प्री-डायबिटीज से बचाव के लिए आजमाएं ये 5 आसान उपाय

Natural Ways To Reverse Pre Diabetes In Hindi: प्री-डायबिटीज से बचाव के लिए आप इन आसान उपायों को अपना सकते हैं।

Priya Mishra
Written by: Priya MishraUpdated at: Dec 07, 2022 16:04 IST
प्री-डायबिटीज से बचाव के लिए आजमाएं ये 5 आसान उपाय

प्री-डायबिटीज एक ऐसी स्थिति है, जिसमें व्यक्ति के ब्लड शुगर का स्तर सामान्य से अधिक होता है। लेकिन इतना नहीं कि टाइप 2 डायबिटीज का इलाज करना पड़े। हालांकि, अगर लंबे समय तक इस पर ध्यान नहीं दिया जाए, तो इससे मरीज टाइप 2 डायबिटीज की चपेट में आ सकता है। प्री-डायबिटीज को बॉर्डरलाइन डायबिटीज भी कहा जाता है। अगर प्री-डायबिटीज के मरीज अपने स्वास्थ्य की पूरी देखभाल करते हैं, तो इससे डायबिटीज के खतरे को टाला जा सकता है। अब सवाल उठता है कि क्या बिना दवाइयों के भी प्री-डायबिटीज को रिवर्स किया जा सकता है? (Can Prediabtes be reversed? जी हां, ऐसा बिल्कुल हो सकता है। प्री-डायबिटीज के मरीज अपने खानपान और जीवनशैली में बदलाव करके ब्लड शुगर स्तर को नियंत्रित कर सकते हैं। आज इस लेख के जरिए हम आपको प्री डायबिटीज से बचाव के कुछ आसान उपाय बताने जा रहे हैं। इन तरीकों को अपनाकर आप प्री डायबिटीज को रिवर्स कर सकते हैं (Natural Ways To Reverse Pre Diabetes)-

1. खानपान में बदलाव करें 

प्रीडायबिटीज के मरीजों को अपने खानपान का खास ध्यान रखना चाहिए। अपनी डाइट में बदलाव करके आप प्री-डायबिटीज की समस्या से छुटकारा पा सकते हैं। प्री डायबिटीज वाले लोगों को अपनी डाइट में फाइबर युक्त फल, सब्जियों और साबुत अनाज को शामिल करना चाहिए। इसके लिए अपनी डाइट में केला, गाजर, पालक, दालें, बाजरा, सत्तू आदि शामिल करें। 

2. एक्सरसाइज करें

प्रीडायबिटीज से बचाव के लिए आपको नियमित व्यायाम करना चाहिए। डायबिटीज के जोखिम को कम करने के लिए आपको रोजाना कम से कम 30 मिनट तक व्यायाम करना चाहिए। इससे न सिर्फ आपको वजन कम करने में मदद मिलेगी, बल्कि ब्लड शुगर स्तर भी नियंत्रित रहेगा। आप रोजाना एरोबिक्स और कार्डियो एक्सरसाइज का अभ्यास कर सकते हैं। 

Prediabetes-Prevention

3. धूम्रपान छोड़ दें

अगर आप धूम्रपान करते हैं, तो यह डायबिटीज का कारण बन सकता है। सीडीसी के मुताबिक, धूम्रपान करने वाले लोगों को डायबिटीज होने का खतरा अन्य लोगों की तुलना में 30-40% ज्यादा होता है। धूम्रपान करने से कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है, जिसके परिणामस्वरूप डायबिटीज का खतरा बढ़ जाता है।  दरअसल, धूम्रपान करने से इंसुलिन की फंक्शनिंग प्रभावित होती है। अगर आप प्रीडायबिटिक हैं, तो ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित करने के लिए धूम्रपान छोड़ दें। 

इसे भी पढ़ें: ब्लड शुगर कंट्रोल करते हैं ये हर्ब्स, जानें डायबिटीज में इस्तेमाल का तरीका

4. शुगर और कार्ब्स से परहेज करें 

अगर आपका ब्लड शुगर स्तर सामान्य से ज्यादा है, तो अधिक शुगर और कार्ब्स से परहेज करें। सफेद ब्रेड, आलू, चीनी और पैकेज्ड फूड जैसे रिफाइंड कार्ब्स से भरपूर खाद्य पदार्थों का सेवन न करें। ज्यादा मात्रा में शुगर या कार्ब्स का सेवन करने से इंसुलिन और ब्लड शुगर का स्तर बढ़ जाता है। यह डायबिटीज का कारण बन सकता है, इसलिए ऐसी चीजों से परहेज करना ही बेहतर है। 

5. वजन कम करें 

मोटापा भी डायबिटीज के खतरे को बढ़ा सकता है। प्री-डायबिटीज से जूझ रहे लोगों को अपना वजन कम करने का प्रयास करना चाहिए। दरअसल, शरीर में अतिरिक्त चर्बी जमा होने से इंसुलिन संवेदनशीलता बढ़ सकती है। इससे डायबिटीज होने की संभावना काफी बढ़ सकती है। ऐसे में, अगर अपना वजन 5 से 10 प्रतिशत तक भी घटा लेते हैँ, तो इससे आपके स्वास्थ्य पर काफी सकारात्मक प्रभाव पड़ सकता है। हालांकि, ध्यान रहे कि धीरे-धीरे और स्वस्थ तरीके से अपना वजन कम करने की कोशिश करें। 

इसे भी पढ़ें: डायब‍िटीज का संकेत हो सकते हैं त्‍वचा में नजर आने वाले ये 5 लक्षण, न करें नजरअंदाज

Natural Ways To Reverse Pre Diabetes In Hindi: इन आसान उपायों को अपनाकर आप प्री-डायबिटीज की समस्या से बच सकते हैं।

Disclaimer