Ayurveda: तन-मन को शांत कर दुख से उभरने में मदद कर सकते हैं ये 5 हर्ब

Ayurveda: आयुर्वेद में कई जड़ी-बूटियां ऐसी भी मौजूद हें, जो आपके तन-मन को शांत करने के साथ आपको दुख से उभरने में भी मदद करती हैं।  

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Dec 24, 2019
Ayurveda: तन-मन को शांत कर दुख से उभरने में मदद कर सकते हैं ये 5 हर्ब

जड़ी-बूटियां आपके समग्र स्‍वास्‍थ्‍य को बनाए रखने में मददगार होती हैं। बहुत से ऐसे हर्ब हैं, जो आपके तन-मन को शांत करने में मददगार होते हैं। यही वजह है कह अरोमाथेरेपी में कई हर्बल ऑयल की मदद से तनाव और अन्‍य कई समस्‍याओं को दूर किया जाता है। आर्युवेद में कई ऐसी जड़ी-बूटियां हैं, जो शोक के दौरान हमारी मानसिक, भावनात्मक और शारीरिक अवस्थाओं के लिए हीलिंग के रूप में काम कर सकती हैं। आपको जानकर हैरानी होगी कि जड़ी-बूटियों की मदद से दु:ख को दूर करने में मदद मिल सकती है। आइए आज हम आपको कुछ ऐसी जड़ी-बूटियों के बारे में आपको बताते हैं, जो आपको दुख से निकलने और हीलिंग में मददगार होंगी। 

नागफनी 

नागफनी एक कार्डियोवस्कुलर पावरहाउस है, यह कोलेस्ट्रॉल के स्तर को कम करने और ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल रखने में मददगार है। इसके अलावा, यह आपके दुख को दूर करने में फायदेमंद है, जब आप किसी गहरे दुख का अनुभव करते हैं या यह आपको उस दुख से निकलने में मदद कर सकती है। नागफनी, रोज़ परिवार का एक सदस्य, जिसे ह्रदय और शोक या दुख को दूर करने के लिए हीलर के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। आप इसकी बेरी, फूल और पत्तियों का उपयोग चाय में कर सकते हैं। आप नागफनी की चाय में शहद डालकर इसका सेवन कर सकते हैं। 

रोज़ 

Rose

रोज़ का इस्‍तेमाल लंबे समय तक आराम और दिल को शांत करने के लिए किया जाता है। रोज़ यानि गुलाब के कोमल एंटीडिप्रेसेंट और शामक गुण आराम देने में मदद करते हैं और आपकी भावनाओं को ऊपर उठाने में मदद कर सकते हैं। गुलाब तंत्रिका और पाचन तंत्र का समर्थन करने के अलावा, गस्‍से को शांत करने में भी मददगार है। यह एक हार्ट टॉनिक है और यह घावों को ठीक करने में भी मददगार है। आप गुलाब की पंखुड़ियां, गुलाब के फूल और इसकी पत्तियों का उपयोग कर सकते हैं। यह सभी औषधीय गुणों से भरपूर हैं। आप इसका इस्‍तेमाल गुलाब को चाय या शहद में मिलाकर या नहाने के पानी के साथ कर सकते हैं। लेकिन हमेशा ध्‍यान रखें, केवल उन गुलाब का उपयोग करें जो आप जानते हैं कि इनमें कीटनाशकों के साथ छिड़काव नहीं किया गया है। 

इसे भी पढें: ब्‍लैक या ग्रीन टी नहीं ट्राई करें ब्‍लू टी, तनाव को कम करने के साथ त्‍वचा और बालों के लिए भी है फायदेमंद

मदरवार्ट हर्ब

हालांकि मदरवार्ट हर्ब के कड़वे यौगिक इसे कम स्वादिष्ट हर्बल बनाते हैं। मगर स्‍वाद में यह कड़वा जरूर है, किन्‍तु सेहत के लिए कई फायदों से भरा है। मदरवार्ट हृदय और तंत्रिका तंत्र के लिए एक शक्तिशाली हर्ब है। मदरवार्ट एक "बहुउपयोगी औषधी है, जो कि चिंता और तनाव को दूर करने में मददगार है। इसके अलावा, इस पौधे की पत्तियों और फूलों का इस्‍तेमाल मन को शांत और दुख को दूर करने के लिए भी किया जाता है। इसके पत्तों और फूलों को एक्‍सट्रेक्‍ट यानि टिंचर या बिटर्स में बदला जा सकता है। आप एक चाय के रूप में भी इस जड़ी-बूटी का इस्‍तेमाल कर सकते हैं। 

लिंडेन हर्ब 

Linden

लिंडेन हर्ब की पत्तियों और फूलों का आनंद मन को शांत करने के लिए किया जा सकता है। यह एंटीऑक्सिडेंट यौगिकों में समृद्ध है, जो हाई ब्‍लडप्रेशर को कंट्रोल करती है और खासकर जब तनाव एक योगदान कारक हो। इतना ही नहीं, लिंडेन दुख के समय में एक दवा के तैर पर काम करता है, यह आपके दुख को दूर करने और चित मन को शांति प्रदान करता है। लिंडेन का इस्‍तेमाल चाय के रूप में किया जा सकता है।

इसे भी पढें: वजन घटाने और लिवर को स्‍वस्‍थ रखने में मददगार है कुटकी जूस या पाउडर, रोजाना सेवन मिलेंगे ये 5 फायदे

मिमोसा 

मिमोसा डिप्रेशन, तनाव, दुख और दिल के रोगियों के लिए फायदेमंद है। इसके फूलों और छाल का उपयोग इन सभी समस्‍याओं को दूर करने के लिए किया जाता है। मिमोसा को" एक जड़ी-बूटी माना जाता है, जो लोगों को भावनात्मक रूप से बेहतर बनाने में मदद करती है। आप इसकी चाय, टिंचर, शहद के साथ और सिरप या ग्लिसराईट बनाकर मिमोसा का उपयोग करें।

Read More Article On Ayurveda In Hindi 

Disclaimer