बीड़ी-सिगरेट पीने की आदत बना सकती है आपको समय से पहले बूढ़ा, रिसर्च में हुआ खुलासा

Smoking Side Effects: क्‍या आप जानते हैं कि धूम्रपान और तम्‍बाकू का अधिक सेवन आपकी चेहरे की उम्र बढ़ने से जुड़ा है। जिसकी वजह से व्‍यक्ति समय से पहले बूढ़ा दिखने लगता है। आइए जानते हैं क्‍या कहती है रिसर्च। 

Sheetal Bisht
Written by: Sheetal BishtPublished at: Nov 02, 2019Updated at: Nov 02, 2019
बीड़ी-सिगरेट पीने की आदत बना सकती है आपको समय से पहले बूढ़ा, रिसर्च में हुआ खुलासा

क्‍या आप भी उन में से एक हैं, जो दिन में 5 या 10 सिगरेट फूके बिना नहीं रह सकते हैं? अगर हां, तो क्‍या आपने कभी सोचा है कि आपकी यह आदत आपको समय से पहले बूढ़ा बना सकती है। जी हां अधिक मात्रा में धूम्रपान या तम्‍बाकू का सेवन न आपके शरीर को अंदरूनी रूप से नुकसान पहुंचा सकता है, बल्कि आपकी बाहरी सुंदरता को भी खत्‍म करता है। आपने देखा होगा, जो लोग बीड़ी-सिगरेट पीते हैं, उनके चेहरे में झुर्रियां या झाइंया होती हैं। इसका कारण यह है कि अधिक मात्रा बीड़ी-सिगरेट और तम्‍बाकू का सेवन आपकी स्किन सेल्‍स को नुकसान पहुंचाता है। जिसकी वजह से आप समय से पहले बूढ़े दिखने लगते हैं।

Smoking_Side_Effects

क्‍या कहती है रिसर्च?

पीएलओएस जेनेटिक्स जर्नल में प्रकाशित शोध के अनुसार, जो लोग धूम्रपान या तम्बाकू का सेवन करते हैं, वे नियमित रूप से एक आनुवंशिक प्रकार की कई प्रतियाँ ले जाते हैं,। जिसकी वजह से उन्हें उनकी वह अपनी वास्तविक उम्र से अधिक उम्र के लगते हैं। यह धूम्रपान और तंबाकू के कई दुष्प्रभावों में से एक है।

अध्ययन ब्रिस्टल विश्वविद्यालय के शोधकर्ताओं की एक टीम द्वारा किया गया था। जहां उन्होंने दो अलग-अलग डेटा विश्लेषण विधियों के संयोजन का उपयोग किया था। उनके अध्ययन का उद्देश्य यह पता लगाना था कि क्या तंबाकू का उपयोग चेहरे की उम्र बढ़ने के साथ जुड़ा हुआ है।

इसे भी पढें: धूम्रपान से इन 5 तरीकों से होती है त्‍वचा प्रभावित, बढ़ता है कैंसर का खतरा

अध्‍ययन के प्रमुख लेखक लुईस मिलार्ड का कहना है,  ''हमने एक उपन्यास दृष्टिकोण प्रस्तावित किया है, जिसका उपयोग स्वास्थ्य जोखिमों के कारण प्रभावों की खोज के लिए किया जा सकता है और धूम्रपान की अधिकता के प्रभावों की खोज के लिए इस दृष्टिकोण का प्रदर्शन किया गया। हमने उन हजारों लक्षणों की खोज की जो उन लोगों को पहचानने के लिए प्रभावित करते हैं, जो किसी को बहुत अधिक प्रभावित करते हैं।''

Smoking_Side_Effects

अध्ययन के प्रमुख लेखक लुईस मिलार्ड ने कहा कि कई स्वास्थ्य पर पड़ने वाले प्रतिकूल प्रभावों की पहचान करने के साथ-साथ फेफड़ों पर पड़ने वाले प्रभाव की पहचान करते हुए, हमने चेहरे की उम्र बढ़ने पर धूम्रपान के प्रतिकूल प्रभाव की भी पहचान की।

इसे भी पढें: धूम्रपान करने से बढ़ सकता है सोराइसिस का खतरा, जानें लक्षण और इलाज

कैसे किया गया अध्‍ययन?

इस अध्‍ययन के लिए शोधकर्ताओं ने लोगों को दो समूहों में विभाजित किया। पहले समूह में, उन्होंने गैर-धूम्रपान यानि धूम्रपान न करने वालों को रखा और दूसरे समूह में, उन्होंने पहले और वर्तमान में धूम्रपान करने वालों को रखा। विधि प्रभावी थी क्योंकि वैज्ञानिकों को वांछित परिणाम मिले। 

जिसमें, परिधाम पाया गया कि धूम्रपान करने वाले लोगों में समय से पहले बूढ़ा होने के अलावा, तम्बाकू धूम्रपान से त्वचा का कैंसर, फेफड़ों के खराब कार्य और क्रोनिक बीमारियों (सीओपीडी) का खतरा भी बढ़ जाता है। शोधकर्ता इस पद्धति का उपयोग किसी व्यक्ति पर अत्यधिक धूम्रपान के अधिक बुरे प्रभावों को खोजने के लिए कर रहे हैं। अस्वास्थ्यकर आदतों के विभिन्न प्रभावों को निर्धारित करने में यह तकनीक बहुत उपयोगी पाई जाती है।

Read More Article On Health News In Hindi 

Disclaimer