किन कारणों से होती है फूड एलर्जी (Food Allergy)? जानें क्या है इसके मुख्य लक्षण और बचाव

प्रतिरक्षा प्रणाली की असामान्य प्रतिक्रिया के कारण फूड एलर्जी होती है, जानें क्या है इसके मुख्य कारण, लक्षण और बचाव के तरीके।

Vishal Singh
अन्य़ बीमारियांWritten by: Vishal SinghPublished at: Nov 21, 2020
किन कारणों से होती है फूड एलर्जी (Food Allergy)? जानें क्या है इसके मुख्य लक्षण और बचाव

फूड एलर्जी (Food Allergy) किसी को भी आसानी से हो सकती है, जिसके कारण मरीज गंभीर स्थिति में भी जा सकता है। ये एलर्जी तब होती है जब आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली गलत या असामान्य प्रतिक्रिया करना शुरू करता है। इस दौरान आपको कुछ हल्के और गंभीर लक्षण भी नजर आ सकते हैं जिसके कारण आप खुद को बीमार महसूस कर सकते हैं। मरीज को आम समस्याएं जैसे पेट दर्द, उल्टी, पेट खराब होना, सूजन और ब्लड प्रेशर का कम होना। ये स्थिति कई लोगों को कुछ घंटे भी रह सकती है और कुछ लोगों को ये लंबे समय के लिए भी बीमार कर सकती है। फूड एलर्जी की ये समस्या जरूरी नहीं कि किसी एक भोजन या एक डाइट प्लान से हो बल्कि ये कई तरह के भोजन से हो सकता है। लेकिन इस स्थिति के पीछे लोगों में अलग-अलग कारण हो सकते हैं। इसलिए हमे इसके इलाज से पहले ये जानना जरूरी है कि फूड एलर्जी किन कारणों से होती है और इसके मुख्य लक्षण क्या हैं। आइए हम आपको इस लेख के जरिए ये बताने की कोशिश करते हैं कि फूड एलर्जी के कारण क्या है, लक्षण क्या है और इससे बचाव का क्या तरीका है। 

food allergy

फूड एलर्जी के कारण क्या है

जैसा कि हमने आपको पहले ही बताया कि फूड एलर्जी के पीछे किसी भी तरह का भोजन हो सकता है जिसके कारण ापके शरीर में नकारात्मक प्रतिक्रियाएं हो सकती है। आपको बता दें कि खाद्य पदार्थों में 90 प्रतिशत से ज्यादा खाद्य एलर्जी प्रोटीन के कारण होती है। जैसे:

मूंगफली (Peanuts)

मूंगफली हमारे स्वास्थ्य के लिए अच्छी होती है लेकिन कई मामलों में ये हमारी सेहत को नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे ही ये मूंगफली के ज्यादा सेवन के कारण आपको फूड एलर्जी का शिकार होना पड़ सकता है। इसलिए अगर आप मूंगफली से होने वाली फूड एलर्जी से दूर रहना चाहते हैं तो इसका सेवन कम से कम करें।

गाय का दूध (Cow’s Milk)

दूध जरूरी नहीं कि हर किसी के लिए फायदेमंद हो, ये कई लोगों को पचाने में काफी मुश्किल पैदा करता है। दूध में मौजूद प्रोटीन में कैसिइन और मट्ठा के कारण एलर्जी हो सकती है। आपको बता दें कि गाय के दूध से आमतौर पर शिशु और कम उम्र के बच्चों में एलर्जी देखी जाती है। जब वे गाय के दूध के प्रोटीन को पचाने में असमर्थ होते हैं। अगर आपके बच्चे को भी गाय के दूध से एलर्जी है तो आप जबरदस्ती बच्चे को पिलाने से  बचें और डॉक्टर से संपर्क करें। 

food allergy

मछली (Fish)

मछली हमारे स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है, ये हमे लंबे समय तक स्वस्थ रखने का काम करती है। लेकिन कई लोगों में ये फूड एलर्जी का कारण बनती है। कुछ मछलियों के कारण वयस्कों में फूड एलर्जी का ज्यादा खतरा होता है। अगर आपके साथ ऐसा है तो आप मछलियों का सेवन न करें। 

इसे भी पढ़ें: दवाओं से होने वाली एलर्जी के बारे में जानते हैं आप? ये हैं दवा की एलर्जी के कारण शरीर पर दिखने वाले आम संकेत

अंडा (Eggs)

अंडों का सेवन करने से बच्चों में सबसे ज्यादा एलर्जी देखी जाती है, बच्चों को अंडे को पचाने में परेशानी हो सकती है। जिसके कारण उन्हें पेट दर्द, त्वचा का खराब होना या सांस संबंधित समस्याएं हो सकती है। ऐसा इसलिए होता है क्योंकि अंडे में भी प्रोटीन की मात्रा काफी होती है जिसे पचाने में बच्चे असक्षम होते हैं। 

सोया (Soy)

सोयाबीन लोग बहुत पसंद किया करते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं इससे आपको फूड एलर्जी का भी खतरा रहता है। सोयाबीन में मौजूद प्रोटीन हर किसी के लिए पचाना आसान नहीं होता। 

फूड एलर्जी के लक्षण 

  • पेट में दर्द।
  • शरीर में सूजन
  • उल्टी और दस्त।
  • खांसी-जुकाम।
  • सांस लेने में परेशानी होना। 
  • त्वचा का लाल हो जाना और खुजली।
  • होंठ और मुंह में जलन पैदा होना।

इसे भी पढ़ें: अगर आप भी खाते हैं जरूरत से ज्यादा मीठा तो हो सकता है सेहत के साथ आपकी त्वचा को भी नुकसान

देखभाल कैसे करें

  • जिस भी चीज से आपको या आपके बच्चे को एलर्जी हो रही हो सबसे पहले आप उसका सेवन बंद करें। 
  • खाने के लिए कुछ भी खरीदने से पहले उसपर लगे लेबल को जरूर पढ़ें।
  • डॉक्टर से डाइट प्लान के बारे में सलाह लें। 
  • ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें।
  • बहुत ज्यादा तबीयत बिगड़ने पर बिना देरी के डॉक्टर से संपर्क करें।
  • त्वचा पर हुई एलर्जी के लिए कुछ भी लगाने से पहले डॉक्टर से जरूर बात करें। 

इस लेख में फूड एलर्जी के कारण, लक्षण और देखभाल के बारे में जानकारी दी गई है। अगर आप फूड एलर्जी के किसी भी लक्षण को देखते हैं तो आप अपने डॉक्टर से इस बारे में तुरंत बात करें। 

Read More Article On Other Health Diseases In Hindi

Disclaimer