60 से ज्यादा उम्र वाले लोगों को बढ़ते प्रदूषण से होता है ज्यादा खतरा, जानें कैसे करना चाहिए अपना बचाव

अगर आपकी उम्र भी 60 साल से ज्यादा है तो आपको इस बढ़ते प्रदूषण से अपना बचाव करना जरूरी है, जानें कैसे आपको रहना चाहिए इस दौरान स्वस्थ।

Vishal Singh
Written by: Vishal SinghUpdated at: Nov 21, 2020 11:12 IST
60 से ज्यादा उम्र वाले लोगों को बढ़ते प्रदूषण से होता है ज्यादा खतरा, जानें कैसे करना चाहिए अपना बचाव

3rd Edition of HealthCare Heroes Awards 2023

बढ़ती सर्दी के दौरान सिर्फ हमे ठंड से ही नहीं बचना बल्कि इस बीच बढ़ते प्रदूषण से भी अपना बचाव करना जरूरी है। बढ़ते प्रदूषण का सबसे ज्यादा बुरा प्रभाव बुजुर्गों या 60 से ज्यादा उम्र वालों को ही पड़ता है। जिसके कारण उन्हें सांस लेने में ज्यादा परेशानी होती है, खांसी, जुकाम जैसी समस्याएं होती है और जिन्हें पहले से ही कोई स्वास्थ्य समस्याएं होती है उन्हें प्रदूषण से ज्यादा परेशान होना पड़ता है। ये न सिर्फ बुजु्र्गों के साथ होता है बल्कि ये बच्चे या बड़े हर किसी को इससे परेशान होना पड़ता है। लेकिन ये सच है कि 60 साल से ज्यादा उम्र वाले लोगों को प्रदूषण से नुकसान का ज्यादा खतरा होता है। 

इसके लिए जरूरी है कि बुजुर्गों को बढ़ते प्रदूषण के बीच अपना बचाव करना चाहिए जिसकी मदद से उन्हें किसी भी स्वास्थ्य समस्याओं का सामना न करना पड़े। प्रदूषण से बचाव करने के लिए ही OnlyMyHealth एक अभियान चला रही है जिसके जरिए हमारी कोशिश है कि लोगों को ज्यादा से ज्यादा प्रदूषण से बचाव के लिए जागरूक करें और सही जानकारी दें। तो आइए इस लेख के जरिए ही हम आपको बताने की कोशिश करते हैं कि 60 साल से ज्यादा उम्र के लोगों को कैसे प्रदूषण से अपना बचवा करना चाहिए। 

POLLUTION

कम से कम बाहर जाएं

बढ़ते प्रदूषण के बीच आपके लिए बाहर जाना काफी नुकसानदायक हो सकता है। जब आप बाहर जाते हैं तो इस दौरान प्रदूषक तत्व आपके शरीर में सांस के जरिए चले जाते हैं जो आपके श्वांस नली या फेफड़ों में जाकर आपको बीमार बना सकते हैं। इसलिए आपको कोशिश करनी चाहिए कि बढ़ते प्रदूषण के दौरान आपको बाहर कम से कम जाना चाहिए। हालांकि सर्दियों में लोग धूप सेंकने की चाहत रखते हैं, तो आप भी धूप सेंक सकते हैं। लेकिन आपको ध्यान रखना होगा कि आप उस समय ही बाहर धूप सेंकने जाएं जब प्रदूषण का स्तर कम हो। 

इसे भी पढ़ें: फेफड़ों से वायु प्रदूषण को कैसे करें साफ: जानें ये 3 प्राकृतिक उपाय

घर के अंदर की हवा को साफ करें

सर्दियों के दौरान जब बाहर प्रदूषण का स्तर बढ़ता है तो यही आपके घर के अंदर भी होता है। आपके घर के अंदर भी प्रदूषण होता है जो आपको बीमार बना सकता है, जिसे 'इनडोर पॉल्यूशन' कहा जाता है। इसलिए जरूरी है कि आप घर के अंदर होने वाले प्रदूषक तत्व को भी खत्म करें और घर को प्रदूषण-मुक्त बनाए रखें। इसके लिए आप घर के दरवाजे और खिड़कियां कुछ देर के लिए जरूर खोलें, नियमित रूप से गीला पोछा मारें, धूम्रपान न करें और जमी हुई धूल-मिट्टी को साफ करें। 

मास्क के बिना बाहर न जाएं

मास्क आपके लिए इस दौरान कई तरह से जरूरी है, हाल ही में चल रहे कोरोना वायरस के प्रकोप से बचाव के लिए मास्क हर किसी के लिए जरूरी हो गया है। ऐसे ही प्रदूषण से बचाव के लिए भी आप मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप जब भी बाहर जाएं तो कोशिश करें कि मास्क जरूर पहनें, ऐसा करने से आपके शरीर में प्रदूषक तत्व जाने में असक्षम हो सकेंगे और खुद को स्वस्थ रख सकेंगे। 

इसे भी पढ़ें: मौसम बदलने और प्रदूषण के कारण आप भी गले की समस्या से परेशान है, तो अपनाए ये टिप्स

घर पर ही एक्सरसाइज करें

अक्सर लोग जब एक्सरसाइज करने या टहलने के लिए जाते हैं तो सुबह या शाम के वक्त ही जाते हैं। जबकि इन दोनों ही समय प्रदूषण का स्तर बेहद खराब होता है जिसके कारण बुजुर्गों को ज्यादा समस्सयाओं का सामना करना पड़ सकता है। इसलिए जब तक प्रदूषण का खतरा रहता है आप बाहर जाने के बजाए घर पर ही एक्सरसाइज करें। आप नियमित रूप से घर पर एक्सरसाइज कर खुद को ज्यादा एक्टिव और फिट रख सकते हैं। जिसकी मदद से आप प्रदूषण के नुकसान से भी अपना बचाव कर सकते हैं।

Read More Articles On Miscellaneous In Hindi

Disclaimer