ब्लड शुगर मैनेज करते समय नहीं करनी चाहिए ये 5 गलतियां,अनियंत्रित हो जाता है शुगर लेवल

Tips To Manage Blood Sugar: ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखना बहुत जरूरी है, लेकिन शुगर लेवेल को मैनेज करते समय कुछ गलतियां सेहत को नुकसान पहुंचा सकती हैं

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarPublished at: Jun 13, 2022Updated at: Jun 13, 2022
ब्लड शुगर मैनेज करते समय नहीं करनी चाहिए ये 5 गलतियां,अनियंत्रित हो जाता है शुगर लेवल

सेहतमंद रहने के लिए यह बहुत जरूरी है कि आप अपने ब्लड शुगर लेवल को कंट्रोल में रखें। अगर ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल से बाहर हो जाता है तो इससे कई स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को बढ़ाता है। यह डायबिटीज के जोखिम से जुड़ा हुआ है। साथ ही यह वजन बढ़ने, शरीर में हार्मोन्स के असंतुलन और मेटाबॉलिक सिंड्रोम और कुछ कैंसर के जोखिम से भी जुड़ा हुआ है। आपके शरीर में ब्लड शुगर का अनियंत्रित होना शारीरिक ऊर्जा, मस्तिष्क कार्यों और मूज को प्रभावित करता है। इसलिए यह जरूरी है कि आप ब्लड शुगर को प्रबंधित रखें। लेकिन अक्सर कुछ लोग ब्लड शुगर को मैनेज करते समय कुछ ऐसी गलतियां करते हैं जिससे उनका ब्लड शुगर कंट्रोल रहने के बजाए नियंत्रण से बाहर हो जाता है। जो कि सेहत के लिए बहुत नुकसानदायक है। इस लेख में हम आपको ऐसी 5 गलतियों (Mistakes To Avoid While Trying To Manage Blood Sugar Level In Hindi) के बारे में बता रहे हैं जिन्हें आपको ब्लड शुगर मैनेज करते समय करने से बचना चाहिए।

Tips To Manage Blood Sugar

ब्लड शुगर मैनेज करते समय न करें ये 6 गलतियां, बढ़ सकता है शुगर लेवल (Mistakes To Avoid While Trying To Manage Blood Sugar Level In Hindi)

1. सिर्फ कैलोरी पर ध्यान देना

ब्लड शुगर को मैनेज करने के लिए सबसे ज्यादा कॉमन चीज है कैलोरी का सेवन कम करना। हम में से ज्यादातर लोग इस पर बहुत ध्यान केंद्रित करते हैं। लेकिन यह बिल्कुल भी सही नहीं है, आपको सिर्फ आपके कैलोरी इंटेक पर ही ध्यान देने की आवश्यकता नहीं होती है, बल्कि आपको ब्लड शुगर लेवल को स्थिर रखने के लिए प्रोटीन, फैट और कार्बोहाइड्रेट के संतुलन की आवश्यकता होती है। क्योंकि जब आप अनाज, बीन्स, फल, स्टार्च वाली सब्जियां, लैक्टोज, आदि जैसे स्रोत से कार्बोहाइड्रेट प्राप्त करते हैं, तो वे ग्लूकोज में जल्दी टूट जाते हैं। लेकिन जब आप फैट और प्रोटीन का भी साथ में सेवन करते हैं तो कार्ब्स जल्दी नहीं टूटते हैं और ब्लड शुगर स्थिर रहता है। कॉम्प्लेक्स कार्ब्स ब्लड शुगर को मैनेज करने में भी मददगार होते हैं। ऐसे में कोशिश करें कि कैलोरी पर ध्यान केंद्रित करने की बजाय अन्य चीजों का भी सेवन करें।

इसे भी पढें: डायबिटीज का पता चलने के बाद डाइट में करें ये 10 बदलाव, कंट्रोल रहेगा ब्लड शुगर

2. फूड्स में छिपी चीनी के स्रोतों की अनदेखी करना

बहुत से फूड जिनका आप सेवन करते हैं उनमें चीनी होती है। दही, पैकेज्ड सूप, फ्रीज्ड फूड्स और कई अन्य फूड्स में चीनी मौजूद होती है। हम में से ज्यादातर लोग उनमें मौजूद चीनी के स्रोत को देखे बिनी ही इन फूड्स का सेवन कर लेते हैं। ब्लड शुगर को मैनेज करते समय यह जरूरी है कि आप फूड्स पर लगे लेबल को ध्यानपूर्वक पढ़ें और उनमें मौजूद पोषण और सामग्री की जांच करें। उनमें मौजूद चीनी की अनदेखी बिल्कुल न करें, क्योंकि भले उनमें कैलोरी कम की मात्रा कम हो सकती है कम ग्लाइसेमिक इंडेक्स में कम हो सकते हैं, लेकिन वे अभी भी आपके ब्लड शुगर लेवल पर एक व्यवहारिक प्रभाव डाल सकते हैं। जिससे आप और अधिक मीठा खाना चाह सकते हैं, आर्टिफिशियल स्वीटनर्स भी यही काम करते हैं।

Tips To Manage Blood Sugar

4. फाइबर युक्त आहार नहीं लेना

हमारे शरीर की दैनिक आवश्यकता के अनुसार 25 से 35 ग्राम फाइबर प्राप्त करना बहुत जरूरी है। फाइबर का सेवन आपके पेट के लिए बहुत जरूरी है, यह आपके पाचन और मेटाबॉलिज्म को मजबूत बनाने में मदद करता है, जिससे शरीर में हार्मोन्स का संतुलन बना रहता है। साथ ही फाइबर शरीर में शुगर के अवशोषण की प्रक्रिया को धीमा करने में सहायक है और ब्लड शुगर को रेगुलेट करने में मदद करता है। इसलिए संतुलित और फाइबर युक्त आहार का सेवन करें। कोशिश करें कि अपनी डाइट में साबुत अनाज, नट्स, बीज, बीन्स, मटर, दाल, फल और सब्जियां जरूर शामिल करें। कोशिश करें कि अपनी हर एक मील में एक हाई फाइबर वाला फूड् जरूर शामिल करें।

5. एक्सरसाइज न करना

एक्सरसाइज करना आपके संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है। एक्सरसाइज करने से ब्लड शुगर को कंट्रोल रखने के साथ ही कई अन्य लाभ मिलते हैं। जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो इससे मांसपेशियों की कोशिकाओं में चीनी को स्थानांतरित करके इंसुलिन संवेदनशीलता को बढ़ाने में मदद मिलती है। साथ ही जब आप एक्सरसाइज करते हैं तो इस दौरान मांसपेशियां सिकुड़ती हैं। इससे कोशिकाएं ग्लूकोज को प्राप्त करने और उसका ऊर्जा में प्रयोग करने में सक्षम होती हैं। साथ ही इससे वजन भी नियंत्रित में रहता है और शरीर में हार्मोन्स का संतुलन भी बना रहता है। इसलिए एक्सरसाइज करना बहुत जरूरी है।

यह भा देखें: 

6. तनाव का प्रबंधन नहीं करना

अक्सर यह देखा जाता है कि शरीर में ब्लड शुगर का अधिक स्तर तनाव के कारण होता है। इस स्थिति को नेबेसियो कहते हैं। इस स्थिति में तनाव हार्मोन कोर्टिसोल का स्तर बढ़ता है जिससे ब्लड शुगर लेवल में वृद्धि होती है। ब्लड शुगर लेवल को नियंत्रित रखने के लिए शरीर में हार्मोन्स के संतुलन को बनाए रखना और तनाव को मैनेज करना बहुत जरूरी है।

All Image Source: Freepik.com

Disclaimer