Neck Wrinkle Treatment: उम्र के साथ गर्दन पर पड़ने लगी हैं झुर्रियां, एक्सपर्ट से जानें उपचार का तरीका

क्या आप जानते हैं कि आपके चेहरे की तरह आपकी गर्दन पर भी झुर्रियां आती हैं। एक्सपर्ट से जानें इसे दूर करने का उपाय। 

Jitendra Gupta
Written by: Jitendra GuptaPublished at: Feb 18, 2020
Neck Wrinkle Treatment: उम्र के साथ गर्दन पर पड़ने लगी हैं झुर्रियां, एक्सपर्ट से जानें उपचार का तरीका

रिंकल्स उम्र बढ़ने का एक स्वाभाविक हिस्सा है और यह स्किन के ऐसे हिस्सों पर सबसे प्रमुख है, जो सूरज के संपर्क में है, जैसे कि चेहरा, गर्दन, हाथ और फोरआर्म्स। स्मोकिंग या लंबे समय तक यूवी किरणों के संपर्क में आने जैसे कई और कारक उन्हें बदतर बना सकते हैं। गर्दन की स्किन पतली होती है और हमेशा यूवी किरणों के संपर्क में होती है, जिसके कारण, यह बॉडी के अन्य हिस्सों की तुलना में जल्द ही उम्र बढ़ने के संकेत दिखाता है। डर्मिस, गर्दन के हिस्से की लेयर जिसमें कोलेजन होती है, वह बहुत ज्यादा पतली होती है, जिससे बॉडी के अन्य हिस्सों की तुलना में उम्र बढ़ने पर रिंकल्स होने के चांसेस बहुत ज्यादा होते है। इस लेख में डर्मेटोलॉजिस्ट और एस्थेटिक फिजिशियन, संस्थापक और निदेशक, आईएलएएमईडी (ILAMED) डॉ. अजय राणा आपको गर्दन पर होने वाली झुर्रियों को दूर करने का आसान तरीका बता रहे हैं, तो आईए जानते हैं कैसे दूर करें गर्दन की झुर्रियां।

neck wrinkle

क्यों होती हैं गर्दन पर झुर्रियां

कई टेक्नोलॉजीज हैं जो अब इन गर्दन के रिंकल्स से छुटकारा पाने के लिए उपयोग की जाती हैं। गर्दन की स्किन को कम झुर्रियों वाली और पतली दिखने में मदद करने के लिए फ्रेडेटेड सीओ 2 लेज़र खूबसूरती से काम करती है। रिंकल्स हमारे स्किन पर पतली रेखाएं होती हैं और स्किन के किसी भी हिस्से में बन जाती हैं। कुछ रिंकल्स इतने हार्ड हो जाते हैं और विशेष रूप से आंखों, मुंह और गर्दन के आसपास सबसे ज्यादा नज़र आते हैं। जैसे-जैसे हमारी स्किन पुरानी होती जाती है, यह स्वाभाविक रूप से कम इलास्टिक और अधिक नाजुक हो जाती है। इसके कारण स्किन में नेचुरल ऑयल का उत्पादन कम होने से स्किन ड्राई हो जाती है और अधिक रिंकल्स दिखने लगती है। यूवी रेज़ नेचुरल उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को गति देता है, यह स्किन के शुरुआती रिंकल्स की सबसे बड़ी वजह है। यूवी रेज़ के लगातार संपर्क से कोलेजन और इलास्टिन फाइबर जैसे स्किन के कनेक्टिव टिश्यू जो स्किन की गहरी लेयर में होते हैं, वह टूट जाते हैं।

इसे भी पढ़ेंः चेहरे को साफ और गोरा बनाने के लिए भूलकर भी न लगाएं 'अंडा' और ये 3 चीजें, स्किन हो जाएगी खराब

उम्र के कमजोर हो जाती है स्किन

उम्र के साथ स्किन कमजोर हो जाती है और गर्दन की स्किन पतली और ढीली हो जाती है, और रिंकल्स जमा हो जाती हैं। बॉडी की नेचुरल उम्र बढ़ना और जेनेटिक प्रोब्लेम्स सबसे मुख्य कारण है, जो गर्दन में रिंकल्स की उपस्थिति को तेज करते हैं। गर्दन की स्किन में पतलेपन होते हैं जो सूरज के अन्य एफ्फेक्ट्स और एनवायर्नमेंटल कारणों के प्रति अधिक सेंसिटिव होते हैं जो स्किन को नकारात्मक रूप से प्रभावित करते हैं। कई बुरी आदतें हमारी स्किन पर भी प्रतिकूल प्रभाव डाल सकती हैं। स्मोकिंग स्किन की उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को तेज करता है जो नेचुरल उम्र बढ़ने की प्रक्रिया से पहले रिंकल्स को बढ़ाता है और मौजूदा रिंकल्स को गहरा करता है। यह स्किन को डीहाइड्रेट करता है और जो स्किन सेल्स बॉडी को हेल्दी रखते है, उस सामान्य सेल फार्मेशन को धीमा करता है ।

neck wrinkle treatment

इसलिए कमजोर हो जाती है स्किन

ये आदतें स्किन की न्यूट्रिएंट्स और ऑक्सीजन की सप्लाई को रोकता हैं, जिसके लिए इसे ब्लड वेसल्स की जरुरत होती है और यह ऑक्सीजन सप्लाई को नैरो कर देती है। स्मोकिंग स्किन में विटामिन ए की सप्लाई को रोकता है, जो स्किन की पुरानी स्किन सेल्स को बहा देने और नए सेल्स पैदा करने से रोकता है। दोनों आदतें स्किन की फ्लेक्सीबिलटी और कोलेजन के पैदा होने को नुकसान पहुंचाती हैं, जो पतली और रिंकल्स वाली स्किन के निर्माण में मदद करती हैं, खासकर नैक के हिस्सों में ।

इसे भी पढ़ेंः लड़का हो या लड़की इन 3 फूड के सेवन से बार-बार आ जाते हैं चेहरे पर पिंपल, खाना कर दें कम

नैक रिंकल्स से छुटकारा पाने के लिए कुछ आसान से टिप्स:

अपने चेहरे को साफ करते समय, गर्दन की भी सफाई करें। यह गर्दन की गंदगी, विषाक्त पदार्थों को हटाने में मदद करता है।

साबुन का उपयोग करने से बचें, क्योंकि यह त्वचा के पीएच संतुलन को बदल सकता है। साबुन की बजाय एक सौम्य, क्रीमी क्लीन्ज़र का उपयोग करें।

नैक को सूरज की हानिकारक किरणों से बचाएं और सनस्क्रीन को गर्दन तक लगाएं।

सप्ताह में एक बार अपनी गर्दन को एक्सफोलिएट करने पर काम करें। यह डेड स्किन सेल्स को हटाता है और स्किन को फ्रेश रखता है ।

स्किन को हमेशा हाइड्रेट रखें ताकि रिंकल्स कम दिखाई दें, और यह क्रीज को बनने से रोकने में भी मदद करता है ।

नैक रिंकल्स को कम करने के लिए बोटुलिनम टोक्सिन इंजेक्शंस और एस्थेटिक सर्जेरी का भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

विटामिन सी के साथ रेटिनॉल-आधारित गर्दन क्रीम और सीरम का उपयोग करें। यह एंटीऑक्सिडेंट के रूप में कार्य करते हैं और कोलेजन कारक को बढ़ाते हुए यूवी रेज़ से होने वाले प्रभाव से बचाते हैं।

Read More Articles On Skin Care in Hindi

Disclaimer