Expert

क्या प्रेग्नेंसी के दौरान आप खसखस (पोस्ता) के बीज खा सकती हैं? जानें इसके फायदे और नुकसान

खसखस या पोस्ता के दाने का सेवन सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन क्या प्रेगनेंसी के दौरान इसका सेवन आपको करना चाहिए? जानें एक्सपर्ट से।

Monika Agarwal
Written by: Monika AgarwalUpdated at: Nov 14, 2021 00:00 IST
क्या प्रेग्नेंसी के दौरान आप खसखस (पोस्ता) के बीज खा सकती हैं? जानें इसके फायदे और नुकसान

वैसे तो खसखस (Poppy Seeds) का सेवन मिठाइयों में अक्सर होता रहा है। लेकिन यदि आप गर्भवती हैं और आप के मन में इसके सेवन को लेकर कोई संदेह है तो बता दें कि थोड़ी बहुत मात्रा में इसका सेवन सुरक्षित है। पहले तो यह जाने की खसखस क्या है? इसे पोस्ता का दाना भी बोला जाता है जोकि एक पौधे के बीज होते हैं। इसका प्रयोग बहुत से शारीरिक बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। इसके बीजों से तेल भी निकाला जाता है। मदरहुड हॉस्पिटल में सीनियर कंसल्टेंट एंड गाइनेकोलॉजिस्ट डॉ मनीषा रंजन के मुताबिक जब एक महिला गर्भवती होती है तो उसके लिए संतुलित और पौष्टिक डाइट का सेवन करना काफी जरूरी होता है। उसके शरीर को मजबूत बनने और उसके बच्चे के विकास के लिए पौष्टिक चीजों की खास जरूरत होती है। इसलिए अगर आप प्रेग्नेंसी में किसी अच्छे पौष्टिक पदार्थ को ढूंढ रही है तो आप खसखस का सेवन जरूर करें। इसमें ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है। यही नहीं इसमें ओमेगा-6, फाइबर, प्रोटीन, साथ में फाइटोकेमिकल्स,थायमिन, विटामिन-बी और मैंगनीज व कैल्शियम भी पाया जाता है।

प्रेग्नेंसी में खसखस खाने के क्या क्या लाभ मिलते हैं (Health Benefits Of Poppy Seed During Pregnancy)

  • खसखस से आपको लगभग 50% एसेंशियल ऑयल और फैट्स मिल सकते हैं जो आपके और आपके बच्चे के लिए लाभदायक हैं।
  • खसखस में ओलिक और लिनोलिक एसिड मौजूद होते हैं जोकि अन सैचुरेटेड फैट का प्रकार होते हैं और यह फैट आपके अच्छे कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ा सकते हैं। साथ ही हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को कम कर सकते हैं।
  • इससे आप हृदय रोगों से भी बच सकती हैं।
  • प्रेग्नेंसी में अक्सर पाचन से जुड़ी समस्याएं देखने को मिलती हैं और खसखस के भूसे में फाइबर होता है जो आपको इन सभी समस्याओं से निजात पाने में मदद कर सकता है।
  • यह आपकी कब्ज की समस्या को भी दूर कर सकता है।
  • खसखस में कैल्शियम और मैग्नेशियम की मात्रा भी मौजूद होती है। यह दोनों तत्त्व भी प्रेगनेंट महिला और उसके बच्चे के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक होते हैं।
  • खसखस में फोलिक एसिड, नियासिन आदि तत्त्व होते है जो आपके अंदर ऊर्जा लाने का काम करते हैं।

खसखस का नुकसान  (Side Effects Of Poppy Seeds)

  • खसखस में कोडीन नाम का तत्त्व मौजूद होता है। अगर इसकी मात्रा अधिक हो जाती है तो आपके बच्चे को 3 महीनों के बाद सांस लेने में समस्या हो सकती है। इसलिए इसका सेवन सीमा में ही करें।
  • इसके अधिक सेवन के कारण कॉन्ट्रैक्शन भी समय से पहले हो सकती हैं।
  • खसखस में कुछ टॉक्सिंस भी होते हैं जो बच्चे और मां दोनों के लिए हानिकारक हो सकते हैं।

कैसे खा सकते हैं खसखस या पोस्ता के दाने (Food In Which We Can Add Poppy Seeds)

सलाद की ड्रेसिंग, रोल्स, केक, मफिन और बहुत सी डेज़र्ट्स में खसखस का प्रयोग किया जाता है। इसलिए अगर आपका कभी कभार इस प्रकार की चीजें खाने का मन करता है तो आप खा सकती हैं। लेकिन इनका अधिक सेवन करना भी अच्छा नहीं होगा। क्योंकि इनमें शुगर आदि होता है। जिससे आपका डायबिटीज का रिस्क बढ़ सकता है।

अगर आपका कभी कभार खसखस खाने का मन करे तो आप खा सकती हैं। लेकिन रोजाना इसे अपनी डाइट में शामिल न करें। इसके अलावा अगर आप इसके लिए कोई अच्छा और हेल्दी विकल्प ढूंढ रही हैं तो आप अलसी के बीज, तिल, चिया सीड आदि का सेवन भी कर सकती है। इनका सेवन खसखस से अधिक सुरक्षित होता है।
 
 
Disclaimer