रोजाना नाश्ते में खाते हैं पोहा? सेहत को हो सकते हैं ये नुकसान

Side Effects Of Eating Poha: अगर आप रोजाना नाश्ते में पोहे का सेवन करते हैं, तो इससे आपकी सेहत को नुकसान पंहुच सकते हैं।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Jan 16, 2023 10:00 IST
रोजाना नाश्ते में खाते हैं पोहा? सेहत को हो सकते हैं ये नुकसान

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

Side Effects Of Eating Poha In Hindi: पोहा खाना अधिकतर लोगों को पसंद होता है। कुछ लोग नाश्ते में पोहा खाते हैं, तो कुछ इसे शाम को टी टाइम स्नैक के तौर पर खाते हैं। अलग-अलग जगहों पर पोहा बनाने का तरीका अलग होता है। यह खाने में स्वादिष्ट होता है और इसे बनाना बहुत आसान। पोहा प्रोटीन, कार्बोहायड्रेट और फाइबर जैसे पोषक तत्वों से भरपूर होता है। सुबह नाश्ते में पोहा खाने से पेट लंबे समय तक भरा हुआ रहता है। यह वेट लॉस के लिए अच्छा माना जाता है, क्योंकि इसमें कैलोरी की मात्रा भी बहुत कम पाई जाती है। वैसे तो पोहा हमारी सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन किसी भी चीज का अत्यधिक सेवन आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है। ऐसे में, अगर आप रोजाना नाश्ते में पोहा खाते हैं, तो इससे आपको नुकसान पहुंचा सकता है। आज इस लेख में हम आपको बताएंगे कि रोजाना पोहा खाने के क्या  नुकसान हैं (Side effects of eating poha daily) -

पोहा खाने के नुकसान - Side Effects Of Eating Poha 

वजन बढ़ सकता है  

वैसे तो वेट लॉस के लिए नाश्ते में पोहा खाना फायदेमंद माना जाता है। लेकिन अगर आप रोजाना पोहा का सेवन करते हैं, तो इससे आपका वजन बढ़ सकता है। दरअसल, पोहे में कार्बोहायड्रेट की मात्रा काफी अधिक होती है, जो वजन को बढ़ा सकती है। इसके अलावा, कई लोग पोहे में मूंगफली और आलू का इस्तेमाल भी करते हैं। मूंगफली और आलू का ज्यादा सेवन करने से शरीर में फैट और मोटापा बढ़ सकता है।

ब्लड शुगर लेवल बढ़ता है

डायबिटीज के मरीजों को चावल से परहेज करने की सलाह दी जाती है। ऐसा इसलिए क्योंकि चावल खाने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ सकता है। पोहा भी चावल से ही बनाया जाता है। जी हां, पहले धान से चावल से बनाया जाता है। उसके बाद चावल को कूटकर पोहे का आकार दिया जाता है। ऐसे में रोजाना पोहा खाने से ब्लड शुगर लेवल बढ़ने का खतरा रहता है। खासतौर पर, जिन लोगों को डायबिटीज है, उन्हें पोहे का सेवन नहीं करना चाहिए।  

Poha-Side-Effects

इसे भी पढ़ें: नाश्ते में खाएं प्रोटीन से भरपूर सोया पोहा, वेट लॉस के साथ मिलेंगे कई अन्य फायदे

एसिडिटी की समस्या 

नाश्ते में पोहा खाने से पेट लंबे समय तक भरा रहता है। लेकिन पोहे का ज्यादा सेवन करने से कुछ लोगों को पेट में एसिडिटी और ऐंठन की समस्या हो सकती है। ज्यादा पोहा खाने से आपको पेट में भारीपन भी महसूस हो सकता है। इन सभी समस्याओं से बचने के लिए पोहे का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

इसे भी पढ़ें: सेहत की थाली: एक प्लेट पोहा में कितनी कैलोरीज होती हैं? इसे खाने से सेहत पर कैसा पड़ता है असर

कब और कितनी मात्रा में खाएं पोहा?

पोहा खाने से सेहत को कई लाभ मिल सकते हैं। लेकिन इसका सेवन हमेशा सीमित मात्रा में ही करना चाहिए। पोहे का अधिक मात्रा में सेवन करने से सेहत को फायदे के बजाय नुकसान हो सकता है। अगर आप पोहा खाना पसंद करते हैं, तो इसे हफ्ते में दो-तीन दिन ब्रेकफास्ट या टी टाइम स्नैक के तौर पर खा सकते हैं। पोहा खाते समय ध्यान रखें कि आप एक कटोरी से ज्यादा पोहे का सेवन न करें। अगर आप वेट लॉस करना चाहते हैं, तो पोहा बनाते समय उसमें मूंगफली या आलू न डालें।

Disclaimer