घर में बच्चे हैं तो कोविड से बचाव के लिए कैसे करें घर के चीजों की सही साफ-सफाई?

ऐसी आशंका है कि कोरोना की तीसरी लहर बच्चों को ज्यादा प्रभावित कर सकती है। अगर घर में बच्चे हैं तो आप भी साफ-सफाई की ये आदतें बदलें।

Monika Agarwal
विविधWritten by: Monika AgarwalPublished at: May 22, 2021
घर में बच्चे हैं तो कोविड से बचाव के लिए कैसे करें घर के चीजों की सही साफ-सफाई?

कोविड के मामले दूसरी लहर के दौरान तेजी से बढ़ और अब घटना शुरू हो चुके हैं। इस बार यह वायरस केवल बुजुर्गों को ही नहीं बल्कि हर उम्र के लोगों पर असर कर रहा है। यहां तक कि इस बार बच्चे भी कोविड से संक्रमित हो रहे हैं। वहीं कुछ एक्सपर्ट्स और वैज्ञानिकों का कहना है कि कोविड की तीसरी लहर संभवतः बच्चों के लिए खतरनाक हो। डॉ. पल्लवी राव चतुर्वेदी ,’गेट—सेट—पैरेंट विद पल्लवी’ की संस्थापक ,अर्ली चाइल्डहुड एसोसिएशन की उपाध्यक्ष कहती हैं कि आपको यह याद रखना चाहिए कि बच्चों के लिए अभी तक कोई वैक्सीन भी नहीं अप्रूव हुई है, हालांकि कुछ समय में कोवैक्सिन का ट्रायल शुरू होने वाला है।

अगर आप अपने बच्चों के प्रति सचेत नहीं रहेंगे तो उनके लिए कोविड खतरनाक हो सकता है क्योंकि बच्चों की इम्यूनिटी कमजोर होती है। हालांकि बच्चों में कोविड के ज्यादा गंभीर लक्षण देखने को कम मिले हैं, लेकिन संक्रमण फैलने और फैलाने का खतरा फिर भी बना हुआ है। इसलिए सबसे पहले तो अपने घर से शुरू करें। अपने घर की साफ सफाई (Cleanliness) का ध्यान रखें। अगर आपके घर में बच्चे हैं तो आपको इस महामारी के समय घर की साफ सफाई (Cleanliness) का विशेष ध्यान करना होगा, क्योंकि हो सकता है किसी सरफेस या सतह पर वायरस हो। जो पूरे घर में और यहां तक कि बच्चों में भी संक्रमण फैला दें। इसलिए निम्न बातों का रखें ध्यान।

home cleaning

आसपास की चीजों को डिसइंफेक्टेंट करना

अगर आपके घर में छोटे बच्चे हैं तो आपको और भी ज्यादा सुरक्षा का प्रबंध करना चाहिए क्योंकि बच्चे नादान और बहुत ही शरारती होते हैं। वह घर की हर चीज को छूने की कोशिश करते हैं। इसलिए अपने घर की साफ सफाई (Cleanliness) करते ध्यान रखें इन बातों का।

  • आपको अपने बाथरूम या आसपास की चीजों को डिसइन्फेक्ट करते रहना चाहिए।
  • बच्चों के लिए और घर के अन्य सदस्यों के लिए एक ही हैंड टॉवल का प्रयोग करने से बचें।
  • अगर घर में किसी रूम के साथ अटैच बाथरूम है तो सभी लोग कॉमन बाथरूम का प्रयोग न करें।
  • घर के सभी दरवाजों के हैंडल्स, खिड़की और ऐसी छोटी छोटी चीजों को नियमित रूप से साफ करते रहें जिन चीजों को सब बार बार छूते हैं।
  • घर से बाहर जा रहे हैं तो आने के बाद उन कपड़ों को जरूर धोएं। धोने के लिए अलग बाल्टी का प्रयोग करें और इन्हें गर्म पानी से ही धोएं।
  • अगर घर में कोई बीमार है तो उनके कपड़े बाकी के गंदे कपड़ों के साथ न मिलाएं बल्कि अलग से धोएं।

बेडरूम को रखें साफ (Keep the Bedroom Clean)

बच्चे सबसे ज्यादा बेडरूम में रहते हैं ऐसे में बेडरूम की सफाई बेहद जरूरी है। इसलिए जिपर्ड और प्लास्टिक के गद्दों का प्रयोग करें और तकिया के कवर का प्रयोग भी अवश्य करें। जर्म्स और सभी प्रकार के कीटाणुओं को मारने के लिए आपको हफ्ते में एक बार सभी प्रकार के बिस्तरों को 130 डिग्री फॉरेनहाइट तापमान से ऊपर वाले पानी में धोने चाहिए। जो गद्दे कवर्ड नहीं हैं उन्हें वैक्यूम क्लीनर से साफ कर सकते हैं।

cleaning bedroom

बाथरूम की सफाई है जरूरी (Keep the Washroom Clean)

  • बाथरूम से फंगस और मोल्ड आदि को खत्म करने के लिए एक अच्छे डिसइनफेक्टेंट का प्रयोग करें।
  • नहाने के बाद सभी प्रयोग की गई चीजों और बाथरूम के पर्दे आदि को किसी तौलिया या वाइप की मदद से साफ कर लें।
  • कूड़ेदान को रोज खाली करें और सॉलिड और प्रयोग किए गए टिश्यू पेपर को फेंक दें।
  • इसके साथ ही आपको बाथरूम हैंडल को भी साफ करना चाहिए। अगर यह स्टील का है तो इस पर वायरस 3 दिन तक टिक सकता है। इस हैंडल को नियमित रूप से सैनिटाइज और डिसइन्फेक्टेड करते रहिए।

रसोई को करें साफ (Keep the Kitchen Clean)

कॉपर की चीजों पर यह वायरस 8 घंटे तक रह सकता है। कार्डबोर्ड की चीजों पर 24 घंटे तक और स्टेनलेस स्टील पर 48 घंटे व प्लास्टिक पर 3 दिनों तक रह सकता है। सबसे पहले आपको कोई भी चीज छूने से पहले अपने हाथों को अच्छे से धो लेना है और उन्हें सैनिटाइज कर लेना है। इसके बाद आपको रसोई की सभी सरफेस को पौंछना है। किसी भी सिल्वर के बर्तन का प्रयोग करने से पहले और बाद में उन्हें धो दें। बाकी की सभी चीजों को साफ करने के लिए आप स्पंज या डिश टॉवल का प्रयोग कर सकते हैं।

हाथ धोने की सही तकनीक  (Hand Washing Techniques)

यह एक सही समय है जिसमें आप अपने बच्चों को हाइजीन की बेसिक बातें जैसे अपने हाथों को हर समय साफ रखना आदि सिखा सकते हैं। जिस समय वह अन्य बच्चों के साथ खेल रहे हों तो आपको उनको एक सेनिटाइजर की बोतल जरूर देनी चाहिए। अपने बच्चों को हाथ धोने की सही तकनीक सिखाना बहुत आवश्यक है। उन्हें हाथ किस समय पर धोने हैं यह भी जरूर बताएं। उन्हें यह बताएं कि उन्हें अपनी उंगलियों के बीच में, हाथ के ऊपर व नीचे दोनों भागों में और अपने नाखूनों के बीच में अच्छे से साफ करना चाहिए ताकि उनके हाथ पूरी तरह से डिसइंफेक्टेंट हो सके। अपने बच्चों को बार बार हाथ धोने के लिए प्रेरित करें। उन्हें हर चीज जैसे दरवाजे का हैंडल या किसी पब्लिक में रखी चीज का प्रयोग करने के पहले व बाद में अपने हाथों को साफ करने के लिए बोलें। क्योंकि यह ऐसी चीजें हैं जिन्हें हम इग्नोर कर देते हैं लेकिन वायरस इनमें भी हो सकता है।

इसे भी पढ़ें: कीटाणु युक्त इन चीजें को रोज छूते हैं आप, जानें क्या हैं ये और क्यों जरूरी है इनकी सफाई

समाजिक दूरी सिखायें (Teach Social Distancing)

अपने बच्चों को इस समय दूसरे बच्चों के साथ न खेलने दें क्योंकि इससे उनका संक्रमण का खतरा बढ़ता है। अगर आपके घर में कोई पालतू जानवर है तो आप उसके साथ अपने बच्चों को खेलने दे सकते हैं। पालतू के साथ खेलने के कारण बच्चों को बाहर की याद ही नहीं आएगी। लेकिन पालतू जानवर की साफ-सफाई का भी ख्याल करें।

how to clean home during covid

किसी व्यक्ति के बाहर से आने के बाद घर की सफाई (Visitor Can Bring Virus)

इस समय आप किसी विजिटर को अपने घर न आने दें वही सी है। क्योंकि बाहर से आने वाले लोग भी कोविड से संक्रमित हो सकते हैं। अगर आपके घर कोई बाहर का व्यक्ति यदि आ भी जाता है तो उनके आते ही पहले हाथ सेनेटाइज करवाएं। उनके जाने के बाद आपको उनके द्वारा छुयी गई सभी सरफेस को सेनेटाइज करना चाहिए और अपने घर को और फर्श को डिसइन्फेक्टेंट से साफ करना चाहिए। ताकि घर का कोई बच्चा किसी सरफेस को छुए तो संक्रमित ना हो पाए। यही नहीं यदि आपने ऑनलाइन कोई भी आर्डर किया है तो बच्चे को उसे न छूने दें। क्योंकि पैकिंग के जरिए भी वायरस घर में प्रवेश कर सकता है। नहीं आप इसे स्वयं छुए। बल्कि इसे कुछ घंटों के लिए किसी खुली जगह पर रख दें।

आपका इस समय पूरे घर की नियमित रूप से सफाई करते रहना जरूरी है। वैसे भी घर में अगर बच्चे हों तो वह एक जगह नहीं टिक कर बैठते। वह घर के हर कोने में घूमते हैं। ऐसे में घर के हर कोने की साफ सफाई का ध्यान रखें। इन सभी चीजों के अलावा हम कुछ छोटी छोटी चीजों को साफ करना भूल जाते हैं। इसलिए आपको दरवाजों के हैंडल, दीवार, कारपेट और रग आदि को भी नियमित रूप से डिस इन्फेक्टेड करते रहना चाहिए। मैट्स को नियमित रूप से झाड़ते रहें और उन्हें धूल से मुक्त करें। खिड़की और दरवाजे खोल कर पंखा चला दें ताकि आपके घर के अंदर अधिक से अधिक हवा और ऑक्सीजन आ सके।

डॉ. पल्लवी राव चतुर्वेदी ,’गेट—सेट—पैरेंट विद पल्लवी’ की संस्थापक ,अर्ली चाइल्डहुड एसोसिएशन की उपाध्यक्ष से बातचीत पर आधारित..

Read More Articles on Miscellaneous in Hindi

Disclaimer