नसों में जलन क्यों होती है?, जानें 5 कारण

Naso Mein Jalan Kyon Hoti hai: कई बार नसों में दर्द के साथ ही जलन भी होने लगती है। जानें नसों में जलन होने के कारण-

Anju Rawat
Written by: Anju RawatUpdated at: Oct 10, 2022 16:27 IST
नसों में जलन क्यों होती है?, जानें 5 कारण

Nerve Irritation Causes in Hindi: स्वस्थ रहने के लिए नसों का मजबूत और हेल्दी होना बहुत जरूरी होता है। लेकिन कई बार लोगों को नसों से जुड़ी समस्याओं का सामना करना पड़ता है। इसमें नसों में दर्द होना सबसे आम है। नसों में होने वाला दर्द न सिर्फ व्यक्ति को परेशान करता है, बल्कि उसकी पूरी दिनचर्या तक को प्रभावित कर देता है। नसों में दर्द कई रूपों में हो सकता है, इसमें नसों में जलन, झुनझुनी या पिन चुभना जैसा महसूस हो सकता है। कई बार नसों में जलन आम कारणों की वजह से हो सकता है, लेकिन कुछ मामलों में यह गंभीर बीमारियों की वजह से हो सकता है। ऐसे में आप सोच रहे होंगे कि आखिर नसों में जलन क्यों होती है (Nerve Irritation Causes in Hindi)? या फिर नसों में जलन के कारण क्या होते हैं (Naso me Jalan ke Karan)?

नसों में जलन क्यों होती है?- Nerve Irritation Causes in Hindi

1. नसों में चोट लगना

नसों में चोट लगना नसों में होने वाले जलन का सबसे आम कारण हो सकता है। जब मस्तिष्क, रीढ या फिर नसों में चोट लगती है, तो रक्त प्रवाह बाधित हो जाता है। खराब रक्त प्रवाह की वजह से नसों में जलन महसूस हो सकती है। जब चोट का घाव भरने लगता है, तो स्थिति में फर्क पड़ सकता है। 

2. विटामिन बी12 की कमी

शरीर में विटामिन बी12 का पर्याप्त मात्रा में होना बहुत जरूरी होता है। जब किसी व्यक्ति के शरीर में विटामिन बी12 की कमी होती है, तो इसका असर नर्वस सिस्टम पर पड़ सकता है। विटामिन बी12 की कमी होने पर नसों को नुकसान पहुंच सकता है और नसों में जलन महसूस हो सकती है। ऐसे में अगर आपको नसों में जलन महसूस हो रही है, तो आप विटामिन बी12 की कमी की जांच करवा सकते हैं।

इसे भी पढ़ें- Visible Hand Veins: हाथ की नसें क्यों दिखती हैं? जानें इसके 6 कारण

nerve irritation or pain

3. खराब रक्त प्रवाह

खराब रक्त प्रवाह नसों में होने वाले जलन का एक मुख्य कारण हो सकता है। जब पैरों में रक्त का प्रवाह खराब होने लगता है या फिर रक्त हृदय तक सही तरीके से नहीं पहुंच पाता है, तो नसों में जलन महसूस हो सकती है। इसलिए इस स्थिति में आपको ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर करना बहुत जरूरी होता है। इसके लिए आपको नियमित रूप से एक्सरसाइज का अभ्यास जरूर करना चाहिए।

4. डायबिटीज

डायबिटीज रोगी में ब्लड शुगर का स्तर अधिक हो जाता है। जब किसी व्यक्ति में लंबे समय तक ब्लड शुगर लेवल हाई रहता है और सामान्य नहीं होता है, तो उसकी समस्याएं बढ़ती जाती है। बढ़ा हुआ ब्लड शुगर का स्तर नर्वस सिस्टम को भी प्रभावित कर सकता है। इस स्थिति को डायबिटीक न्यूरोपैथी के रूप में जाना जाता है। डायबिटीज न्यूरोपैथी में रोगी को नसों में तेज जलन और चुभन महसूस हो सकती है।

इसे भी पढ़ें- क्‍या आप भी नसों में होने वाले दर्द से परेशान हैं? जानें इसके कारण, लक्षण और उपचार

5. कार्पल टनल सिंड्रोम

कई बार लोगों को हथेलियों या हाथों की नसों में तेज जलन, झुनझुनी या फिर चुभन महसूस होती है। यह कलाई की किसी नस दब जाने की वजह से हो सकता है। इस स्थिति को कार्पल टनल सिंड्रोम के रूप में परिभाषित किया जाता है। इसमें हाथ और पूरी बांह में तेज दर्द और जलन महसूस हो सकती है। यह समस्या कंप्यूटर आदि पर काम करने वाले लोगों में अधिक देखने को मिल सकती है।

इनके अलावा दाद, एचआईवी, एड्स, मल्टीपल स्क्लेरोसिस आदि के कारण भी नसों में जलन महसूस हो सकती है। साथ ही साइटिका, फाइब्रोमायल्गिया और पेरिफोनल न्यूरोपैथी की  वजह से भी नसों में दर्द हो सकता है। इसलिए अगर आपको भी नसों में दर्द, जलन, झुनझुनी या चुभन सी रहती है तो इन स्थितियों को बिल्कुल भी नजरअंदाज न करें।

Disclaimer