नई माताओं की इन गलतियों से उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, जानें कैसे करें बदलाव

अगर आप भी एक नई मां बनी हैं तो इन गलतियों को भूल कर भी न करें, जानें खुद को और बच्चे को कैसे रखना चाहिए हेल्दी।

Vishal Singh
महिला स्‍वास्थ्‍यWritten by: Vishal SinghPublished at: May 22, 2020Updated at: May 22, 2020
नई माताओं की इन गलतियों से उनके स्वास्थ्य पर पड़ता है बुरा असर, जानें कैसे करें बदलाव

बच्चे को जन्म देने के बाद महिलाओं की जिम्मेदारी बढ़ जाती है, ऐसे में बच्चे के पोषण का पूरा ख्याल रखना बहुत जरूरी होता है। सभी महिलाएं अपने बच्चों को पूरी तरह पोषक देती तो हैं लेकिन इस बीच वो अपना ही ख्याल रखना भूल जाती है। अपनी फिटनेस और अपनी जीवनशैली से महिलाओं को काफी समझौता करना पड़ता है जिससे कि वो अपने बच्चे का पूरा ख्याल रख सके और उन्हें स्वस्थ रख सके। रिपोर्टों के अनुसार, पोषण हमारी फिटनेस की ओर 80 प्रतिशत का योगदान देता है। इसी की वजह से हम पूरे दिन काम कर पाते हैं और एक्टिव रहते हैं। लेकिन महिलाएं ऐसा नहीं कर पाती। आज हम बात कर रहे हैं सभी नई माताओं कि जो आम गलतियां करती है। 

बच्चे को जन्म देने के बाद से ही बच्चे और उसकी मां को ज्यादा से ज्यादा पोषण की जरूरत होती है। क्योंकि वे बहुत से आंतरिक और बाहरी परिवर्तनों से गुजरती हैं। एक अच्छे स्वास्थ्य को बनाए रखने के बिना  नई माताओं को एक धीमी गति का अनुभव हो सकता है और उनके वजन को कम करने की योजना को बर्बाद कर सकता है। यह एक ऐसी चीज नहीं है जिसके लिए आपको अपनी जीवनशैली को बहुत ज्यादा अस्त-व्यस्त करना पड़ता हो। आपको सिर्फ अपने खाने की गलतियों से बचते हुए अपनी मानसिकता को बदलना और स्वस्थ भोजन करना है। आइए बताते हैं वो आपकी कौन सी गलतियां होती है। 

womens health

स्तनपान के दौरान डाइटिंग करना (Dieting during breastfeeding)

बच्चे को स्तनपान कराने के दौरान एक मां के शरीर को बहुत ज्यादा पोषण की जरूरत होती है और प्रभावी स्तनपान के लिए महिलाओं को अपने आहार पर काफी ध्यान देना चाहिए। कुछ पोषक तत्वों को वापस काटने से शरीर में कोर्टिसोल और एस्ट्रोजन का स्तर बढ़ सकता है जिससे मूड में बदलाव और वजन बढ़ने का खतरा हो सकता है। इसके अलावा बच्चे को स्तनपान कराने वाली महिला की ऊर्जा की जरूरत ज्यादा होती हैं और वे इस दौरान वजन घटाने का अनुभव कर सकती हैं।

शरीर में पानी की पूर्ति न करना (Not drinking enough water)

शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा हर किसी के लिए काफी जरूरी होती है, ऐसे ही स्तनपान कराने वाली मां को भी अपने शरीर में पानी की सही मात्रा को बनाए रखना चाहिए। स्तनपान कराने वाली माताओं के शरीर में ऑक्सीटोसिन की मात्रा अधिक होती है, यही वजह है कि स्तनपान करते समय उन्हें प्यास लगती है। इसलिए शरीर की तरल जरूरतों को पूरा करने और निर्जलीकरण से बचने के लिए आपको पर्याप्त पानी पीना चाहिए। अगर आप पर्याप्त मात्रा में पानी नहीं पिएंगे तो इससे आपके बच्चो को भी निर्जलीकरण का खतरा हो सकता है। 

womens health

इसे भी पढ़ें: यूटेरस का निकलवाना महिलाओं के लिए खतरनाक, कई दिनों तक हो सकती हैं ये समस्याएं

खानपान का कोई समय नहीं  (No Eating time)

बच्चे के पोषण के साथ उसकी मां को भी सभी पोषण की जरूरत होती है, ऐसे में वो अपने खानपान का समय भी नहीं बांध पाती। आपको भोजन का एक समय बांधना चाहिए जिससे कि आप अपने समय पर भोजन कर सकें साथ ही आपको कुछ-कुछ देर में स्नेक्स का सेवन करना चाहिए। इससे आपका वजन बढ़ सकता है और आपकी सेहत पर असर पड़ सकता है। अपने आहार में स्वस्थ पोषक तत्वों को शामिल करें, जैसे: हरी सब्जियां, फल, दलिया खाएं और एक उचित खाने की योजना से बंधे रहने की कोशिश करें। 

इसे भी पढ़ें: बच्चे को ही नहीं बल्कि मां को भी होता है स्तनपान से फायदा, जानें इससे होने वाले फायदे

उच्च वसा वाले खाद्य पदार्थों से परहेज करना(Avoiding high fat foods)

महिलाएं सोचती हैं कि उच्च वसा वाले सभी खाद्य पदार्थ उनके लिए हानिकारक होते हैं। एवोकैडो जैसे मोनोसैचुरेटेड फैट से भरपूर खाद्य पदार्थ स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए काफी अच्छे होते हैं। आपको रोजाना अपने भोजन में इन्हें शामिल करना चाहिए, इससे आपके बच्चे पर भी अच्छा होगा।

Read more articles on Women's Health in Hindi

Disclaimer