Benefits of Coriander Oil : वजन घटाने से लेकर शरीर के हर दर्द की दवा है धनिये का तेल, जानें इसके अद्भुत फायदे

धनिया के एसेंशियल ऑयल का सेवन आपको वजन घटाने से लेकर कई समस्‍याओं में मदद कर सकता है। आइए यहां धनिया के तेल के उपयोग और फायदे जानें। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtUpdated at: May 20, 2020 13:06 IST
Benefits of Coriander Oil : वजन घटाने से लेकर शरीर के हर दर्द की दवा है धनिये का तेल, जानें इसके अद्भुत फायदे

धनिया एक जड़ी बूटी है, जिसे खाने में (धनिया पत्ती) और मसाले (धनिया बीज या पाउडर) दोनों के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है। भारतीय खाना धनिया पाउडर के बिना अधूरा है और ताजा धनिया पत्‍ती खाने को एक अच्‍छी गार्निंशिंग और स्‍वाद देने में मदद करती है। लेकिन आपने धनिया के तेल के बारे में सुना है? यह इसका तीसरा पाहिया है, जिसे बारे में कम लोग ही जानते हैं। धनिये का तेल या धनिये का एसेंशियल ऑयल भी आपकी सेहत के लिए कई फायदों से भरा है। इस सुगंधित तेल को धनिया के बीजों से निकाला जाता है और इसके कई आश्‍चर्यचकित कर देने वाले स्वास्थ्य लाभ होते हैं। यह आंतरिक और बाहरी स्वास्थ्य दोनों के इलाज में मददगार है। धनिये का तेल आपको वजन कम करने, गैस्ट्रिक की समस्या, मांसपेशियों में ऐंठन, फंगल इंफेक्‍शन आदि में मददगार है। आइए यहां धनिए के तेल के उपयोग और फायदे जानें।  

धनिये के तेल का उपयोग

Coriander Oil

धनिये का तेल एक बहुमुखी एसेंशियल ऑयल है। आइए यहाँ धनिए के तेल के कुछ उपयोग बताए गये हैं: 

  • खाने में स्‍वाद बढ़सने के रूप में 
  • माउथ फ्रेशनर के रूप में
  • अरोमाथेरेपी तेल के रूप में
  • डियोड्रेंट के रूप में 
  • दर्द से राहत देने वाले बाम के रूप में

धनिये के तेल के फायदे 

धनिए के तेल के उपयोग के बाद, आइए हम आपको धनिया आवश्यक तेल के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ बताते हैं। यह प्राकृतिक तेल दर्दनाशक , कामोत्‍तेजक, पेट की परेशानी, कार्मिनिटिव, डिप्यूरेटिव, पाचन संबंधी, डियोड्रेंट, कवकनाशी, पेट और प्रकृति में उत्तेजक है। आइए अब इस तेल के लाभों के बारे में जानें।

वजन घटाने के लिए 

वजन घटाना हम सबके लिए एक आम समस्‍या बन गई है। हम में से बहुत से लोग ऐसे हैं, जो अपने बढ़ते वजन की वजह से परेशान हैं और वजन कम करने के लिए बहुत सी चीजें और तरीके आजमाते हैं लेकिन परिणाम बहुत धीमे नजर आते हैं। जबकि धनिये केतेल में लिपोलाइटिक है, जो वजन कम करने के लिए शरीर में फैट और कोलेस्ट्रॉल के हाइड्रोलिसिस को किकस्टार्ट करता है।

गैस्ट्रिक संबंधी समस्‍याओं के लिए 

पेट में गैस आपको काफी परेशान कर सकती है। यह आपके पूरे शरीर की समस्याओं को ट्रिगर कर सकती है। इससे पहले कि गैस आपके स्वास्थ्य को परेशान करे, आप धनिये का तेल की मदद से अपनी इस समस्‍या का समाधान कर सकते हैं। यह पाचन क्रिया से गैस को खत्म कर देता है। यदि आप नियमित रूप से धनिया और धनिया के तेल का सेवन करते हैं, तो आपको गैस गैस्ट्रिक की समस्या होने की संभावना नहीं है।

Coriander Oil Health Benefits

धनिया के तेल के साथ तिल के तेल को मिलाकर मालिश करने से आपको मांसपेशियों में दर्द, अपच, पाचन समस्याओं और पेट फूलने में मदद मिलेगी। आप पाचन या गैस्ट्रिक की समस्‍याओं में धनिया तेल की कुछ बूंदे पानी के गिलास में डालकर और 1 चम्‍मच शहद डालकर पी सकते हैं। 

इसे भी पढ़ें:  रोजाना 1 कप प्‍याज की चाय कर सकती है आपके हाई ब्‍लड प्रेशर को कंट्रोल, जानें बनाने का तरीका

दर्द को दूर करे 

धनिये के तेल में टेर्पिनॉल और टेरपिनोलीन होते हैं, जो दर्द को कम करने के लिए में मदद करते हैं। आप प्रभावित जगह पर धनिये का एसेंशियल ऑयल लगाकर मसाज करें। यह जल्‍द ही दर्द को दूर करने में मदद करेगा, जिसमें: सिरदर्द, मांसपेशियों का दर्द, जोड़ों में दर्द और यहां तक दांत दर्द भी शामिल है। 

ऐंठन का इलाज

दर्द से राहत की तरह, धनिया तेल में ऐंठन से राहत देने में भी मदद करता है। इसमें एंटीस्पास्मोडिक गुण भी होते हैं, जो अंगों, खांसी और आंतों से संबंधित होते हैं। यह मन और शरीर को आराम देता है। 

खून को साफ करने के लिए 

धनिया के तेल में अद्भुत डिटॉक्सीफाईंग गुण होते हैं, जो इसे भारी धातुओं, यूरिक एसिड और अन्य हानिकारक सामग्रियों जैसे विषाक्त तत्वों को समाप्त करके शरीर को डिटॉक्‍ट कर खून को साफ करने में मदद करते हैं। 

Coriander Oil

मुंह की दुर्गंध के लिए 

आप बैड ब्रीदिंग या मुंह से आने वाली बदबू के लिए धनिए के तेल को पानी के साथ मिलाएं और माउथवॉश के रूप में इसका उपयोग करें। यह खराब और बदबूदार सांस को दूर करने में मदद करेगा। 

क्या धनिया तेल के कोई दुष्प्रभाव हैं?

धनिया तेल एक प्राकृतिक तेल है, जिसका शरीर पर कोई हानिकारक प्रभाव नहीं होता है। लेकिन ठीक से देखभाल न करने पर अच्छी चीजें भी खराब हो सकती हैं। वहीं धनिये के तेल को एसेंशियल ऑयल के रूप में इस्‍तेमाल किया जाता है, जिसके उपयोग की कुछ सीमाएं हैं। जैसे: 

गर्भवती महिला द्वारा इसका सेवन सुरक्षित नहीं है।

संवेदनशील त्वचा वाले लोगों को पैच टेस्ट करने के बाद ही इसका इस्तेमाल करना चाहिए।

Read More Article on Home Remedies In Hindi

Disclaimer