Doctor Verified

माइग्रेन में सिरदर्द क्यों होता है? डॉक्टर से समझें इस बीमारी के कारण और लक्षण

Migraine Causes: माइग्रेन की समस्या होने पर व्यक्ति को सिर के एक तरफ या आधे सिर में गंभीर दर्द हो सकता है, जानें माइग्रेन क्यों होता है? साथ ही कारण।

Vineet Kumar
Written by: Vineet KumarUpdated at: Oct 19, 2022 12:20 IST
माइग्रेन में सिरदर्द क्यों होता है? डॉक्टर से समझें इस बीमारी के कारण और लक्षण

Migraine Causes In Hindi: माइग्रेन सिरदर्द का एक गंभीर और दर्दनाक प्रकार है। इसमें व्यक्ति के सिर के एक तरफ या आधे हिस्से में दर्द की समस्या देखने को मिलती है। इसलिए इसे आधासीसी दर्द कहा जाता है। माइग्रेन में आपको सिर में कुछ फड़कने या धधकने जैसी अनुभूति के साथ सिरदर्द गंभीर सिरदर्द होता है। यह आमतौर पर मतली, उल्टी आने,  बहुत अधिक रोशनी या शोर-शराबा होने पर देखने मिलता है। जब इस तरह की स्थितियों की वजह से सिर में अचानक दर्द होता है, तो इस स्थिति को माइग्रेन अटैक कहा जाता है। यह यह अटैक आपको कुछ दिनों से लेकर कई हफ्तों या महीनों तक परेशान कर सकता है और इसके कारण गंभीर दर्द हो सकता है। जिसके कारण दैनिक कार्यों और गतिविधियों कर पाना भी मुश्किल हो जाता है। लेकिन क्या आपने कभी यह सोचा है कि माइग्रेन क्यों होता है? या माइग्रेन के क्या कारण होते हैं?

ओनलीमायहेल्थ (OnlymyHealth) की स्पेशल सीरीज 'बीमारी को समझें' में हम डॉक्टर से बातचीत करके आपको आसान भाषा में किसी बीमारी और उसके कारणों के बारे में समझाते हैं। माइग्रेन क्यों होता है (Migraine kyon hota) और इसके कारणों के बारे में जानने के लिए हमने अहमदाबाद के न्यूरोसाइंटिस्ट डॉक्टर अभिजीत सतानी से बात की। आइए विस्तार से जानते हैं माइग्रेन के कारण (Migraine ke karan) और क्यों होता है।

Migraine kyon hota

माइग्रेन के कारण- Causes Of Migraine 

डॉ. अभिजीत सतानी के अनुसार माइग्रेन के सटीक कारण का अभी ज्ञात नहीं है।  माइग्रेन को आमतौर पर आनुवंशिकी और पर्यावरणीय कारकों से ट्रिगर होने वाला रोग माना जाता है। यह मस्तिष्क के रसायनों का असंतुलन के कारण भी हो सकता है, खासकर सेरोटोनिन हार्मोन के। क्योंकि यह आपकी तंत्रिका तंत्र में दर्द को कंट्रोल करने में मदद करता है। हालांकि, माइग्रेन में सेरोटोनिन की भूमिका पर अभी अध्ययन किए जा रहे हैं। इसके अलावा अन्य न्यूरोट्रांसमीटर माइग्रेन सिरदर्द में भी योगदान देते हैं या भूमिका निभाते हैं, जिसमें कैल्सीटोनिन और जीन से जुड़े पेप्टाइड को शामिल किया जाता सकता है। इसके अलावा ऐसे कारक हैं, जो माइग्रेन को ट्रिगर करते हैं, जिनमें शामिल हैं....

  • अनहेल्दी ड्रिंक्स: कैफीन युक्त ड्रिंक्स जैसे चाय-कॉफी, सोडा, साथ ही शराब का सेवन।
  • मानसिक स्थितियां: चिंता, तनाव और अवसाद जैसी समस्याएं, इसका एक बड़ा कारण हैं।
  • हार्मोनल असुंतुल: यह महिलाओं में अधिक होता है, पीरियड्स से पहले और दौरान, गर्भावस्था, मेनोपॉज के दौरान हार्मोन में परिवर्तन के कारण कई महिलाएं सिरदर्द का सामना करती हैं।
  • गंध: धूम्रपान, पेंट, परफ्यूम, थिनर आदि की गंध से माइग्रेन सिरदर्द हो सकता है।
  • दवाएं: गर्भनिरोधक या हार्मोनल दवाएं सिरदर्द को बदतर बना सकती हैं।
  • सेंसरी स्टिमुलेशन: तेज आवाज, चमकती रोशनी और शोर-शराबा भी सिरदर्द को ट्रिगर करता है।
  • खराब नींद: नींद की कमी या खराब गुणवत्ता वाली नींद के कारण सिरदर्द की समस्या हो सकती है।
  • फूड्स: जंक, प्रोसेस्ड, पैकेट बंद, नमकीन और मीठे खाद्य पदार्थों का अधिक सेवन भी माइग्रेन को ट्रिगर कर सकता है।

डॉक्टर के पास कब जाएं?

अगर आपको पिछले कुछ दिनों से लगातार सिरदर्द हो रहा है और यह माइग्रेन है सामान्य सिरदर्द, इसका पता आप माइग्रेन के संकेत और लक्षणों को पहचानकर लगा सकते हैं। माइग्रेन सिरदर्द होने पर कई लक्षण देखने को मिलते हैं जैसे: 

माइग्रेन के लक्षण- Migraine Symptoms

  • सिर में कुछ फड़कने जैसी सिरदर्द का अनुभव
  • शारीरिक गतिविधि, या मेहनत करने के बाद सिरदर्द का बढ़ना
  • सिर के दोनों तरफ सामान्य या तेज दर्द होना
  • मतली और उल्टी की समस्या
  • शोर और रोशनी में चिड़चिड़ापन
  • खराब पाचन की समस्या
  • कुछ लोगों में लो ब्लड प्रेशर

माइग्रेन के इन संकेत और लक्षणों को पहचानकर आप माइग्रेन को पहचान सकते हैं। ऐसे में आप डॉक्टर से परामर्श करके समय रहते उपचार प्राप्त कर सकते हैं और माइग्रेन से छुटकारा पा सकते हैं।

(With Inputs: Neuroscientist Abhijeet Satani - Ahmedabad)

All Image Source: Freepik

Disclaimer