Runny Nose: नाक बहने के पीछे होते हैं ये 13 कारण, जानें इसके 9 लक्षण और उपचार

मौसम बदलने या कुछ ठंडा खाने के दौरान अक्सर व्यक्ति की नाक बहनी शुरू हो जाती है। पर क्या यह समस्या आम है? जानें नाक बहने के लक्षण, कारण और उपाय।

Garima Garg
Written by: Garima GargUpdated at: Mar 25, 2021 14:35 IST
Runny Nose: नाक बहने के पीछे होते हैं ये 13 कारण, जानें इसके 9 लक्षण और उपचार

किसी व्यक्ति को सर्दी जुकाम होना एक आम सी बात है। नाक में बलगम बढ़ जाने से यह समस्या उत्पन्न हो जाती है। बलगम के कारण शरीर सर्दी जुकाम, एलर्जी, फ्लू वायरस आदि परेशानियों का शिकार हो सकता है। सामान्य कारणों की बात करें तो सर्दी जुकाम मौसम बदलने के कारण या साइनस संक्रमण के कारण या किसी एलर्जी के कारण होते हैं। वही लक्षणों में गले में दर्द, खांसी आदि आते हैं। लेकिन इससे अलग कुछ और भी कारण और लक्षण हैं जिनके बारे में जानना और समझना जरूरी है। आज का हमारा लेख उन्हीं कारणों और लक्षणों पर है। आज हम आपको अपने इस लेख के माध्यम से बताएंगे कि बहती नाक के पीछे क्या कारण होते हैं? साथ ही लक्षणों और उपचारों के बारे में में जानेंगे। पढ़ते हैं आगे...

नाक बहने के पीछे कारण (causes of runny nose)

बता दें कि सामान्य लक्षणों के बारे में तो हमने ऊपर बताया लेकिन कुछ ऐसे लक्षण भी हैं जो बहती नाक का कारण बनते हैं-

1 - सूखी हवा के कारण व्यक्ति की नाक बहने लगती है।

2 - जो लोग तंबाकू और धूम्रपान का सेवन करते हैं उन लोगों में भी यह समस्या देखी जाती है।

3 - सिर दर्द से परेशान लोग अक्सर नाक बहने की समस्या से भी परेशान होते हैं।

4 - मौसम में अचानक परिवर्तन आने के दौरान की समस्या देखी गई है।

5 - जब कोई व्यक्ति नाक में इस्तेमाल करने वाले स्प्रे का अधिक प्रयोग करता है तब भी समस्या होती है।

6 - कुछ दवाओं के सेवन करने से व्यक्ति को दुष्परिणाम झेलने पड़ते हैं। उन दुष्परिणामों में नाक का बहना भी आता है।

7 - अस्थमा यानी दमा की समस्या के कारण भी नाक बहनी शुरू हो जाती है।

8 - किसी व्यक्ति की नाक में कुछ फस जाता है या अटक जाता है तब भी यह समस्या हो जाती है।

9 - हार्मोन परिवर्तन के दौरान नाक बहना स्वभाविक है।

इसे भी पढ़ें- Hypersomnia: ज्यादा नींद आने के पीछे क्या हैं 7 कारण? लक्षण और उपचार भी जानें

10 - सर्दी जुकाम के कारण नाक बहना एक आम लक्षण होता है। जो हर व्यक्ति में देखा गया है। इसके जरिए शरीर में जमा बलगम बाहर आता है।

11 - कभी-कभी तो बलगम नाक के माध्यम से बाहर आता है तो कुछ परिस्थितियां ऐसी भी बन जाती हैं जब बलगम गले में जाता है। ये बलगम गाढ़ा होता है।

12 - जो लोग साइनस के शिकार होते हैं उनकी नाक के मार्ग में दर्द, सूजन और जलन पैदा हो जाती है। ऐसे में सांस लेने में दिक्कत महसूस होती है और व्यक्ति के शरीर में बलगम बनने लगती है इस कारण नाक बहने की समस्या पैदा हो जाती है।

13 - एलर्जी के कारण भी व्यक्ति को नाक बहने की समस्या हो सकती है। जिन लोगों के घर में पशु होते हैं या वे हानिकारक बैक्टीरिया के संपर्क में आते हैं तब उन्हें एलर्जी महसूस होती है और नाक बहना शुरू हो जाती है।

इसे भी पढ़ें- किन कारणों से फेफड़े हो जाते हैं काले, जानिए इसके लक्षण, कारण और बचाव

नाक बहने के लक्षण (runny nose symptoms)

नाक बहने के साथ साथ कुछ अन्य लक्षण भी दिखाई देते हैं जो कि इस प्रकार हैं-

1 - बुखार हो जाना

2 - व्यक्ति के सिर में दर्द रहना

3 - बदन में दर्द रहना

4 - छाती में जकड़न या दर्द महसूस करना

5 - सांस लेने में कठिनाई महसूस करना

6 - व्यक्ति को ठंड लगना

7 - नाक से निकलने वाले पदार्थ का रंग पीला होना

8 - आंखों के नीचे या गालों पर सूजन दिखाई देना

9 - गले में दर्द महसूस करना या टॉन्सिल की समस्या हो जाना।

इसके अलावा व्यक्ति में कुछ ऐसे लक्षण भी दिखाई देते हैं जो तीन हफ्तों तक दूर नहीं होते जैसे- आंखों से पानी, छींक की समस्या आदि ऐसी स्थिति में तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

कैसे करते हैं डॉक्टर नाक बहने की जांच

बता दें कि डॉक्टर सबसे पहले मौखिक रूप से जांच करते हैं, जिसमें वह पता लगाते हैं कि कितने समय से नाक बहने की समस्या हो रही है। इसके बाद वे कुछ दवाओं के माध्यम से समस्या को रोकते हैं जब यह समस्या काबू में नहीं आती है तो विशेषज्ञ कुछ टेस्ट का इस्तेमाल करते हैं जैसे धूप की जांच, खून की जांच, नाक और पैरानैसल साइनस का सिटी स्कैन, त्वचा की एलर्जी का परीक्षण आदि इस परीक्षण से यह पता लगाया जाता है कि नाक, कान, गला और शरीर किसी बीमारी से ग्रस्त तो नहीं है।

नाक बहने से बचाव (preventions of runny nose)

1 - अपने आहार में विटामिन सी का सेवन करें।

2 - अपने हाथों को समय-समय पर धोएं।

3 - टिशू या कपड़े की मदद से नाक को साफ करें।

इसके अलावा यदि नाक बहनी बंद नहीं हो रही है तो आप अपनी डाइट में कुछ चीजों को जोड़कर भी ये समस्या बंद कर सकते हैं-

4 - गर्म चाय नाक बहने की समस्या को दूर कर सकती है। ऐसे में आप गर्म चाय का सेवन करें। इसके लिए आप गर्म चाय में कुछ जड़ी बूटियों को जैसे- अदरक, पुदीना, कैमोमाइल आदि को जोड़ सकते हैं।

5 - नमक के पानी से बहती नाक को रोका जा सकता है। बता दें कि नमक शरीर में जमा बलगम को बाहर निकालने में मदद करता है। ऐसे में आप गर्म पानी में नमक को मिलाएं और ड्रॉपर की मदद से नाक में डालें। ऐसा करने से समस्या दूर हो सकती है।

6 - लाल मिर्च एंटीहिस्टामाइन के रूप में काम करती है ऐसे में इसके सेवन से ना केवल बलगम निकलती है बल्कि शरीर से विषाक्त पदार्थों को भी बाहर निकाला जा सकता है। यह रक्त परिसंचरण को बढ़ाती है। ऐसे में  अपनी डाइट में लाल मिर्च को जोड़ें।

नोट -ऊपर बताए गए बिंदुओं से पता चलता है कि नाक बहना कोई बीमारी नहीं है। लेकिन यह किसी गंभीर बीमारी के लक्षण जरूर हो सकता है। ऐसे में सावधानी बरतें। अगर आप साइनस या अस्थमा के शिकार हैं तो इस स्थिति में समय-समय पर चेकअप करवाएं। साथ ही अपने आसपास के वातावरण को साफ और स्वच्छ रखें। इसके माध्यम से आप नाक बहने की समस्या को दूर कर सकते हैं। अपनी डाइट में बदलाव करके आप इस समस्या को रोक सकते हैं। लेकिन अगर ऊपर बताइए किसी भी चीज से आपको एलर्जी है तो उसे अपनी डाइट में बिल्कुल ना जोड़ें वरना समस्या और बढ़ सकती है। इसके अलावा गर्भवती महिलाएं डॉक्टर की सलाह पर ही चीजों का सेवन करें।

Read More Articles on Healthy diet in Hindi

Disclaimer