टीनएज लड़कियों में भी देखी जा रही है PCOS की समस्या, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

आजकल टीनएज लड़कियों में भी PCOS की समस्या देखी जा रही हैं। जानें इसके कारण और बचाव के उपाय।

Monika Agarwal
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Monika AgarwalPublished at: Aug 27, 2022Updated at: Aug 27, 2022
टीनएज लड़कियों में भी देखी जा रही है PCOS की समस्या, जानें इसके लक्षण, कारण और इलाज

पीसीओएस की समस्या अब टीनएज लड़कियों में काफी देखने को मिल रही है। पीसीओएस  में लड़कियों को कई लक्षणों का अनुभव हो सकता है जैसे पीरियड्स का ना होना, अनियमित पीरियड्स, पीरियड्स में ब्लीडिंग ज्यादा होना या चेहरे पर पिंपल्स होना। पीसीओएस टीनएज लड़कियों में होने वाला एक एंडोक्राइन डिसऑर्डर है, जिसमें शरीर के हार्मोन डिसबैलेंस हो जाते हैं और टीनएज लड़कियों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। यह हार्मोनल परिवर्तन ओवरी के फंक्शन को प्रभावित करता है, जिससे ओव्युलेशन में समस्या होती है और पीरियड्स अनियमित हो जाते हैं।  अनियमित पीरियड्स आगे चलकर प्रजनन संबंधी समस्याओं का कारण बन सकते हैं।

यदि पीसीओएस को मैनेज नहीं किया गया तो, इससे अन्य स्वास्थ्य समस्याएं हो सकती हैं, जैसे-  40 वर्ष की आयु से पहले डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर, हाई कोलेस्ट्रॉल आदि। पीसीओएस लगभग 5% से 10% टीनएज और 15 से 44 के बीच की उम्र वाली महिलाओं को प्रभावित कर सकता है।

Irregular periods

टीनएज लड़कियों में PCOS के कारण 

आकाश हेल्थ केयर सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में सीनियर गायनेकोलॉजिस्ट डॉक्टर मनीषा रंजन के अनुसार किशोरियों में पीसीओएस की सही वजह अभी भी पूरी तरह से ज्ञात नहीं लेकिन जेनेटिक्स और हार्मोन इंबैलेंस के कारण भी ऐसा हो सकता है। सेक्स हार्मोन जैसे कि एस्ट्रोजन, प्रोजेस्ट्रोन और एंड्रोजन ओवरी द्वारा बनाया जाता है। सामान्यतः लड़कियों के शरीर में एंड्रोजन हार्मोन बहुत कम बनता है। लेकिन जब एंड्रोजन नॉर्मल लेवल से ज्यादा बनने लगता है, तो ओव्यूलेशन और एग डेवलपमेंट बनने की साइकिल डिस्टर्ब हो जाती है, जिसकी वजह से ओव्यूलेशन पूरी तरह से नहीं हो पाता। इसके कारण ओवरीज में बड़े छोटे सिस्ट बनने लगते हैं, जिनसे अधिक मात्रा में एंड्रोजन निकलने लगता है। इस कारण पीरियड साइकिल डिस्टर्ब होने लगती है।

इसे भी पढ़ें- अनियमित पीरियड्स (Irregular Periods) की समस्या दूर करने के लिए अपनाएं ये 5 अच्छी आदतें

टीनएज लड़कियों में PCOS के लक्षण

  • अनियमित पीरियड्स
  • बॉडी पार्ट्स पर असामान्य हेयर ग्रोथ
  • पिंपल्स और मुंहासे
  • अधिक मोटा होना
  • वेट लूज करने में अधिक परेशानी होना
  • शरीर के नीचे का हिस्सा अधिक मोटा होना
teenage periods

पीसीओएस का इलाज कैसे किया जाता है?

वैसे तो पीसीओएस का कोई इलाज नहीं है लेकिन लाइफस्टाइल में बदलाव करके इसे कंट्रोल किया जा सकता है। जो इस प्रकार हैं-

नियमित एक्सरसाइज

एक्सरसाइज हमारे शरीर के लिए बेहद खास मानी जाती है। यह वजन घटाने में मदद कर सकती है।  अध्ययनों से पता चलता है कि अधिक वजन वाले किसी भी व्यक्ति के शरीर के वजन में 5% की कमी भी पीसीओएस के कुछ लक्षणों को खत्म करने में मदद मिल सकती है।

इसे भी पढ़ें- समय से पहले या देर से पीरियड्स होने के 7 कारण, जानें क्यों अनियमित हो जाती है माहवारी

पौष्टिक आहार

पौष्टिक आहार वजन कम करने, इंसुलिन के स्तर को बैलेंस करने और हृदय को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है।

हेयर ग्रोथ का इलाज

आपके शरीर के एक्स्ट्रा बालों का इलाज वैक्सिंग, ब्लीचिंग या डिपिलिटरी से किया जा सकता है। बालों की ग्रोथ को कम करने और बालों को बेहतर बनाने में कुछ दवाओं का उपयोग भी किया जा सकता है।

हार्मोन थेरेपी

हार्मोनल थेरेपी भी पीसीओएस का इलाज कर सकती है।

टीनएज लड़कियों के लिए पीसीओएस का इलाज थोड़ा मुश्किल भरा हो सकता है लेकिन इन तरीकों को अपनाकर आसानी से इस स्थिति से निकल सकती हैं।

Disclaimer