सरकार ने लगाई पोलियो टीकाकरण पर रोक और स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई वैक्सीन की सटीक कीमत

देश में जहां कोरोना वैक्सीन का टीकाकरण शुरू होने वाला है वहीं दूसरी तरफ पोलियो के टीकाकरण अभियान को अस्थाई रोका गया है। पढ़ें संबंधित जानकारी...

Garima Garg
Written by: Garima GargPublished at: Jan 14, 2021Updated at: Jan 14, 2021
सरकार ने लगाई पोलियो टीकाकरण पर रोक और स्वास्थ्य मंत्रालय ने बताई वैक्सीन की सटीक कीमत

जब से कोरोना वायरस के खिलाफ बने टीके को सरकार ने मंजूरी दी है तब से देश में एक उम्मीद की लहर दौड़ गई है। बता दें कि टीकाकरण का पहला अभियान 16 जनवरी से शुरू होने जा रहा है। इसी बीच केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय ने वैक्सीनेशन को लेकर फिर एक जानकारी साझा की है। उनके अनुसार देश में यह टीकाकरण अभियान 1 साल या उससे अधिक समय ले सकता है। केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने मंगलवार को जानकारी दी कि इस पूरे अभियान को सफल बनाने के लिए पांच प्रमुख प्रिंसिपल्स हैं, जिनका पालन किया जाए तो वह 1 साल से अधिक समय ले सकता है।

दूसरी तरफ एक खबर ये भी मिल रही है कि सरकार ने पोलियो टीकाकरण पर अस्थाई रोक लगा दी है। यह टीकाकरण 17 जनवरी से देशभर में शुरू होने जा रहा था। कार्यक्रम का नाम राष्ट्रीय पोलियो टीकाकरण था। लेकिन अब केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा राज्यों में केंद्र शासित प्रदेशों को इस कार्यक्रम में रोक लगाने आदेश दिया गया है।

क्यों लगी पोलियों के टीकाकरण पर रोक?

वरिष्ठ अधिकारी ने जानकारी दी कि देश में 13 जनवरी 2011 के बाद से पोलियो का कोई केस सामने नहीं आया है। क्योंकि 16 जनवरी कोरोना का टीकाकरण अभियान शुरू हो रहा है ऐसे में उन्होंने कहा है कि पोलियो के टीकाकरण को फिलहाल रोका जाना ही अच्छा है। एक बार सफल तरीके से कोरोनावायरस टीका सभी स्वास्थ्य कर्मियों को लग जाएगा। उसके बाद फिर से पोलियो टीकाकरण शुरू कर देंगे।

बता दें कि पूर्व राष्ट्रीय टीकाकरण दिवस जो कि 17 जनवरी से शुरू होने वाला था, उसे अगले नोटिस तक स्थगित कर दिया है। इसके लिए केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने एक पत्र जारी किया जो केंद्रीय शासित प्रदेश और राज्य को भेजा गया।

इसे भी पढ़ें- आने वाले महीनों में इन 4 वैक्सीन को मिल सकती है मंजूरी, जानें इनके बारे में

फाइजर की वैक्सीन

स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजीव भूषण ने मंगलवार में हुई कॉन्फ्रेंस में जानकारी दी कि अनेक देशों में फाइजर की वैक्सीन को आपातकालीन स्थिति में इस्तेमाल करने की अनुमति मिल गई है। ऐसे में फाइजर और बायोएनटेक की वैक्सीन के एक डोज का दाम 1431 रुपये रखा गया है। वही मॉडर्ना की वैक्सीन 2300 से 2700 रुपए के आस-पास कीमत निर्धारित की गई है।

स्वदेशी वैक्सीन की कीमत

भारत सरकार ने इंस्टीट्यूट से टीके के 110 लाख डोज ऑर्डर किए हैं। इनकी कीमत टैक्स को न मिलाकर 200 रुपये प्रति डोज निर्धारित की गई है। वहीं अगर भारत बायोटेक की कोवैक्सीन की बात करें तो इसके सरकार ने 38 लाख डोज ऑर्डर किए हैं। बता दें कि भारत सरकार को इनमें से 12 लाख डोज मुफ्त मिल रहे हैं। ऐसे में वैक्सीन की औसत कीमत टैक्स छोड़कर 206 रुपये प्रति डोज तय की गई है।

इसे भी पढ़ें- क्या होगी वैक्सीन की कीमत? बर्ड फ्लू पर क्या कहा मोदी ने? जानें मुख्यमंत्रियों के साथ चर्चा में क्या बोले पीएम

वैक्सीन का नाम                                       कीमत

फाइजर और बायोएनटेक की वैक्सीन की -         1431 रुपये प्रति डोज

मॉडर्ना की वैक्सीन की संभावित कीमत-             2348 से 2715 रुपये प्रति डोज

कोविशील्ड वैक्सीन की -                             200 रुपये प्रति खुराक 

कोवैक्सीन -                                           206 रुपये प्रति डोज

नोट- बता दें कि देश में कोविशील्ड वैक्सीन की कीमत प्रति डोज 200 रुपये है। पर ये तय की गई कीमत केवल सरकार के लिए रखी गई है मतलब भारत सरकार इन कीमतों पर कंपनी से टीके की खुराक खरीद रही है।

Read More Articles on health News in hindi

Disclaimer