Skin-Care Tips : कील-मुंहासों को ठीक करने में कारगार है टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल, जानें इसके 4 प्रमुख फायदे

टी ट्री ऑयल मुंहासे को कम करने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले बेंजोयल पेरोक्साइड की तरह ही प्रभावी है।

Pallavi Kumari
Written by: Pallavi KumariPublished at: Mar 24, 2020
Skin-Care Tips : कील-मुंहासों को ठीक करने में कारगार है टी ट्री ऑयल का इस्तेमाल, जानें इसके 4 प्रमुख फायदे

टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil) यानी चाय के पेड़ का तेल हमेशा से अपने एंटी बैक्टीरियल, एंटी माइक्रोबियल, एंटीसेप्टिक व एंटीवायरल आदि गुणों के लिए जाना माना जाता है। अगर बात त्वचा की देखभाल की करें, तो ये त्वचा के सूजन और रेडनेस को शांत करने के लिए लाभदायक है। ये मुंहासे के निशान को रोकने और कम करने में मदद कर सकता है। वहीं ये आंखों के किनारे होने वाली फुंसी को ठीक करने में भी इस्तेमाल किया जा सकता है। स्किनकेयर के अलावा टी ट्री ऑयल को वजाइनल इंफेक्शन और दाद व खुजली जैसे फंग्ल इंफेक्शन के इलाज में भी इस्तेमाल किया जाता है। कोरियन स्किन केयर टिप्स में टी ट्री ऑयल को एक अहम सामग्री के रूप में देखा जाता है। आइए जानते हैं स्किनकेयर के लिए कैसे फायदेमंद है टी ट्री ऑयल।

Insideskincare

टी ट्री ऑयल और स्किन केयर

चाय के पेड़ का तेल एक एसेंशियल तेल है, जो मेलेलुका अल्टिफ़ोलिया पौधे की पत्तियों से बनता है। यह विशेष रूप से कोरियाई स्किनकेयर उत्पादों, नाखून उत्पादों, मालिश, फेस वाश और यहां तक कि बाल उत्पादों के बीच कई त्वचा क्रीम में एक घटक के रूप में अत्यधिक उपयोग किया जाता है।चाय के पेड़ के तेल में एक एंटीसेप्टिक क्षमता होती है जिसके कारण इसे कई पारंपरिक औषधीय उपचारों और त्वचा उत्पादों के विकल्प के रूप में अनुशंसित किया जाता है। यह पौधे-आधारित तेल समान रूप से प्रभावी माना जाता है और इसका कोई खास दुष्प्रभाव नहीं होता है। इसका उपयोग उन स्थितियों और लक्षणों का इलाज करने के लिए किया जा सकता है जो त्वचा, नाखून और बालों को प्रभावित करते हैं। यह कभी-कभी एक दुर्गन्ध, कीट से बचाने वाली क्रीम या माउथवॉश के रूप में भी उपयोग किया जाता है। यह तेल विशेष रूप से तैलीय और मुंहासे से ग्रस्त त्वचा के लिए यह एक रामबाण उपाय की तरह है। 

इसे भी पढ़ें: रुखी त्वचा पर होने वाली खुजली बन सकती है चकत्तों का कारण, इन तरीकों का इस्तेमाल कर पाएं नरम त्वचा

टी ट्री ऑयल (Tea Tree Oil) के फायदे

ड्राई स्किन और एक्जिमा

टी ट्री ऑयल में स्किन के लिए कुछ आरामदायक गुण होते हैं, जो त्वचा में खुजली और जलन को कम करता है। यह त्वचा को ठंडा करता है और साथ ही इसे हाइड्रेटेड करने का भी काम करता है। चहरे की खुजली और छोटे-छोटे दाने पर भी टी ट्री ऑयल काम करता है।

सूजन कम करे

इस आवश्यक तेल की एंटी बैक्टीरियल गुणवत्ता त्वचा के सूजन को राहत देने में मदद करता है। यह चेहरे के रेडनेस और सूजन को भी कम करता है। टी ट्री ऑयल को इस्तेमाल करने के लिए आधे कप पानी में टी ट्री की तीन से चार बूंदें मिलाएं। फिर कॉटन पैड की मदद से प्रभावित जगह पर लगाएं। इसके बाद 20 से 25 मिनट बाद चेहरे पर मॉइस्चराइजर लगाएं।

Insideteatreeoil

इसे भी पढ़ें: Skin Care Tips: एक्‍सपर्ट से जानें स्किन टाइप के हिसाब से कितनी बार एक्सफोलिएशन है जरूरी ?

मुंहासे का इलाज करता है

टी ट्री ऑयल मुंहासे के इलाज के लिए एक लोकप्रिय घटक है क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटी-माइक्रोबियल गुण होते हैं। यह त्वचा को शांत करता है, लालिमा और सूजन को भी कम करता है। इसे इस्तेमाल करने के लिए टी ट्री तेल की दो-तीन बूंदें लें और समान मात्रा में कैरियल ऑयल के साथ मिलाएं। अब कॉटन की सहायता से इस मिश्रण को प्रभावित जगह पर लगाएं। यह प्रक्रिया दो से तीन बार दोहराएं।

सोरायसिस और टैनिंग हटाने के लिए

सोरायसिस का इलाज करने की बात आती है, तो ट्री ऑयल बहुत लोकप्रिय नहीं है, पर ये इसके इलाज में इस्तेमाल किया जा सकता है। वहीं धूप की हानिकारक किरणों से होने वाली टैनिंग को कम करने में भी टी ट्री ऑयल काफी मददगार माना जाता है। इसके लिए एक कप गुनगुने पानी में दो-तीन बूंदे टी ट्री तेल की मिलाएं। उस पानी से मुंह धो लें। इस तरह कुछ दिनों तक करने से टैनिंग कम हो सकती है।

Read more articles on Skin-Care in Hindi

Disclaimer