कर्नाटक में सामने आया जीका वायरस का पहला मामला, जानें कैसे करें अपना बचाव

Zika Virus in Hindi: कर्नाटक में जीका वायरस संक्रमण के पहले मामले की पुष्टि हुई है, जानें क्या है यह संक्रमण और कैसे करें अपना बचाव?

 
Prins Bahadur Singh
Written by: Prins Bahadur SinghUpdated at: Dec 13, 2022 16:26 IST
कर्नाटक में सामने आया जीका वायरस का पहला मामला, जानें कैसे करें अपना बचाव

Zika Virus in Hindi: कोरोना वायरस महामारी के खत्म होने से पहले ही देश में एक और नए वायरस के दस्तक से हड़कंप मच गया है। कर्नाटक के रायचूर जिले में 5 साल की बच्ची जीका वायरस से संक्रमित पायी गयी है। संक्रमण की पुष्टि होने के बाद कर्नाटक राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के सुधाकर ने मीडिया को यह जानकारी दी। उन्होंने कहा है कि राज्य में स्वास्थ्य विभाग को अलर्ट पर रहने के लिए कहा गया है। आपको बता दें कि कर्नाटक राज्य में यह जीका वायरस संक्रमण का पहला मामला है। जीका वायरस दरअसल एडीज प्रजाति के मच्छरों के काटने से फैलता है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में कहा गया है कि सबसे पहले जीका वायरस के मामले साल 1947 में युगांडा में पाए गए थे। जीका वायरस संक्रमण की वजह से मरीज को तेज बुखार, हड्डियों और जोड़ों में दर्द, तेज सिरदर्द और मांसपेशियों में दर्द की समस्या होती है।

5 साल की बच्ची जीका वायरस से संक्रमित- Zika Virsu First Case in Karnataka

कर्नाटक राज्य में जीका वायरस के पहले मामले की पुष्टि हुई है। राज्य के स्वास्थ्य मंत्री के. सुधाकर के मुताबिक कर्नाटक राज्य के रायचूर जिले में एक 5 साल की बच्ची में इस संक्रमण की पुष्टि हुई है। पुणे की लैब में जांच के बाद संक्रमण की पुष्टि होने के बाद राज्य सरकार ने एहतियाती कदम उठाने का आदेश दिया है। राज्य सरकार की तरफ से कहा गया है कि जल्द ही इस संक्रमण को कंट्रोल करने के लिए एक गाइडलाइन बनाई जाएगी और इस स्थिति से निपटने के लिए प्रभावी कदम उठाए जा रहे हैं। 

Zika Virus in Hindi

इसे भी पढ़ें: गर्भ में पल रहे शिशु को कैसे प्रभावित करता है जीका वायरस, जानें डॉक्टर से

जीका वायरस क्या है?- What is Zika Virus in Hindi

जीका वायरस दरअसल एक तरह की वेक्टर बोर्न डिजीज है। यह संक्रमण एडीज मच्छरों के काटने की वजह से फैलता है। डेंगू और चिकनगुनिया जैसी गंभीर बीमारियां भी इन्हीं मच्छरों के काटने से फैलती हैं। जीका वायरस संक्रमण होने पर गर्भवती महिलाओं को बहुत ज्यादा खतरा रहता है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक जीका वायरस संक्रमण फैलाने वाले मच्छर ज्यादातर दिन के समय में काटते हैं। कर्नाटक में जीका वायरस का पहला मामला सामने आने के बाद राज्य सरकार अलर्ट पर है और जल्द ही इसे कंट्रोल करने के लिए गाइडलाइन जारी की जाएगी। 

जीका वायरस के लक्षण- Zika Virus Symptoms in Hindi

भारत में जीका वायरस का पहला मामला साल 2017 में गुजरात में पाया गया था। इसके बाद देश के कई राज्यों जैसे केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र आदि में जीका वायरस के मामले सामने आए थे। जीका वायरस संक्रमण में मरीज को गंभीर बुखार और सिरदर्द जैसी समस्याएं होती हैं। जीका वायरस संक्रमण के कुछ प्रमुख लक्षण इस तरह से हैं- 

  • तेज बुखार 
  • शरीर में रैशेज
  • मांसपेशियों में दर्द
  • जोड़ों और हड्डियों में दर्द
  • तेज सिरदर्द
  • कमजोरी और थकान

जीका वायरस संक्रमण से बचाव कैसे करें?- How To Prevent Zika Virus Infection in Hindi

जीका वायरस एडीज मच्छरों के काटने से फैलने वाला एक संक्रमण है। इस गंभीर समस्या में साफ-सफाई और हेल्दी डाइट लेना बहुत फायदेमंद माना जाता है। आमतौर पर जीका वायरस का संक्रमण हफ्ते भर रहता है। इसके लक्षण दिखने पर आपको तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए। डॉक्टर खून और पेशाब की जांच के माध्यम से संक्रमण का पता करते हैं और फिर मरीज की स्थिति के आधार पर उसका इलाज किया जाता है।

इसे भी पढ़ें: Disease-X: इस बीमारी ने उड़ाई WHO की नींद, निगरानी के लिए बनाई 300 वैज्ञानिकों की टीम

जीका वायरस संक्रमण से बचने के लिए आपको अपने घर, ऑफिस आदि के आसपास मच्छरों को फैलने से रोकना चाहिए। आसपास साफ-सफाई और पानी नहीं जमा होने देना चाहिए। शाम के समय बाहर निकलते समय पूरी बांह के कपडे पहनने चाहिए। इसके अलावा असुरक्षित यौन संबंध बनाने से बचना चाहिए। संक्रमित व्यक्ति को हेल्दी डाइट का पालन करना चाहिए और इस दौरान खूब लिक्विड डाइट लेनी चाहिए।

(Image Courtesy: Freepik.com)

Disclaimer