सेहत के लिए फायदेमंद होता है माजूफल, जानें इससे मिलने वाले 5 स्वास्थ्य लाभ और कुछ नुकसान

माजूफल या मायाफल एक आयुर्वेदिक पौधा है, जो सेहत से जुड़ी कई समस्याओं में फायदेमंद साबित होता है।

 

Kunal Mishra
Written by: Kunal MishraPublished at: May 09, 2021Updated at: May 09, 2021
सेहत के लिए फायदेमंद होता है माजूफल, जानें इससे मिलने वाले 5 स्वास्थ्य लाभ और कुछ नुकसान

आयुर्वेद में विशेष महत्व पाने वाले कई ऐसे पौधे हैं, जो बेहद गुणकारी हैं। जिन्हें कई बीमारियों से निदान के लिए इस्तेमाल किया जाता है। गुणों से भरपूर ऐसा ही एक पौधा है माजूफल (Oak Gall)। क्या आप इसके बारे में जानते हैं? अगर नहीं, तो इस लेख के माध्यम से आज हम माजूफल के फायदे और नुकसान के बारे में विस्तार से जानेंगे। दरअसल, माजूफल एक औषधीय पौधा है, जो एंटी ऑक्सीडेंट्स और इन्फ्लामेटरी प्रॉपर्टीज से भरपूर (Loaded with Anti oxidant and Anti Inflammatory Properties) है। यह स्वास्थ्य संबंधी कई बीमारियों से छुटकारा भी दिलाता है। माजूफल को स्थानीय भाषा में ओक एप्पल के नाम से भी जाना जाता है। इसके फल के साथ ही इसकी पत्तियां भी कई समस्याओं में उपयोगी साबित होती हैं। त्वचा संबंधी विकारों को दूर करने के अलावा यह गले की समस्याएं और डायबिटीज आदि में काफी सहायक माना जाता है। आइये जानते हैं माजूफल से होने वाले कुछ फायदे और नुकसान के बारे में। 

stomach

1. डायरिया (Diarrhea)

माजूफल का इस्तेमाल डायरिया को ठीक करने में भी किया जाता है। माजूफल के चमत्कारी गुण डायरिया से उठने वाले भयंकर पेट दर्द को भी कम करते हैं। इसकी एस्ट्रीजेंट प्रॉपर्टीज मल में खून आने से रोकती हैं। डायरिया (Diarrhea) का उपचार करने के लिए माजूफल के पाउडर को दालचीनी पाउडर और शहद के साथ मिलाकर सेवन करें। यह आपको पेचिश से भी बचाता है। इसे केवल शहद के साथ भी खाया जा सकता है, लेकिन जल्दी परिणाम के लिए इसमें दालचीनी जरूर डालें। इसके एंटीबैक्टीरियल और एंटीवायरल गुण डायरिया से जल्द राहत दिलाते हैं। 

इसे भी पढ़ें - गोरखमुंडी के पौधे से शरीर को होते हैं ये 5 फायदे, जानें कैसे करें इसका उपयोग

2. पाइल्स (Piles)

पाइल्स असंतुलित खान-पान (Imbalanced Diet) के कारण मलाशय में होने वाली जलन सूजन और रक्तस्राव होता है। पाइल्स बहुत दर्दनाक हो सकती है। इससे मल में खून भी आ सकता है। इस समस्या में बार-बार बाथरूम जाने की स्थिति बन जाती है। पाइल्स के इलाज के लिए आप माजूफल का इस्तेमाल कर सकते हैं। माजूफल में सूजनरोधी गुण होते हैं, जो मलाशय की सूजन को कम करते हैं। इसका सेवन आपकी शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है। इससे मल भारी बनता है। मल त्यागते समय दर्द और खून आने की आशंका कम हो जाती है। माजूफल मलाशय में ठंडक पहुंचकर जलन को कम करता है। इसके लिए आप चाहें तो माजूफल का चूर्ण खा सकते है या फिर गर्म पानी में मिलाकर भी इसे पी सकते हैं। आप चाहें तो रोज सुबह माजूफल के चूर्ण की चाय का भी सेवन कर सकते हैं। 

skin

3. त्वचा के लिए लाभदायक (Healthy For Skin)

माजूफल हाइपरपिग्मेंटेशन (Hyperpigmentation) ठीक करता है। यह तेज़ धूप से त्वचा पर होने वाले नुकसान से भी राहत दिलाता है। लाल, सांवली और झुलसी हुई त्वचा को माजूफल से ठीक किया जा सकता है। माजूफल की एंटीएस्ट्रीजेंट और एंटी एजिंग प्रॉपर्टीज त्वचा को टाइट बनाए रखती हैं और झुर्रियां नहीं आने देतीं। इसके एंटीबैक्टीरियल और एंटीफंगल गुण त्वचा के फंगल इंफेक्शन को भी ठीक करते हैं। इस फल में हीलिंग गुण होते हैं। माजूफल के इस्तेमाल से घाव भी जल्दी भर जाते हैं। छोटी-मोटी चोट को ठीक करने में भी माजूफल का प्रयोग किया जा सकता है। त्वचा पर माजूफल के इस्तेमाल के लिए माजूफल का पाउडर शहद के साथ मिलाकर एक पेस्ट बनाकर प्रभावित त्वचा पर लगाएं। 

4. मुंह के छाले (Mouth Ulcers)

मुंह में यदि छाले हो जाएं तो यह दर्दनाक स्थिति बना सकते हैं। इससे खाने-पीने में भी बहुत तकलीफ होती है। ये छाले पेट की गर्मी या खाते या ब्रश करते समय ज़ख्म होने से भी होते हैं। इन छालों को ठीक करने के लिए घरेलू उपचार के तौर पर आप माजूफल का इस्तेमाल बिना किसी संकोच के कर सकते हैं। इनका प्रयोग तो बच्चो पर भी किया का सकता है। इसके लिए माजूफल को पानी में भिगो कर रखें। अब इसकी मदद से एक लेप तैयार करें। इस लेप को मुंह में जहां छाले हुए हैं वहां लगाएं। रोज़ाना इसे लगाने से छाले कुछ ही दिनों में गायब हो जाएंगे। माजूफल की एस्ट्रीजेंट प्रॉपर्टी एंटीमाइक्रोबियल गुण एंटीऑक्सिडेंट्स एंटी इन्फ्लामेटरी गुण मुंह के छालों को ठीक करने में मदद करती है। 

teethpain

5. दांतो के स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद (Healthy For Teeth)

माजूफल दांतों को हेल्दी बनाए रखने के लिए बहुत लाभदायक माने जाते हैं। माजूफल का इस्तेमाल करने से दांतो में सूजन कम होती है। माजूफल में सूजनरोधी गुण पाए जाते हैं। यह दर्द भी कम करता है और साथ में मसूड़ों से खून बहने से भी रोकता है। ब्लीडिंग गुम्स के लिए माजूफल बहुत फायदेमंद है। माजूफल से बने पाउडर से दांतो को साफ करने से दांतो से गंदगी अच्छे से निकल जाती है और मुंह से गंध आना भी बंद हो जाता है। कई टूथ पेस्ट में माजूफल को मिलाया जाता है। इससे दांतो का दर्द, पायरिया और Gingivitis का उपचार किया जाता है। हेल्दी दांतो और मसूड़ों के लिए माजूफल पाउडर को पानी में उबाल कर गरारे करना लाभदायक होता है। 

इसे भी पढ़ें - दमबेल खाने से सेहत को मिलते हैं कई जबरदस्त फायदे, जानें इसके नुकसान भी

6. योनि रोग में फायदेमंद (Beneficial for Vaginal Disease)

योनि रोग में माजूफल बहुत लाभदायक साबित होते हैं। माजूफल के प्रयोग से योनि के संक्रमण को ठीक किया जा सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि माजूफल में एंटीमाइक्रोबियल और एंटीबैक्टीरियल गुण होते हैं। संक्रमण पहुंचाने वाले माइक्रोब्स और जीवाणुओं का खात्मा करने में माजुफल सक्षम साबित हुए हैं। इससे योनि की जलन खुजली से भी राहत मिलती है। प्रेग्नेंसी के बाद योनि की कसावट के लिए भी माजूफल का प्रयोग किया का सकता है। इसके लिए पानी में माजूफल को तबतक उबालें जब तक पानी का रंग नहीं बदल जाए। इसके बाद पानी को छानकर ठंडा होने दें और फिर इस पानी से योनि को धोए। माजूफल का इस्तेमाल ल्यूकोरिया की समस्या के लिए भी किया जाता है। रोज़ाना माजूफल के चूर्ण को पानी में मिलाकर ड्रिंक की तरह पीने से योनि स्वस्थ रहती है।

माजूफल खाने के नुकसान (Side Effects of Oak Galls)

  • अगर आप गर्भावस्था में इसका सेवन कर रही हैं तो इसे खाने से बचें।
  • बच्चों को अधिक मात्रा में माजूफल का सेवन नहीं कराएं।
  • स्वाद अच्छा नहीं लगने पर आपको जी मचलना जैसी समस्या हो सकती है।
  • किसी गंभीर समस्या में इसका उपयोग करने से पहले चिकित्सक की सलाह जरूर लें।

माजूफल सदियों से आयुर्वेद का भरोसा रहा है। इसका सेवन संतुलित मात्रा में और ठीक तरीके से किया जाए तो निश्चित तौर पर यह आपके लिए फाय़देमंद साबित होगा। हालांकि गलत मायनों में इसका प्रयोग करने से कई नुकसान भी हो सकते हैं। 

Read more Articles on Ayurveda in Hindi

Disclaimer