प्रेग्नेंसी के दौरान प्यूबिक बोन (पेड़ू) में दर्द के क्या कारण हो सकते हैं? जानें इसके लक्षण और इलाज

प्रेग्नेंसी के दौरान पेड़ू (पेल्विक एरिया) में दर्द आम माना जाता है। लेकिन इस दर्द के कारण कई बार बड़ी परेशानियां भी हो सकती हैं। जानें इनके बारे में।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Aug 28, 2021 00:00 IST
प्रेग्नेंसी के दौरान प्यूबिक बोन (पेड़ू) में दर्द के क्या कारण हो सकते हैं? जानें इसके लक्षण और इलाज

महिलाओं में प्रेग्नेंसी के दौरान प्यूबिक बोन पेन (Pubic Bone Pain) होना आम होता है। इस प्रकार का दर्द आपको प्रेग्नेंसी के आखिरी के हफ्तों में देखने को मिलेगा। कोलंबिया एशिया अस्पताल की गायनोकोलॉजिस्ट डॉ. रंजना बेकन बताती हैं कि सिंफिसिस प्यूबिक डायस्टैसिस (symphysis pubis diastasis) नामक स्थिति इस दर्द का कारण होती है। बाद की प्रेग्नेंसी में हार्मोन्स के कारण पेल्विस प्यूबिक बोन (Pubic Bone) के आस पास ढीलापन हो जाता है। सामान्य तौर पर यह अच्छी बात होती है। क्योंकि इससे मां और बच्चे दोनों को ही जन्म के समय आसानी होती है। हालांकि इस ढीलेपन की वजह से मां को अधिक दर्द हो सकता है। लेकिन यह दर्द ज्यादा लंबे समय तक नहीं चलता डिलीवरी के बाद धीरे-धीरे खत्म हो जाता है। वैसे भी यह दर्द सिंफिसिस के कारण होता है व प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन यह सुनिश्चित करता है कि मां का शरीर इस स्थिति के पूरी तरह से अनुकूल है। तो आइए जानते हैं इस स्थिति के बारे में विस्तार से लेकिन इससे पहले इसके लक्षणों के बारे में जान लेते हैं।

प्यूबिक बोन पेन के लक्षण क्या हैं (Symptoms)

  1. एसपीडी(SPD) स्थिति का मुख्य लक्षण प्यूबीक पेन ही होता है।
  2. कुछ महिलाओं के लिए बेड से उठना मुश्किल हो जाता है।
  3. गाड़ी में बैठ पाना या बाथ टब में जा पाने में कठिनाई होना।
  4. अधिक देर तक बैठे न रह पाना।
  5. बार बार कोई एक काम न कर पाना।
  6. प्यूबिक बोन में सूजन आना।

प्यूबिक बोन दर्द को बढ़ाने वाले कारक (Risk Factors)

आपको यह प्यूबिक बोन पेन तब होता है जब आपके पेट में एक से अधिक बच्चा होता है। या आप की यह पहली प्रेग्नेंसी नहीं हो। अगर आप के अंदर बहुत बड़ा बच्चा भी होता है तो भी यह दर्द होना कॉमन होता है। अगर पहली प्रेग्नेंसी में एसपीडी स्थिति थी तो उसके बाद वाली प्रेगनेंसी में भी आपको यह दर्द हो सकता है।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी में वजाइना से यलो डिस्चार्ज (पीला चिपचिपा पानी) आने के कारण और बचाव के उपाय

कैसे पहचानें प्यूबिक बोन का दर्द

आपके डॉक्टर इस स्थिति को जांचने के लिए आपका अल्ट्रासाउंड करा सकते हैं। आपके पेल्विस की हड्डियों के बीच का स्थान अल्ट्रासाउंड के माध्यम से दिख सकता है। हालांकि आपके लक्षणों को देख कर भी डॉक्टर आपकी इस स्थिति का अंदाजा लगा सकते हैं। लेकिन कन्फर्म करने के लिए अल्ट्रासाउंड का प्रयोग किया जाता है। अगर आपके बच्चे का जन्म हो चुका है और फिर भी दर्द हो रहा है तो आपको एक्स रे करवा लेना चाहिए।

 

प्यूबिक बोन में दर्द का इलाज (Treatment)

लो बैक और पेल्विस सपोर्ट : प्रेग्नेंसी के दौरान आपको अपना पेल्विस अधिक से अधिक स्थिर करने की आवश्यकता होती है। ताकि आपकी कमर का दर्द कम हो सके। इसके लिए आप किसी फ्लेक्सिबल बेल्ट का भी प्रयोग कर सकती हैं।

फिजिकल थेरेपी या एक्यूपंक्चर : इन उपचारों के बारे में एक बार आपको अपने डॉक्टर से पूछ लेना चाहिए। हालांकि इसमें समय अधिक लग सकता है। लेकिन इस प्रकार के इलाज बहुत ही प्रभावी होते है।

कुछ स्थितियों को अवॉइड करें : आपको वह स्थिति या काम करने से बचना होगा जो आपको दर्द कर रही हैं। जैसे अगर आपको पैंट पहननी है तो पहले बैठ जाएं। एक समय पर एक टांग न उठाएं।

इसे भी पढ़ें- प्रेगनेंसी के दौरान छाछ पीने के फायदे, नुकसान और जरूरी सावधानियां

बहुत सीमित समय तक खड़ी हों : अगर आप लंबे समय तक खड़ी होती हैं तो यह भी आपके दर्द को ट्रिगर कर सकता है। इसलिए आपको सीमित समय तक ही खड़ा रहना चाहिए।

एक्सरसाइज ट्राई करें : इस दर्द से निजात पाने के लिए आप कुछ एक एक्सरसाइज भी ट्राई कर सकती हैं। इन एक्सरसाइज को आप अपने डॉक्टर से कन्फर्म कर लें और केवल कुछ ही समय तक करें।

दवाइयां : कभी कभी अगर आपको अधिक दर्द होता है तो आप दवाइयां भी ले सकती हैं। लेकिन यह दवाइयां भी आपको डॉक्टर की देख रेख में ही लेनी चाहिए।

नोट -  यह दर्द बहुत सी महिलाओं में नॉर्मल होता है और डिलीवरी के बाद अपने आप ही कुछ दिनों में गायब हो जाता है।

Read More Articles on women health in hindi

Disclaimer