इन 5 तरह के लोगों को नहीं पीना चाहिए गन्ने का जूस, हो सकता है नुकसान

मोटापा और फूड प्वाइजनिंग की स्थिति में गन्ने का जूस पीना नुकसानदायक हो सकता है। जानें किन लोगों को गन्ने का जूस नहीं पीना चाहिए-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatPublished at: Jun 01, 2022Updated at: Jun 01, 2022
इन 5 तरह के लोगों को नहीं पीना चाहिए गन्ने का जूस, हो सकता है नुकसान

Sugarcane Juice Side Effects in Hindi: गर्मी में शरीर को ठंडा, तरोताजा और ऊर्जावान बनाए रखने के लिए गन्ने का जूस पीना काफी फायदेमंद होता है। गन्ने के जूस में ऊर्जा, कार्बोहाइड्रेट्स, मिनरल्स, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम और पोटैशियम अच्छी मात्रा में पाया जाता है। गर्मी के मौसम में सेहतमंद रहने के लिए अकसर गन्ने का जूस पीने की सलाह दी जाती है। लेकिन गन्ने का जूस सभी लोगों के लिए फायदेमंद नहीं हो सकता है। कुछ लोगों को गन्ने का जूस पीने से नुकसान भी पहुंच सकता है। जैसे फूड प्वाइजनिंग, मोटापा और सर्दी-जुकाम की स्थिति में गन्ने का जूस बिल्कुल नहीं पीना चाहिए। क्योंकि गन्ने का जूस इन समस्याओं को बढ़ा सकता है।

तो चलिए विस्तार से जानते हैं गन्ने का जूस किन-किन लोगों को नहीं पीना चाहिए।

sugarcane and obesity

1. फूड प्वाइजनिंग होने पर

अगर आपको फूड प्वाइजनिंग हो जाती है, तो गन्ने का जूस बिल्कुल न पिएं। क्योंकि यह समस्या को बढ़ा सकता है। दरअसल, गन्ने का जूस ठेले पर बनाया जाता है और साफ-सफाई का ध्यान नहीं रखा जाता है। कई बार गन्ने के ठेले पर मक्खियां भी बैठी रहती हैं। इससे गन्ने का जूस अनहेल्दी बनता है। ऐसे में आपको नुकसान पहुंच सकता है। इस स्थिति में गन्ने का जूस पीने से पेट में दर्द, ऐंठन महसूस हो सकती है।

2. सिरदर्द होने पर

गन्ने का जूस सिरदर्द को भी ट्रिगर कर सकता है। अगर आपको अकसर ही सिरदर्द रहता है, तो गन्ने का जूस पीने से परहेज करें। सिरदर्द होने पर बहुत अधिक मात्रा में गन्ने का जूस न पिएं। लेकिन सीमित मात्रा में गन्ने का जूस पिया जा सकता है। इससे आपको सिर घूमने, सिरदर्द जैसी समस्याएं हो सकती हैं। 

इसे भी पढ़ें- वजन घटाने से लेकर एजिंग के लक्षण रोकने तक, काले गन्ने का जूस पीने से मिलेंगे ये 6 फायदे

3. ब्लड शुगर बढ़ने पर

अगर आप डायबिटीज रोगी है, तो आपको गन्ने का जूस डॉक्टर की सलाह पर ही पीना चाहिए। गन्ने में शुगर की मात्रा बहुत अधिक होती है। ऐसे में अगर आप गन्ने के जूस का सेवन करते हैं तो इससे शरीर में ग्लाइसेमिक लोड बढ़ सकता है। इसकी वजह से शरीर में ब्लड शुगर बढ़ सकता है और कई गंभीर रोग पैदा हो सकता है। इसलिए डायबिटीज रोगियों को गन्ने के जूस से परहेज ही करना चाहिए।

sugarcane juice and obesity

4. मोटापा होने पर

अगर आपका वजन बहुत अधिक है, तो इस स्थिति में अधिक गन्ने का जूस पीने से बचें। गन्ने का जूस पीने से शरीर में कैलोरी की मात्रा बढ़ सकती है। इससे आपका वजन बढ़ सकता है। गन्ने में नैचुरल शुगर होता है, इससे आपका वजन अधिक बढ़ सकता है

इसे भी पढ़ें - गन्ने का जूस कब पीना चाहिए? सही समय पर इस जूस को पीने से सेहत को मिलते हैं कई फायदे

5. सर्दी-जुकाम होने पर

सर्दी-जुकाम होने पर भी आपको गन्ने का जूस नहीं पीना चाहिए। गन्ने के जूस की तासीर ठंडी होती है, इससे सर्दी-जुकाम और खांसी ट्रिगर हो सकती है। गन्ने का जूस गले में खराश, बलगम निकलना जैसी समस्याएं हो सकती हैं। अगर आपको ठंड ज्यादा लगती है, तो गन्ने का जूस पीने से बचें। 

गन्ने का जूस पीना सेहत के लिए फायदेमंद होता है। लेकिन गन्ने का जूस हमेशा स्वस्थ जगह और तरीके से पीना चाहिए। फ्रिज में रखा हुआ गन्ने का जूस कभी नहीं पीना चाहिए। इसके अलावा ज्यादा समय से रखा हुआ गन्ने का जूस भी नहीं पीना चाहिए। क्योंकि गन्ने का जूस बहुत जल्दी खराब हो जाता है। इसलिए जब गन्ने का जूस बनता है, उसे उसी समय पी लेना चाहिए। अगर आप भी इन कैटेगरी में आते हैं, तो गन्ने का जूस पीने से बचना चाहिए। इसके अलावा अगर आप किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या का सामना कर रहे हैं, तो भी डॉक्टर की सलाह पर ही गन्ने के जूस का सेवन करें।

Disclaimer