

Disclaimer